मकड़ी और जाले ज्यादा होने पर क्या करें – How to control spider And web

1844

मकड़ी  Spider हर घर में कहीं ना कहीं जरूर दिखाई दे जाती है। विशेषकर खिड़की , छत के कोने , फर्नीचर के ऊपर नीचे या ऐसी जगह जहाँ सफाई नियमित रूप से नहीं हो पाती , यह आकर जाले बना देती है।


घर में पाए जाने वाली मकड़ियां हाउस स्पाइडर कहलाती है। Makdi की कई प्रकार की प्रजातियाँ होती है। इनमे से जंगल में पाई जाने वाली कुछ मकड़ियाँ बहुत जहरीली भी होती हैं।

सामान्य तौर पर घर में पाई जाने वाली मकड़ियां जहरीली नहीं होती है। मकड़ियों के डंक मारने वाले दांत तो होते हैं जिनसे डंक मारकर वह कीट पतंगों को मार देती है लेकिन इनके दांत इंसान की त्वचा को नहीं भेद पाते। घरेलु मकड़ी का विष भी हमारे लिए ज्यादा नुकसानदेह नहीं होता है।

मकड़ियों की बहुत कम प्रजाति ऐसी होती है जिनका विष घातक हो सकता है।  इनमें ब्लेक विडो , ब्राउन रेकलुस , होबो स्पाइडर नामक मकड़ीयां खतरनाक हो सकती हैं।

नर मकड़ी एक से डेढ़ साल और मादा 6 साल तक जीवित रह सकती है। मादा नर से बड़ी होती हैं। इनके छः या आठ आँखें होती हैं। सामान्य तौर पर मादा हाऊस स्पाइडर अपने धागे से एक रेशमी थैली बनाकर उसमे लगभग   250 अंडे देती है। एक वयस्क मकड़ी अपने जीवनकाल में लगभग 4000 अंडे दे सकती है।

मकड़ियों का भोजन मक्खी , मच्छर और कीट पतंगे आदि होते हैं।

मकड़ी का जाला – Spider Web

मकड़ी के जाले घर में नजर आने का मतलब  है कि मकड़ियाँ घर में मौजूद हैं। ये अनेक जाले बना देती है। सब जाले उसके काम नहीं आते। यह अपने मुंह से पतला चिपचिपा रेशा निकालती है।

जाले का उपयोग मकड़ियां अपने लिए भोजन की व्यवस्था करने के लिए , एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए , अंडे देने के लिए तथा खुद को बचाने के लिए करती हैं।

जाले के रेशे चिपचिपे होने के कारण एक समय बाद इन पर गन्दगी और धूल जमा हो जाती है। इस वहज से मकड़ी के जाले बहुत भद्दे नजर आते हैं तथा नकारात्मक ऊर्जा महसूस कराते हैं। धूल भरे जाले देखते ही घिन आती है। घर में जाला होना अशुभ माना जाता है। मकड़ियों के जाले तुरंत साफ कर देने चाहिए।

मकड़ी का जाला कैसे साफ करें – How to clean spider web

मकड़ी का जाला बहुत नर्म होता है और झाड़ू , कपड़े या ब्रश से आसानी से साफ किया जा सकता है। ऊंचाई पर बनने वाले जालों के लिए विशेष प्रकार के लम्बे ब्रश बाजार में मिल जाते है।

झाड़ू को लम्बे डंडे या बांस पर बांध कर , इससे भी जाले साफ किये जा सकते हैं। स्थायी समाधान के लिए मकड़ी के आने और पैदा होने से रोकने के उपाय करने चाहिए।

मकड़ी आना , मकड़ी पैदा होने से रोकना , मकड़ी से छुटकारा कैसे पायें ये सब यहाँ बताया गया है। इसके अलावा -मकड़ी को मिटाने के उपाय  Makdi mitane ke upay , जाला बनने से बचने jale rokne के घरेलु तरीके आदि भी बताये गए हैं । इनकी  मदद से मकड़ी के जाले Makdi ke jale बनने बंद हो सकते हैं।

घर में मकड़ी का जाला बनने से रोकने के उपाय

Ghar me makdi jyada hone par kya kare

सफाई

मकड़ी के जाले बनने से रोकने के लिए इन्हे में ना तो घर में आने दें और ना इन्हे पैदा होने दें। इसके लिए साफ सफाई का ध्यान रखना आवश्यक है। इसके अलावा कोशिश करें कि Makdi के छुपने लायक किसी भी प्रकार की जगह नहीं हो। मकड़ियां ज्यादातर खिड़की या दरवाजे की झिरी से घुस आती हैं। इन्हे बंद करें ।

दीवार आदि में ऐसी दरारें हों तो उन्हें सीमेंट या वालपुट्टी आदि लगाकर बंद कर दें। साफ सफाई करने से जाले के साथ अंडे भी साफ हो जाते है। जिससे नई मकड़ियाँ पैदा नहीं होती और उन पर काबू रहता है।

पीपरमिंट का तेल

मकड़ियां पीपरमिंट से सख्त नफरत करती हैं। इसका उपयोग स्पाइडर को दूर करने के लिए किया जा सकता है।

पिपरमिंट के तेल से मकड़ी भगाने का तरीका :

इसके लिए तीन कप पानी स्प्रे बोतल में भर लें। इसमें एक चम्मच बर्तन धोने का लिक्विड मिला दें , इससे स्प्रे सब जगह अच्छे से हो जाता है। इसमें एक चम्मच पीपरमिंट का तेल मिला लें। बोतल को हिला कर इन्हे मिला लें।

इसे Makdi वाली जगह स्प्रे कर दें। कुछ दिन लगातार दिन में एक बार स्प्रे कर दें। स्पाइडर से मुक्ति मिल जाएगी।

पिपरमिंट के तेल में भीगी रुई दरवाजे और खिड़की के पास रखने से भी मकड़ी का आना बंद हो जाता है। पुदीना का पौधा जहॉं होता है वहां भी मकड़ी नहीं आती। अतः हो सके तो छोटे गमले में पुदीना के पौधे लगाकर रखें। आस पास स्पाइडर नहीं आएगी।

सफ़ेद सिरका

सफ़ेद सिरका और पानी बराबर मात्रा में मिलाकर स्प्रे बोतल में भरकर मकड़ी के जाले बनाने वाली जगह और उसके आने वाली जगह पर छिड़क दें। मकड़ी के छुपे होने की संभावना वाली जगह भी इसे छिड़क दें। इसे सीधा मकड़ी पर भी स्प्रे किया जा सकता है। इससे मकड़ी मर जाती है।

दिन में एक बार इसका छिड़काव कुछ दिन करने से Makdi से मुक्ति मिल सकती है। सिरका के अन्य कई घरेलु उपयोग जानने के यहाँ क्लिक करें

नींबू या संतरे के छिलके

स्पाइडर को सिट्रस चीजों की गंध नापसंद होती है। नींबू या संतरे के छिलके आदि की मदद से Makdi का आना रोका जा सकता है।

नीलगिरी का तेल

स्प्रे बोतल में पानी भरकर इसमें आधा चम्मच नीलगिरी का तेल मिला दें। इसे स्पाइडर वाली जगह स्प्रे कर दें। दरार आदि में अच्छे से स्प्रे करें।

कोने में एक दो बूँद तेल बिना पानी मिलाये डाल सकते हैं। इससे मकड़ी दूर रहती है। अलमारी की दराज में नीलगिरी की पत्तियाँ रखने से भी मकड़ी के जाले नहीं बनते हैं।

तम्बाकू

Makdi को तम्बाकू की गंध से भी उतनी ही चिड होती है जितनी नींबू या सिरके से होती है। थोड़ी तम्बाकू बिखेरने से मकड़ी वहां से तुरंत चली जाती है। इसका दूसरा तरीका यह है कि तम्बाकू को पानी में थोड़ी देर भिगो दें। इस पानी को स्प्रे कर दें। इससे Makdi नहीं आएगी।

बोरेक्स

बोरेक्स पाउडर का छिड़काव करने से Makdi समाप्त हो जाती है। इसे जाला बनने की संभावना वाली जगह तथा खिड़की दरवाजे आदि की दरारों में डालकर भी मकड़ी को दूर रखा जा सकता है।

क्या घरेलू मकड़ी काट सकती है – Spider Bite

घर में पाई जाने वाली मकड़ियों के काटने की संभावना कम ही होती है। लेकिन डर और घबराहट के कारण यह काट भी सकती है। खासकर यदि पहने हुए कपड़े में घुसने पर फंसा हुआ महसूस करे ,  उस पर पैर रखने में आ जाये , जूते पहन रहे हों और उसमे मकड़ी हो।

घरेलु मकड़ी के काटने पर ज्यादा चिंता वाली बात नहीं होती है। जलन दर्द आदि हो तो चार पांच दिन में ठीक हो जाते हैं। लेकिन यदि बहुत ज्यादा सूजन आ जाये , दर्द बहुत ज्यादा हो या तेज सिरदर्द होने लगे तो चिकित्सा आवश्यक हो जाती है।

मकड़ी काट ले तो क्या करें – Spider Bite Home Remedies

सामान्य तौर पर मकड़ी के काटने से स्किन में ललास , जलन , सूजन और हल्का दर्द हो सकता है। ज्यादातर एक सप्ताह में ठीक हो जाता है। Makdi के काटने पर कुछ सामान्य घरेलु उपचार करने से आराम मिल सकता है। जो इस प्रकार हैं –

साबुन से धुलाई

मकड़ी के काटने पर सबसे पहले कटी हुई जगह को साबुन और गर्म पानी से धो लेना चाहिए।

बर्फ

इसके तुरंत बाद बर्फ की सिकाई करनी चाहिए ताकि सूजन ना आये। यह सिकाई 10 मिनट तक रुक रुक कर करनी चाहिए। इस तरह 10-10 मिनट की सिकाई दिन में चार पांच बार करनी चाहिए।

बेकिंग सोडा

मीठा सोडा और पानी मिलाकर  गाढ़ा पेस्ट बना लें। इसे दिन में चार पांच बार कटे हुए स्थान पर लगाएं। इससे मकड़ी के काटने पर होने वाली जलन और सूजन में आराम मिलता है।

खुजलाएं नहीं

खुजलाने से जलन , सूजन और ललास बढ़ जाती है और इन्फेक्शन होने की संभावना भी हो सकती है।

चिकित्सक की मदद – Medical Help

यदि इनमे से कुछ लक्षण दिखाई पड़े तो तुरंत चिकित्सा लेनी चाहिए –

—  साँस लेने में दिक्कत महसूस होने लगे

—  काटे हुए स्थान पर बहुत तेज दर्द हो , पेट में ऐंठन हो या कटे गए स्थान पर घाव बढ़ रहा हो।

—  काटे गए स्थान पर ललास , दर्द या सूजन आदि तेजी से बढ़ रहे हो और फ़ैल भी रहे हों।

किसी किसी को मकड़ी के काटने से एलर्जी हो जाती है जो घातक हो सकती है अतः ऐसी अवस्था में तुरंत चिकित्सक से इलाज लेना चाहिए। एलर्जी होने के लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं –

—  होंठ , जीभ , गले या आँखों के पास तेजी से सूजन आ जाये

—  साँस लेने में दिक्कत हो

—  बोलने में परेशानी हो

—  तेज खुजली हो

—  चक्कर आने लगे

—  पेट में ऐंठन हो

—  बेहोशी आने लगे

किसी अन्य कीड़े के काटने या कोई इन्फेक्शन होने पर भी मकड़ी के काटने की गलतफहमी हो सकती है , अतः इस बात को भी ध्यान में रखकर विशेषज्ञ की राय ले लेनी चाहिए।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

दीमक मिटाने के घरेलु उपाय 

चूहे भगाने , बिना दवा मारने और रोकने के उपाय

कॉकरोच को घर से दूर करने के उपाय

झींगुर की आवाज कैसे बंद करें

सिरका के शानदार घरेलु उपयोग 

बिजली का बिल कम कैसे करें 

घर में ये काम आने वाले औजार जरूर रखने चाहिए 

रद्दी अख़बार के शानदार 28 उपयोग 

योग मुद्रा के चमत्कारिक लाभ और तरीके 

बन्दर काट ले या कुत्ता काट ले तो क्या करें 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here