दुबार तिबार किनकी चावल क्या है – Dubar Tibar Kinki Rice

2702

दुबार Dubar तिबार Tibar चावल , किनकी आदि शब्द अक्सर चावल खरीदते समय सुनने को मिलते है। समझ नहीं आता कौनसा चावल लें कौनसा नहीं। आइये जानें इनमे क्या फर्क होता है और कौनसा चावल खरीदें।

चावल न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में पसंदीदा खाने में शामिल है। इसकी दुनिया भर में बहुत सारी किस्मों की खेती की जाती है। भारतीय बासमती चावल (Basmati Rice)अपनी खुशबू और स्वाद के कारण दुनिया भर में जाना जाता है। आजकल फायदेमंद ब्राउन राइस का चलन भी बढ़ रहा है।

बाजार से चावल खरीद कर लाना हो तो चावल की किस्में देखकर दिमाग चकरा जाता है। इनमे कुछ नाम दुबार , तिबार , मोगरा , किनकी आदि होते है। किस्म एक ही होती है पर प्राइस अलग। decide करना मुश्किल हो जाता है कौनसा लें। rice bali

ब्राउन राइस -Brown Rice

चावल की बाली सूखने के बाद छिलका हटाने पर भूरे रंग में चावल मिलता है , ये भूरा रंग जो की ब्रान कहलाता है हटाने पर सफ़ेद रंग का चावल प्राप्त होता है । यदि ऊपरी सतह नहीं हटाई जाये तो इसे ब्राउन राइस कहते है।

ऊपरी सतह ब्रान से तेल निकाला जाता है जिसे राइस ब्रान ऑइल कहते है ,जो कि स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।

Brown Rice

भूरे चावल पर ब्रान लगभग सात -आठ प्रतिशत हिस्सा होता है। इस ब्रान में से लगभग बारह से पन्द्रह प्रतिशत राइस ब्रान तेल निकलता है।

ब्रान को हटाकर चावल की पोलिश की जाती है उसके बाद वो सफ़ेद चावल मिलता है जिसे हम काम में लेते है। ब्रान हटाने और पोलिश करने की प्रक्रिया में चावल के कुछ दाने साबुत और कुछ टूटे हुए मिलते है।

फिर इन चावल की ग्रेडिंग की जाती है जिसमे चार – पांच तरह के साइज़ के चावल अलग किये जाते है । इन्ही अलग अलग साइज के चावल में साबुत चावल सबसे महंगा और फिर जैसे जैसे साइज छोटा होगा वैसे वैसे सस्ता बिकता है ।

rice-960627_640

दुबार तिबार किनकी चावल की ग्रेडिंग

Dubar Tibar and Grading

—  जो चावल बिलकुल साबुत होता है वो फुल लेंथ राइस कहलाता है।

—  साबुत चावल का लगभग 75% साइज़ का चावल दुबार Dubar chaval कहलाता है।

—  दुबार से छोटा व साबुत का 60% साइज़ तक का चावल तिबार Tibar chaval कहलाता है ।

—  इससे छोटा साइज़ का चावल किनकी  kinki chaval कहलाता है।

—  किनकी चावल को फिर साइज़ के हिसाब से मोगरा Mogra , मिनी मोगरा Mini Mogra व टाइनी मोगरा में बाँट दिया जाता है।

—  सबसे छोट साइज़ नक्कू Nakku chaval कहलाता है।

—  इसके बाद चूरा बचता है जिसे खुड्डी  Khuddi  कहते है जो आटे के रूप में या पशु चारे में काम लिया जाता है।

निष्कर्ष ये है कि दुबार तिबार आदि सिर्फ साइज के नाम है क्वालिटी और स्वाद से इन नाम का कोई लेना देना नहीं है।एक जैसे होने पर भी साइज की वजह से इनके प्राइस में फर्क होता है।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

चिया सीड क्या होते हैं / एंटीऑक्सीडेंट और फ्री रेडिकल क्या है / चीनी के कुछ अलग उपयोग / रसोई के मसाले /मेथी दाना / हल्दी / अदरक  / आंवला / दिव्य तुलसी / काली मिर्च / दाल के सम्बन्ध में विशेष बातें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here