नमकीन गुने गणगौर की पूजा के लिए – Namkin Gune For Gangaur Pooja

15

नमकीन गुने Namkin Gune गणगौर की पूजा में भोग लगाने के लिए बनाये जाने वाले व्यंजन में से एक है। गुणे नमकीन या मीठे दोनों प्रकार

के बनाये जाते है। गणगौर की पूजा में सोलह या आठ गुणे Gune चढ़ाये जाते है। कुँवारी लड़की सोलह गुणा और विवाहित महिला आठ गुणा

चढ़ाती हैं। कुछ जगह कुआँरी लड़की आठ और विवाहित महिला सोलह गुणे चढ़ाती है। जैसी परंपरा हो वैसा कर सकते हैं।

नमकीन गुने

 

नमकीन गुणे की रेसिपी इस प्रकार है :

नमकीन गुने बनाने की सामग्री – Namkin Gune ki Samagri

किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

 

आटा                                        1   कप

बेसन                                    1 /2  कप

अजवाईन                             1 / चम्मच

हल्दी                                1/4   चम्मच

लालमिर्च                           1/4  चम्मच

नमक                                 स्वादानुसार

तेल (मोयन के लिए )              5 चम्मच

तेल                                 तलने के लिए

 

नमकीन गुने बनाने की विधि – Namkin Gune Ki Vidhi

 

—  आटा तथा बेसन को एक बर्तन में छान लें।

—  इसमें हल्दी , नमक , मोटी कुटी लाल मिर्च  , अजवाईन व तेल डालकर मिला लें।

—  अब इसमें जरूरत के हिसाब से पानी डालकर सख्त आटा लगा लें। इसे आधा घंटे के लिए  ढ़ककर रख दें।

—  आधा घंटे  बाद आटे को हाथ से मैश करें व दो लोई बना लें।

—  अब इस लोई से रोटी बेल लें।

—  रोटी की आधा इंच चौड़ी पट्टियां काट लें।

—  गुने बनाने के लिए एक पट्टी ले और उसे अंगुली के चारो तरफ घुमाते हुए रिंग बना लें। बचे हुए आते की पट्टी को हटा दें ।

—  सिरों को आपस में दबाकर चिपका दें। नहीं चिपके तो थोड़ा पानी लगाकर चिपका दें।

—  सारे आटे से इसी तरह गुने बना लें।

—  कढ़ाई में तेल गरम करें।

—  तेल गरम होने के बाद इसमें गुने डालकर मध्यम आंच पर तल लें ।

—  हल्के सुनहरे होने तक तल लें।  कढ़ाई से निकाल कर प्लेट में रख लें।

—  नमकीन गुणे तैयार हैं।

—  ठंडे होने पर डिब्बे में भरकर रखें।

—  मीठे गुने बनाने की विधि जानने के लिए यहाँ क्लीक करें

 

क्लीक करके इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

 

फल बनाने की विधि गणगौर पूजा के लिए 

गणगौर की पूजा सोलह दिन की तथा सिंजारा 

गणगौर के गीत किवाड़ी खुलाने से पानी पिलाने तक 

गणगौर का उद्यापन करने की विधि 

केर सांगरी की सब्जी पचकूटे वाली 

 

व्रत के फलाहार :-

 

कुटटु के आटे की पूड़ी बनाने का तरीका 

साबूदाना खिचड़ी खिली खिली कैसे बनायें 

आलू का चिल्ला झटपट बनाने का तरीका 

सिंघाड़े के आटे का हलवा बनाने की विधि 

साबूदाना और आलू की सेव ( मूरके ) ऐसे बनायें

आलू की चिप्स सफ़ेद और कुरकुरी बनाने का तरीका

बादाम का हलवा बनाने की विधि

ठंडाई बनाने का सही और ओरिजिनल तरीका

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here