डायबिटीज के घरेलु नुस्खे – Diabetes ke gharelu nuskhe

डायबिटीज के घरेलु नुस्खे अपनाकर जरूर देखने चाहिए। डायबिटीज बहुत आम समस्या हो गई है। इसके बहुत से कारण होते हैं। डायबिटीज

होने से शरीर में कई प्रकार की परेशानी होने लगती है। डायबिटीज के कारण , लक्षण , यह कितने प्रकार की होती है तथा लीवर , पेन्क्रियास

और इन्सुलिन से यह किस प्रकार प्रभावित होती है यह सब जानने के लिए यहाँ क्लीक करें

 

डायबिटीज में सिर्फ दवा से फायदा नहीं होता। इसके लिए अन्य प्रयास भी जरुरी होते हैं। कुछ घरेलु नुस्खों से भी इसमें लाभ होता है। इन्हे

आजमा कर देख सकते है। डायबिटीज के घरेलु नुस्खे और उपाय इस प्रकार हैं –

 

डायबिटीज के लिए घरेलु नुस्खे – Gharelu Nuskhe For Diabetes

 

—  रोजाना लगभग 4-5 किलोमीटर पैदल ( Walk ) चलना चाहिए। पैदल चलने से शरीर को बहुत तरह के फायदे मिलते है। पाचन क्रिया

सही रहती है , मेटाबोलिज्म सुधरता है , पसीना आने से कुछ मात्र शर्करा की भी पसीने के साथ निकल जाती है। ह्रदय के लिए अच्छा है।

 

—  योगासन , प्राणायाम आदि सीख कर इनका रोजाना अभ्यास करना चाहिए। डायबिटीज में मंडूक आसन बहुत लाभदायक होता है। इसका

नियमित अभ्यास सही तरीके से करने से डायबिटीज ठीक हो जाती है।

 

—  आंवला डायबिटीज में लाभदायक होता है। आंवले का रस ( Amla Juice ) नियमित पीने से मधुमेह में लाभ होता है। आंवले का पाउडर

एक एक चम्मच सुबह शाम पानी ले साथ लेने से मधुमेह में आराम रहता है।

 

—  जामुन के नियमित सेवन से डायबिटीज में आराम मिलता है। जामुन की गुठली का चूर्ण आधा आधा चम्मच दिन में तीन बार लेने से रक्त

में ग्लूकोज की मात्रा कम होती है।

 

—  आम की गुठली का चूर्ण आधा आधा चम्मच दिन में तीन बार लेने से फायदा होता है ।

 

—  अमरुद के पतझड़ में गिरे हुए पीले पत्ते साफ करके सुखाकर पीस लें। यह पाउडर दो चम्मच एक गिलास पानी में डालकर उबालें। आधा

रह जाने पर छान कर पियें। कुछ दिन इस प्रकार का पानी दिन में एक बार लेने से  डायबिटीज में आराम मिलता है।

 

—  बील पत्र ( शिवजी को चढ़ाते है ) 10 -12 पत्ते और 4 -5 काली मिर्च लें। इसे एक कप पानी में घोलकर पी लें। कुछ समय नियमित लेने

से रक्त में शर्करा की मात्रा कम होती है। रोजाना चार चम्मच बील पत्र का रस सुबह खाली पेट पीने से भी डायबिटीज ठीक होती है।

 

—  करेले का रस तीन चम्मच एक कप पानी में मिलाकर पीने से डायबिटीज कम होती है। इसे दिन में तीन बार लेना चाहिए। करेले को

धोकर छोटे टुकड़े करके छाया में सुखा लें। सूखने पर इन्हें पीस लें। यह पाउडर एक एक चम्मच सुबह शाम पानी के साथ लें। इससे

डायबिटीज में लाभ होता है।

 

—  मेथी दाना ( fenugreek seeds ) का उपयोग डायबिटीस में लाभदायक होता है। इसकी सब्जी बनाकर खाई जा सकती है। इसे पीस

कर आटे में मिलाकर चपाती बनाकर खा सकते है या मेथीदाना की ऐसे ही फंकी ली जा सकती है। किसी भी तरह से लेने से फायदा ही

करती है। इसके अन्य भी कई प्रकार के लाभ होते है ।

 

—  5 किलो जौ , 1.5 किलो चना , 1 किलो सोयाबीन , 1 किलो दाना मेथी , 1 किलो गेहूं इन्हें मिलाकर पिसवा कर इस आटे से बनी रोटी खाने

से डायबिटीस कंट्रोल होती है। आधा किलो छिलके वाली मूंग की दाल , आधा किलो चावल , आधा किलो बाजरा ,आधा किलो गेहूं इन सबको

भुन कर दलिया बनवा लें।  इसमें 50 ग्राम सफ़ेद तिल और 20 ग्राम अजवायन मिला लें। इसमें से 50 ग्राम लेकर इसे पानी में उबाल लें।

स्वाद के लिए इसमें सेंधा नमक , हरी मिर्च , और अपनी पसंद के हिसाब से सब्जी डाल कर सुबह शाम एक सप्ताह लगातार खाएं। इससे

डायबिटीज में रक्त में सुगर कम होती है। हर महीने एक सप्ताह इसे ही खाएं।

 

—  चने और जौ बराबर मात्रा में पिसवा कर इस आटे की रोटी सुबह शाम कुछ दिन खाने से डायबिटीज में लाभ होता है।

 

—  सिर्फ चने की रोटी  7  दिन तक खाने से पेशाब में शक्कर ( Peshab me shakkar ) आनी बंद हो जाती है।

 

—  छुहारे की गुठली निकाल दें। छुहारे के छोटे टुकड़े कर लें। इसमें से 3 -4  टुकड़े दिन में 8 -10 बार चूसने से डायबिटीज में आराम मिलता

है। इसे 5-6 महीने लेना चाहिए।

 

—  रोजाना के खाने में सरसों के तेल का उपयोग करने से मधुमेह में आराम रहता है।

 

—  डायबिटीज की दवा ले रहे हों तो उपरोक्त नुस्खे डॉक्टर की सलाह से ही लें।

 

क्लीक करके इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

 

स्लिप डिस्क के कारण , लक्षण और बचाव 

टायफाइड का कारण और इस समय  क्या खाना चाहिए क्या नहीं 

नीम के फायदे उपयोग और गुणकारी प्रभाव 

अंकुरित आहार के शानदार फायदे 

रक्तदान करने के फायदे 

दूध नहीं पचने के कारण और उपाय 

भगवान की आरती कब और कैसे करनी चाहिए 

पालक के फायदे और नुकसान 

योग मुद्रा क्या होती है और इसे करने के फायदे 

कुत्ता काट ले तो क्या करें 

 

Disclaimer : This post has been written for informational purpose only and have been put together from the various published media and internet. For any treatment please get an expert advice.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *