फूलगोभी के फायदे उठायें आई क्यू लेवल बढ़ायें – Cauliflower

फूलगोभी Cauliflower सर्दी में आने वाली एक लाभदायक पौष्टिक सब्जी है। दुनिया भर में इसे बड़े चाव से खाया जाता है। अधिकतर यह

सफ़ेद रंग में दिखाई पड़ती है पर यह अन्य रंग जैसे बैगनी या ऑरेंज कलर में भी उपलब्ध हो जाती है। इसका बैगनी रंग एंथोसाइनिन नामक

एंटीऑक्सीडेंट के कारण होता है जो बैगनी पत्ता गोभी में भी पाया जाता है। इनके स्वाद में कुछ खास अंतर नहीं होता है और इन्हे भी सफ़ेद

फूल गोभी की तरह ही काम में लिया जा सकता है। हरे रंग में मिलने वाली ब्रोकली Broccoli  सफेद फूल गोभी के परिवार की ही सदस्य है।

फूलगोभी

सर्दी के मौसम में गोभी की सब्जी का एक अलग ही आनंद मिलता है।  कई प्रकार की डिश फूल गोभी के बिना अधूरी लगती है। फूलगोभी के

पराठे , फूलगोभी के पकोड़े , गोभी के सेंडविच , पाव भाजी आदि इसके लोकप्रिय व्यंजन हैं। फूलगोभी को कच्चा , सलाद में  या सब्जी के रूप

में खाया जा सकता है। फूल गोभी का रस निकाल कर भी पिया जा सकता है।

 

फूलगोभी के पोषक तत्व – Cauliflower Nutrients

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

 

यह प्रोटीन , विटामिन और खनिज से भरपूर होती है। फूल गोभी में  विटामिन C , विटामिन K , फोलेट और विटामिन B 6 प्रचुर मात्रा में होता

है।   इसमें  पोटेशियम , फास्फोरस ,  मेगनीज , जिंक , कॉपर , कैल्शियम तथा आयरन आदि लगभग सभी जरुरी खनिज होते हैं।

इसमें पाए जाने वाले तत्वों में कोलिन Cholin  तथा ओमेगा 3 फैटी एसिड तथा प्रचुर मात्रा में फाइबर की उपस्थिति इसे बहुत खास सब्जी बना

देते  हैं। इसके अलावा फूलगोभी में कई प्रकार के लाभदायक एंटीऑक्सीडेंट तथा फीटोकेमिकल भी पाए जाते हैं।

इसे अधिक नहीं पकाना चाहिए अन्यथा इसके फायदे कम हो जाते हैं। विशेषकर पानी में उबालने से गोभी का स्वाद और गुण दोनों नष्ट हो जाते

हैं। इसमें स्टार्च नहीं होता अतः वजन कम करने की कोशिश कर रहे लोगों के लिए यह अच्छा विकल्प है।

 

फूलगोभी के फायदे – Cauliflower Benefits

 

कैंसर से बचाव

फूल गोभी में सल्फर का एक कम्पाउंड सल्फोराफेन पाया जाता है जो कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करके कैंसर को बढ़ने से रोक सकता है।

हल्दी के साथ फूल गोभी खाने से प्रोस्टेट कैंसर को रोकने में मदद मिल सकती है। एक रिसर्च के अनुसार भारत में प्रोस्टेट कैंसर विदेशी लोगों

की अपेक्षा कम लोगों को होता है और इसका कारण हल्दी डालकर गोभी की सूखी सब्जी खाया जाना पाया गया है।

हार्ट के लिए

यह हार्ट के लिए बहुत लाभदायक होती है। गोभी से मिलने वाले प्रचुर फाइबर रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करने में सहायक होते है। गोभी

से मिलने वाला पोटेशियम तथा कई के प्रकार एंटीऑक्सीडेंट तथा विटामिन आदि हृदय के लिए बहुत हितकारी होते हैं।

एंटी इन्फ्लेमेशन

गोभी में पाए जाने वाले तत्व इन्फ्लेमेशन को काबू में बनाये रखने में मदद करते हैं। इन्फ्लेमेशन शरीर को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है।

इसकी वजह से कैंसर जैसे गंभीर रोग भी हो सकते हैं।

 

दिमाग की ताकत और आई क्यू लेवल

फूलगोभी में प्रचुर मात्रा में कॉलिन नामक तत्व होता है इसके अलावा इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड भी  होता है। ये दोनों तत्व दिमाग की

कार्यविधि सही बनाये रखते हैं। दिमाग के विकास में इनकी जरुरी भूमिका होती है। ये तत्व आई क्यू लेवल बढ़ाने में सहायक होते हैं। उम्र के

