नमक सिर्फ स्वाद के लिए नहीं – SALT not only for taste

नमक Salt सिर्फ स्वाद के लिए नहीं है। इससे आप वो कर सकते है जो शायद आप सोच भी नहीं सकते। नमक खाने में उपयोग में आने वाली

सबसे पुरानी चीज है। इसे दुनिया भर में काम लिया जाता है। दुनिया भर में लगभग 200 मिलियन टन का उत्पादन होता है जिसमे से खाने में

सिर्फ 6 % नमक काम आता है। खाने के अलावा नमक का उपयोग जहाँ ज्यादा बर्फ गिरती है वहाँ हाईवे से बर्फ हटाने में होता है। इसके

अलावा वाटर कंडीशनिंग ( पानी को हार्ड वाटर से सॉफ्ट वाटर में बदलना ) आदि  में भी नमक का बहुत उपयोग होता है।

सेंधा नमक Sendha Namak चट्टानों से निकलता है। इसे व्रत के समय खाया जाता है। इसमें पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है। सेंधा

नमक शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है।

 

नमक

 

आम जीवन में खाने में यूज़ करने के अलावा Salt  को बहुत से काम में लिया जा सकता है। जानिए नमक के अन्य उपयोग :-

 

नमक के अन्य उपयोग – other use of salt

कृपया ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके बारे में विस्तार से जानें । 

 

—  साधारण लोहे के तवे पर नमक बुरकने के बाद चिल्ला बनाएंगे तो चिपकेगा नहीं। नॉन स्टिक जैसा काम होगा।

 

—  बर्तन से प्याज की गंध आती है तो उसे  Salt  मिले पानी से धोएं। गंध मिट जाएगी।

 

—  पिसे हुए मसाले  , मिर्च , हल्दी , धनिया आदि में नमक मिलाकर रखें। कीड़े या जाले नहीं पड़ेंगे और मसाले ख़राब नहीं होंगे। एक किलो

मसाले में 50 ग्राम नमक के अनुपात से मिला सकते है। साबुत नमक भी डाल सकते है ताकि इसे निकालने में आसानी हो।

 

—  डस्टबिन से गंध मिटाने के लिए उसमे थोड़ा Salt डाल दें।

 

—  नाली या सीवर से बदबू आती हो तो एक लीटर पानी में 250 ग्राम नमक मिलाकर इस अनुपात में नमक का पानी बना लें यह पानी नाली

में डालने से बदबू चली जाएगी। सप्ताह में एक बार यह पानी नाली में डालने से उसमें कॉकरोच , मच्छर , मक्खी आदि भी पैदा नहीं होंगे।

 

—  बिस्किट में सीलन आकर नर्म होने से बचाने के लिए एक चम्मच Salt कपड़े की पोटली में बांधकर बिस्किट के डब्बे में रखें सीम नहीं

आएगी और बिस्किट कुरकुरे बने रहेंगे।

 

—  पानी में Salt डालकर पौंछा लगाने पर फर्श बैक्टीरिया रहित हो जाएगी। ये प्रयोग वास्तु के हिसाब से भी पोज़िटिव एनर्जी में वृद्धि करता है।

 

—  एल्युमिनियम के बर्तन नए जैसे चमकाने के लिए थोड़ा सा  Salt  बुरक करके बर्तन साफ करने वाला लिक्विड लगाकर साफ करें।

 

—  मोमबत्ती पर  Salt  लगा दें। ज्यादा देर तक जलेगी।

 

—  चीनी मिट्टी के बर्तन  Namak  मिले पानी से आसानी से साफ हो जाते है।

 

—  लोहे या स्टील का बर्तन जल गया है तो  Namak  से मांजने पर साफ हो जाता है।

 

—  सरसों के तेल में बारीक सेंधा नमक मिलाकर मसूड़ों पर हल्की मालिश करने से मसूड़ों की बहुत सी परेशानियां मिटती है। दांत का दर्द भी

मिटता है। मसूड़ों से खून आना बंद होता है और मसूड़े मजबूत बनते है।

 

—  टमाटर पिलपिले हो गए हो तो फ्रिज के चिल्ड पानी में नमक मिला लें , उसमे पिलपिले टमाटर थोड़ी देर डालकर रखें टमाटर सख्त हो

जायेंगे।

 

—  उल्टी ,दस्त हो रहें हो तो डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पानी में  Namak  और चीनी मिलाकर लगातार पीना चाहिए।

 

—  घर में किसी के बीमार होने पर कमरे में दवा , उल्टी आदि की बदबू मिटाने के लिए पानी में  Namak और सोडा मिलाकर इस पानी से

पोंछा लगाने पर बदबू मिट जाती है।

 

—  वाश बेसिन चमकाने के लिए गर्म पानी में  Namak  मिलाकर इस पानी से धोएं। चमक देखें।

 

—  कटहल या लेसुए काटने पर चाकू और हाथ बहुत चिपचिपे हो जाते है। इनको काटने से पहले हाथों पर और चाकू पर Namak लगाने से

हाथ और चाकू चिपचिपे नहीं होंगे। बाद में भी नमक हाथों पर रगड़ने से हाथ बिलकुल साफ हो जाते है।

 

—  तांबे या पीतल के बर्तन पर हरे रंग के दाग पड़ गए हो तो पानी में Namak और नौसादर मिलाकर इस पानी से रगड़ने पर साफ हो जाते है।

 

—  नए मोज़े  (socks ) पहनने से पहले एक दिन  Namak  मिले पानी में डालकर रखें। सॉक्स ज्यादा दिनो तक चलेंगे।

 

इसके अलावा नमक घरेलु उपचार में उपयोगी है। जानिए नमक को किस तरह से घरेलु नुस्खे में काम लिया जा सकता है ।

 

नमक से घरेलु उपचार -Salt ke gharelu nuskhe

 

—  गले में टॉन्सिल हो , गले में खराश हो , दर्द हो ,आवाज दब गई हो तो एक गिलास गुनगुने पानी में चौथाई चम्मच  Salt  मिलाकर इससे दिन

में तीन चार बार गरारे करे। बहुत आराम मिलेगा।

 

—  ब्लड प्रेशर लो होता है तो नमक का उपयोग बढ़ा देना चाहिए और यदि ब्लड प्रेशर ज्यादा रहता है तो Salt का उपयोग कम कर देना

चाहिए।

 

—  पेशाब में परेशानी हो खुलकर नहीं आता हो तो  दो चम्मच  पानी में एक चम्मच  Salt  घोलकर इसमें रुई भिगोकर नाभि पर थोड़ी देर रखें।

पेशाब खुलकर आएगा।

 

—  हिचकी बंद नहीं रही है तो सादा नमक , काला नमक और सेंधा नमक बराबर मात्रा में लेकर बारीक पीस लें। इस मिश्रण से  आधा

चम्मच  गर्म पानी से फांक लें। हिचकी बंद हो जाएगी।

 

—  जोड़ों का दर्द , गठिया , पीठ का , गर्दन आदि का दर्द हो तो  नमक गर्म करके इसे कपड़े में लेकर पोटली बना लें। इससे दर्द वाली जगह

सिकाई करें। Salt की सिकाई दर्द में बहुत आराम देती है।

 

—  दांत हिल रहा हो तो तिल के तेल में बारीक पिसा काला नमक मिलाकर मंजन करें ,दांत हिलना बंद होगा।

 

—  यदि शरीर से ज्यादा पसीना आने के कारण बदबू ज्यादा आती है तो खाने में Salt की मात्रा कम कर दें। बदबू नहीं आएगी।

 

—   खटाई की वजह से दांत आम गए हो तो दांतों पर Salt रगड़ने से ठीक हो जाते है।

 

—  नाखून बढ़ते नहीं हो तो कुछ दिन गुनगुने पानी में Salt डालकर इसमें कुछ देर नाख़ुन डुबो कर रखें। नाखून बढ़ने लगेंगे।

नाख़ून स्वस्थ और सुन्दर बनाने के उपाय जानने के लिए यहाँ क्लीक करें

 

—  दांतों में ठण्डा पानी लगता हो सरसो के तेल में बारीक सेंधा Namak  मिलाकर मंजन करें। इसके बाद पानी से कुल्ला ना करें। लार थूकते

जाएँ। पानी लगना बंद होगा , दांत मजबूत होंगे।

 

—  जलने पर आधा चम्मच पानी में Salt डालकर गाढ़ा घोल बनाकर लगाने से छाले नहीं पड़ेंगे।

 

क्लीक करके इन्हें भी जानें और लाभ उठाएँ :-

 

चिया सीड तुलसी के बीज नहीं है 

एंटीऑक्सीडेंट और फ्री रेडिकल क्या है 

रसोई के मसालों का महत्त्व

दुबार तिबार चावल का क्या मतलब है

हल्दी से सुंदरता और स्वास्थ्य 

काली मिर्च से पाएं भोजन के पूरे पोषक तत्व 

अदरक के खास फायदे और नुस्खे 

त्रिफला चूर्ण एक सम्पूर्ण हेल्थ टॉनिक 

आंवला एक चमत्कार 

दिव्य तुलसी का समुचित उपयोग 

चीनी के दुसरे फायदेमंद उपयोग 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *