नींबू से मिटाएँ शारीरिक और मानसिक कमजोरी – Lemon for weakness

982

नींबू lemon का नाम सुनते ही मन फ्रेश हो जाता है। इसकी ताजगी को सभी ने महसूस किया है। इसके गुणों की सीमा नहीं है। नींबू की शिकंजी का प्रचलन होने के पीछे नींबू के फायदेमंद गुण ही है।

नीम्बू   कब्ज , पाचन , मोटापा , गले में इन्फेक्शन , ब्लड प्रेशर , त्वचा , मांसपेशियों के लिए , बालों के लिए , दांत के लिए लाभकारी होता है।

नींबू का उपयोग शारीरिक व मानसिक कमजोरी को दूर करने में भी किया जा सकता है ये कम लोग ही जानते है।  नीम्बू  गुर्दे की पथरी में , शरीर के तापमान को बनाए रखने में एवम कोलेस्ट्रॉल में भी फायदा करता है।

नींबू

नींबू  ( lemon )  का  विटामिन ” C ” रक्त विकार में , विटामिन ” B6 ”   पाचन में , विटामिन ” A ”   आँखों के लिए , विटामिन ” E ” हार्ट ,सेल्स, इम्यून सिस्टम के लिए लाभकारी होता है।

इसके अलावा नीम्बू  में पोटेशियम , कैल्शियम , कॉपर , आयरन , ज़िंक , फास्फोरस आदि तत्व  पाए जाते है। ये एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।

नींबू के फायदे  – Nimbu ke Fayde

विभिन्न शारीरिक समस्या के लिए नींबू के फायदे इस प्रकार है।

एसीडिटी के लिए नींबू – Acidity ke liye Nimbu

ये बहुत बड़ी गलतफहमी है कि नींबू का रस शरीर के लिए अम्लीय होता है। जबकि निम्बू पेट में क्षार पैदा करता है। नीबू का पोटेशियम तत्व रक्त में अम्लता को कम करता है।

—  गर्म पानी में निम्बु  का रस डालकर पीने से अम्लपित्त ( acidity)  में आराम मिलता है।

—  खाना खाने के बाद एक कप पानी में एक चम्मच निम्बू  का रस व चुटकी भर मीठा सोडा डालकर पीने से एसीडिटी  ( acidity ) में आराम मिलता है।

—  खाना खाने से आधा घंटे पहले मीठी शिकंजी पीने से एसिडिटी ठीक होती है।

जुकाम में नींबू – Jukam Ke Liye Neebu

—  एक साबुत नींबू को एक गिलास पानी में उबाल लें। इस पानी को गिलास में निकालकर उबला  Nimbu  काटकर इसमें नीचो लें। इसमें आधा चम्मच अदरक का रस और दो चम्मच शहद मिलाकर पी लें। इससे जुकाम ठीक होता है।

—  दो कप पानी में दो चम्मच दाना मेथी डालकर उबालो। एक कप रह जाये तब छानकर इस पानी में एक चम्मच नीबू  का रस डालकर गुनगुना पिएं। फ्लू , सर्दी जुकाम आदि में बहुत आराम मिलेगा।

—  गर्म पानी में Neembu  डालकर गरारे  करने से गले का इन्फेक्शन और कफ ठीक होता है।

शक्ति वर्धक नींबू – Takat Ke Liye Neembu

—  रात को एक गिलास पानी में दो छुआरे गुठली निकालकर और आठ दस किशमिश और एक चम्मच नीबू का रस  डालकर रखें।

सुबह खाली पेट पानी पी लें। बाद में छुआरे और किशमिश भी खा लें। बहुत पौष्टिक होता है।

—  चार  बादाम ,चार  पिस्ता , चार मुनक्का और दो चम्मच किशमिश एक गिलास पानी में भिगो दें। सुबह बादाम के छिलके निकालकर बाकि चीजों के साथ बारीक पीस लें। इसे एक पानी मिलाकर ठंडाई की तरह छान लें।

इसमें एक नीबू का रस व एक चम्मच शहद डालकर खाली पेट पीये । यह शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की कमजोरी दूर करता है।

पाचन तंत्र के लिए नींबू – Hajme Ke Liye Nibu

—  पाचन तंत्र के लिए नींबू रामबाण की तरह काम करता है। गैस , पेटदर्द , अफारा , पेट फूलना आदि के लिए गर्म पानी में नीबू का रस मिलाकर दो तीन बार पीने से ये सब तकलीफ दूर हो जाती है। बारिश के मौसम में नीबू का उपयोग अवश्य करना चाहिए।

—  अजीर्ण या ज्यादा खाने की वजह से पेट में दर्द हो तो गर्म पानी में Nimbu , शक्कर , नमक , पिसा जीरा और पीसी अजवाइन डालकर पीने से पेटदर्द ठीक हो जाता है।

 पेट में कीड़े हो तो नींबू काटकर उस पर काला नमक , काली मिर्च और पिसा जीरा लगा कर गर्म कर लें। अब इस नीबू का रस चूसें। पांच सात दिन इस प्रयोग से पेट के कीड़े ख़त्म हो जाते है।

—  खाना खाने के बाद पेट में दर्द होता हो तो मूली के रस में नीबू का रस मिलकर पीने से ठीक हो जाता है।

—  खाना खाने से आधा घंटा पहले एक गिलास पानी में यह चम्मच  nibu  का रस , एक चम्मच अदरक का रस और नमक मिलाकर पीने से भूख खुल कर लगती है और पाचन सुधरता है।

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

लौकी / टमाटर / लहसुन  / आलू / केला / आंवला / अनार  / सेब  / बील / जामुन /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here