साथ होने वाली  याददाश्त की कमी इनके कारण दूर रहती है। जो लोग बचपन से फूल गोभी की सब्जी के शौक़ीन होते है उनका IQ लेवल

अच्छा होने की संभावना ज्यादा होती है।

 

विषैले तत्वों का निष्कासन

गोभी लीवर के लिए फायदेमंद होती है। यह विषैले तत्वों को शरीर से बाहर निकलने में लीवर की मदद करती है।  फूल गोभी में पाए जाने वाले

विशेष तत्व शरीर से विषैले तत्व को मिटाने में कई प्रकार से सहायता करते हैं।

 

पाचन

फूल गोभी पाचन के लिए जरुरी फाइबर का अच्छा स्रोत होती है। यह आँतों की सतह को नुकसान से बचाती है। इसके अलावा यह नुकसान

दायक बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकती है।

 

प्रतिरोधक क्षमता

फूल गोभी में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और फीटो न्यूट्रिएंट्स होते हैं। यह विटामिन C , बीटा केरोटीन , कैम्प्फेरोल , कॉर्सेटिन ,रूटीन ,

सिनेमिक एसिड और अन्य कई लाभदायक तत्वों से युक्त होती है। ये लाभदायक तत्व रोजाना प्रदूषण , तनाव , तथा मेटाबोलिज्म के कारण

बनने वाले हानिकारक फ्री रेडिकल के प्रभाव से बचाते हैं तथा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

 

रक्त बहना

चोट लगने पर खून का थक्का जमने से ही रक्त बहना बंद होता है। इस प्रक्रिया के लिए विटामिन K आवश्यक होता है। गोभी मे विटामिन K की

भरपूर मात्रा होती है। ऐसा काम करने वाले लोग जिन्हे चोट लगने की संभावना अधिक होती है उन्हें गोभी जरूर खानी चाहिए।

 

हड्डियों और दांतों की मजबूती

इसमें पाया जाने वाला विटामिन K हड्डी को मजबूत बनाये रखता है जिसकी कमी से ऑस्टियोपोरोसिस तथा हड्डी में फ्रेक्टर आदि होने की

संभावना बढ़ जाती है। यह कैल्शियम के अवशोषण में भी सहायक होता है तथा अतिरिक्त कैल्शियम के पेशाब के साथ निकलने से रोकता है।

हड्डी और दांत की मजबूती के लिये सभी जरुरी तत्व जैसे कैल्शियम , फास्फोरस आदि इसमें पाए जाते हैं।

 

गोभी से घरेलु नुस्खे – Cauliflower Gharelu Nuskhe

 

—  गोभी का रस और गाजर का रस समान मात्रा में मिलाकर पीने से जोड़ों का दर्द तथा और हड्डी का दर्द कम होता है , यह अपच , आँखों की

कमजोरी , तथा पीलिया में भी फायदा करता है। इसके लिए कच्ची फूल गोभी का रस का उपयोग करना चाहिए।

 

—  गोभी खाने से खून साफ होता है। इसमें क्षारीय तत्व होते हैं इसमें पाए जाने वाले तत्व आँतों की सफाई करते है तथा म्यूकस मेम्ब्रेन को स्वस्थ

बनाये रखने में सहायक होते हैं।

 

—  गर्भावस्था में फूल गोभी –

 

गोभी गर्भावस्था में बहुत लाभदायक होती है। यह खून की कमी दूर करती है। इसमें बहुत से खनिज और विटामिन होते हैं जिनकी

गर्भावस्था में जरूरत होती है। इसमें पाया जाने वाले कॉलिन तथा ओमेगा 3 फटी एसिड नामक तत्व गर्भ में पल रहे शिशु के दिमाग के

विकास में सहायक होते हैं। इसलिए गर्भावस्था में गोभी खाने से जन्म लेने वाले शिशु का IQ लेवल अच्छा होता है। गोभी खाने से कब्ज में

भी आराम मिलता है। ध्यान रखें , गोभी से गैस भी हो सकती है , अतः सीमित मात्रा में ही इसका उपयोग करना चाहिए।

—  गोभी की सब्जी खाने से पेशाब में जलन मिटती है।

 

—  फूलगोभी को घी में छोंककर सेंधा नमक डालकर खाने से बवासीर में आराम मिलता है।

 

क्लिक करें और जानें इनके फायदे नुकसान और पोषक तत्व  :

 

मशरूम / खीरा ककड़ी / पालक / हरी मिर्च /

प्याज / करेला / तुरई / भिंडी / चुकंदर /

गाजर / लौकी / मूली / अदरक / आलू   /

नींबू / टमाटर / लहसुन  /

 

आंवला केला / अनार / सेब  /

अमरुद / सीताफल /  अंगूर गन्ना  /

पपीता / संतरा नाशपती / बील /

खरबूजा / तरबूज आम / जामुन /

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *