तिल पपड़ी बनाने की विधि – Til Papdi Ki Vidhi

300

तिल पपड़ी Til Papdi बनाकर खाना तिल के उपयोग का एक अच्छा तरीका है। तिल की प्रकृति गर्म होती है। सर्दी के मौसम में किसी भी रूप में तिल का सेवन करना स्वास्थ्य  के लिए लाभदायक होता है।

तिल स्किन , बाल , हड्डी , ह्रदय आदि के लिए बहुत फायदेमंद होता है। तिल के अन्य फायदे तथा जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लीक करें। तिल पपड़ी घर पर आसानी से बनाई जा सकती है। तिल पपड़ी बनाने की विधि इस प्रकार है :

तिल पपड़ी बनाने की सामग्री

Til Papdi ki Samagri

तिल                                  1/2 कप

शक्कर                               1/2 कप

पिस्ता                                3-4 पीस

इलायची                                 1 पीस

घी                                 1 /4 चम्मच

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

तिल पपड़ी बनाने की विधि – Til Papdi  Ki Vidhi

तिल पपड़ी

—  तिल को बीनकर साफ कर ले।

—  तिल को पानी से दो तीन बार धो कर छलनी से पानी निथार कर किसी साफ कपड़े पर फैलाकर धूप में सूखा ले।

—  तिल जब अच्छी तरह सूख जाए तब तिल को भारी तले की कढ़ाई में मध्यम आँच पर हिलाते हुए सेकें।

—  तिल सेंकने पर चटकने लगते हैं। जब तिल का चटकाना कम हो जाये तो समझे की तिल सिक चुके हैं।

—  सिके हुए तिल को थाली में निकाल कर ठंडा कर लें। तिल पपड़ी बनाने के लिए तिल तैयार है।

—  पिस्ता को बारीक़ काट लें या मार्केट से कतरन ले आए।

—  इलायची को दरदरा पीस लें।

—  जहाँ पर पपड़ी बेलना चाहते हों ( चकले पर या किचन प्लेटफार्म पर ) वहाँ और बेलन पर थोड़ा सा घी लगा ले।

—  अब भारी तले की कढ़ाई या नॉन स्टिक पेन गैस पर चढ़ाए।

—  गैस की आँच तेज रखे जब कढ़ाई अच्छी तरह गरम हो जाए तब गैस धीरे कर दे।

—   1 /2 आधी कटोरी शक्कर फैलाते हुए कढ़ाई में डाले। शक्कर को हिलाये नहीं। जब शक्कर पिघल जाये तभी शक्कर को हिलाये।

—  शक्कर की चाशनी बन जाएगी अब  इसमें आधी कटोरी तिल ,बारीक़ पिस्ता कतरन व दरदरी पीसी इलायची डालकर अच्छी तरह हिलाए।

—  इस मिश्रण को प्लेटफार्म पर डालकर चम्मच की सहायता से गोला बनाये व जल्दी- जल्दी पतला बेलें व प्लेट में थोड़ी देर सूखने के लिए रख दे। तिल की एक परत होनी चाहिए इतनी पतली बेलें।

—  तिल पपड़ी इसी तरह बनाये एक बार में एक या दो पपड़ी बन पाती है , क्योंकि बेलते समय बहुत ही जल्दी सूख जाती हैं। हो सकता है कि शुरू में आप नहीं बना पाएं लेकिन थोड़ी प्रेक्टिस के बाद बहुत अच्छी क्रिस्पी तिल पपड़ी बनने लगती है।

—  तिलपपड़ी तैयार है आप सर्दियों में सब के साथ इसका आनंद उठाये।

तिल पपड़ी बनाते समय ध्यान रखें : Tips

—  तिल को बहुत अधिक भूनने से तिल जल जाते है ओर तिल पपड़ी का स्वाद कड़वा हो सकता है।

—  चाशनी बहुत अधिक पकने पर तिल पपड़ी के स्वाद कड़वा हो सकता है।

—  तिल पपड़ी बनाने से पहले सारी तैयारी करके रखनी चाहिए क्योंकि तिल पपड़ी बेलते समय बहुत ही जल्दी सूख जाती है।

—  आप बहुत पतली तिल पपड़ी बनाना चाहते है तो बिना छिलके के सफेद तिल का उपयोग कर सकते है परन्तु स्वास्थ्य की दृष्टि से छिलके वाले तिल ही अच्छे रहते  हैं।

—  मेवे अपनी पसंद के अनुसार डाले जा सकते है।

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

तिल गुड़ के लडडू / मकर संक्रांति / मकर संक्रांति पर सासू माँ को सीढ़ी / सकरात पर सूती सेज जगाना / गाजर का हलवा / गुड़ मूंगफली की चिक्की / मेथी के लड्डू / गोंद के लड्डू / नाश्ता क्यों जरूरी / गुड़ अजवाइन पाक / हरीरा बनाने की विधि / चाट मसाला / मसाला काजू / कच्ची हल्दी की सब्जी / श्वेतप्रदर घरेलू इलाज /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here