बाजरे की खिचड़ी बनाने का तरीका – Bajre ki khichdi

बाजरे की खिचड़ी Bajre ki khichdi  सर्दियों में बनाकर खाई जाती है। बाजरा एक लाभदायक अनाज है जो राजस्थान में विशेष रूप से

उगाया जाता है। बाजरे की तासीर Bajre ki tasir गर्म होती है। अंग्रेजी भाष में इसे पर्ल मिलेट Pearl Millet कहते हैं। यह कई प्रकार के

विटामिन प्रोटीन , फाइबर , कैल्शियम मैग्नीशियम ,पोटेशियम , फास्फोरस  आदि का अच्छा स्रोत है।

बाजरे के आटे रोटी बनाई जाती है जो बहुत पौष्टिक और स्वादिष्ट होती है। सर्दी के मौसम में गर्मागर्म बाजरे की खिचड़ी के तो कहने ही क्या ?

यहाँ आपको बाजरे की खिचड़ी बनाने की विधि बताई जा रही है जो स्वाद और पौष्टिकता का अनूठा संगम है।

इसे बनायें , खायें और खिलायें।

 

बाजरे की खिचड़ी बनाने की सामग्री

Ingrediant For Bajra Khichdi

 

बाजरा                                                              250  ग्राम

मूँग छिलका दाल                                                50  ग्राम

चावल                                                                 25  ग्राम

नमक                                                             स्वादानुसार

पानी                                                                   2   लीटर

घी                                                           जरूरत अनुसार

 

बाजरे की खिचड़ी बनाने का तरीका

How To Make Bajra Khichdi

 

—   बाजरा ,  मूँग छिलका दाल व चावल को बीनकर साफ कर लें।

—   मूँग दाल व चावल को धोकर अलग रख लें।

—   बाजरे पर थोड़ा ( लगभग आधी कटोरी ) पानी छिड़ककर उसमे मिला दें और एक घंटे के लिए रख दें।

—   एक घंटे बाद बाजरा थोड़ा फूल जाएगा।

—  अब इस फूले हुए बाजरे को हमाम दस्ते से थोड़ा सा कूट लें। इससे बाजरे के छिलके अलग हो जायेंगे छिलके फटक कर अलग कर दें।

—   एक भारी तले के बर्तन में पानी डालकर उबलने के लिए रखें।

—   पानी उबलने लगे तब इसमें  मूंग दाल ,चावल व कुटा हुआ बाजरा डाल दें और स्वादानुसार नमक मिला दें।

—   इसे लगभग एक घंटे मध्यम आंच पर पकायें ।

—   खिचड़ी तले में चिपके नहीं इसका ध्यान रखें और थोड़ी थोड़ी देर में तले से खिचड़ी को हिलाते रहें ।

—   बाजरे का दाना गल जाये ओर खिचड़ी एकसार हो जाये तब गैस बंद कर दें।

—   बाजरे की खिचड़ी पक कर तैयार है।

—   इसे थाली में परोसकर बीचोबीच देसी घी डालकर गर्मागर्म सर्व करे।

—   इसके साथ थाली में छाछ , बेसन की कढ़ी , रामभाजा ( मिक्स वेजिटेबल ) , गुड़ , धनिये की चटनी , लहसुन की चटनी आदि रखे जा

सकते हैं।

 

बाजरे की खिचड़ी बनाते समय ध्यान रखने योग्य बातें

 

—  देसी बाजरे की खिचड़ी में अधिक मिठास होती है। हो सके तो देसी बाजरा खरीदें जो साइज़ में छोटा होता है  , हाइब्रिड बाजरा ना लें।

—  कुछ लोगों की खिचड़ी में गुठलिया पड़ जाती है। इसके लिए बाजरे की खिचड़ी Bajra Khichadi बनाते समय उबलते हुए पानी में बाजरा

थोडा थोडा करके डालें और साथ ही हिलाते रहें तो खिचड़ी में गुठलिया नहीं बनती हैं।

—  खिचड़ी उबलते समय पानी कम लगे तो थोड़ा पानी गर्म करके मिला दें।

—  खिचड़ी को थोड़ी थोड़ी देर से जरूर हिलाते रहें। इससे खिचड़ी चिपकेगी नहीं और एकसार बनेगी।

—  खिचड़ी पकने में लगभग एक घंटे का समय लग जाता है। अतः थोड़ा धीरज रखें।

—  बाजरे की खिचड़ी बनाने के लिए हमाम दस्ता उपलब्ध ना हो तो मिक्सी में चलाकर भी छिलके निकाले जा सकते हैं।

इसकी विधि नीचे बताई गई है।

 

फिलिप्स का तीन जार वाला मिक्सर ऑनलाइन मंगाने के लिए फोटो पर क्लिक करें  

 

इसके लिए भीगे हुए बाजरे को मिक्सी में डालकर  4 – 5   सेकेण्ड के लिए मिक्सी में चलाये , बंद करे फिर चलायें और बंद करें। इस तरह तीन

चार बार चलाकर बाजरे को थाली में लेकर फटक लें। छिलके निकल जायेंगे। इसी तरह वापस एक दो बार मिक्सी में चलाकर फटक लें।

ध्यान रखें मिक्सी ज्यादा चलने पर बाजरा पिस जाता है। बाजरा पीसना नहीं है।

 

इन्हे भी बनायें और स्वाद का आनंद उठायें :

 

बसंत पंचमी के पीले मीठे चावल 

गेहूं का खीचड़ा

कच्ची हल्दी की स्पेशल सब्जी

केर सांगरी की सब्जी

गुलगुले मीठे पुए

हरी मिर्च के चटपटे टिपोरे

बैंगन का भरता मजेदार

गाजर का लजीज हलवा

मूली के पत्ते की फायदेमंद सब्जी

पूरन पोली

राबोड़ी की सब्जी

आंवले का अचार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *