सिर में जूं कैसे मिटायें – Head lice gharelu nuskhe

सिर में जूं Lice हो जाना एक आम समस्या है। आम भाषा में जूं को ढ़ील Dheel भी कहते है। जूं joo सिर के बालों में बहुत से अंडे दे देती है जो

सफ़ेद रंग के छोटे छोटे कण जैसे दिखते है , इन्हे लीख Nits कहते है। इसमें से चार पांच दिन में ही बच्चे निकल आते है जिन्हे सिरुइया कहते

है। ये बच्चे कुछ ही समय में बड़े होकर जूं बन जाते हैं। इस प्रकार सिर में जूं की संख्या तेजी से बढ़ती है। मेडिकल भाषा में इसे पेडिक्युलोसिस

Pediculosis कहते है।

सिर के बालों में रहने वाली जूं सिर की त्वचा से खून पीकर जिन्दा रहती है। जूं बहुत छोटा जीव होती है। इसके पंख नहीं होते। ये रेंग कर

बालों में और सिर में इधर उधर घूमती रहती है।

सिर में जूं

 

जूं अपने अंडे बाल की जड़ के पास देती है। ये अंडे लीख इतने छोटे होते हैं कि आसानी से दिखाई नहीं देते। चार पांच दिन में इनमे से बच्चे

निकलते हैं। बाल की जड़ से चौथाई इंच तक की दूरी पर मिलने वाले अंडे में से ही बच्चे निकलते हैं। इससे अधिक दूरी पर मिलने वाले अंडे से

या तो बच्चे निकल चुके होते हैं या वे मृत अंडे होते हैं।

 

जूं अपने सुई जैसे मुंह को त्वचा में घुसा कर खून चूसती है। इस प्रक्रिया में जूं त्वचा में अपनी लार डालती है जिसके कारण तेज खुजली और

जलन होने लगती है। कभी कभी तो खुजलाने के कारण सिर में घाव भी हो जाते है। जूं त्वचा के अंदर नहीं घुस पाती है। जूं से मुक्ति पाने के

लिए जूं और उसके अंडे यानि लीख दोनों का नष्ट होना जरुरी होता है। इंसान के शरीर पर तीन प्रकार की जूं हो सकती है।

 

सिर की जूं – Head lice

यह सिर में होती है। बालों की जड़ के पास यह अंडे देती है। यह अक्सर पीछे गर्दन पर या कान पर रेंगती दिखाई दे जाती है। इसी के बारे में

यहाँ विस्तार से बताया जा रहा है।

 

शरीर की जूं – Body lice

यह कपड़ों और बिस्तर में रहती हैं खून चूसने के लिए स्किन पर आती है। यह उन लोगों को होती है जो नियमित रूप से नहा नहीं पाते हैं या

जिनके कपड़े धुल नहीं पाते।

 

प्राइवेट पार्ट वाले बालों की जूं – Pubic lice

प्यूबिक जूं

यह जूं प्राइवेट पार्ट के बालों Pubic hair  में पैदा हो जाती है। कभी कभी यह छाती , दाढ़ी , मूंछ , कांख ,आइब्रो या पलकों में भी हो जाती हैं।

यह सिर में नहीं होती। यह जूं सिर्फ इंसान के शरीर पर होती है। इसे क्रेब जूं या प्यूबिक जूं भी कहते हैं।

 

सिर में जूं होने के लक्षण – Lice symptoms

 

सिर में जूं होने का सबसे पहला लक्षण होता है खुजली । स्कूल जाने वाले बच्चा यदि ज्यादा ही सिर खुजा रहा हो तो बारीकी से चेक करना

चाहिए कहीं सिर में जुएँ तो नहीं। स्कूल जाने वाली लड़कियों में इसकी संभावना अत्यधिक होती है। नन्हे शिशु यदि रात के समय ज्यादा रो रहा

हो तो सिर में जूं जरूर देख लें । शिशु के सिर में जुएँ होने पर वह अपने मुंह से थूंक के झाग निकालने लगता है। ऐसा होने पर सिर की स्किन

चेक कर लें। शिशु देखभाल सम्बन्धी अन्य जानकारी के लिए यहाँ क्लीक करें

बालों में जुएँ होने के लक्षण इस प्रकार हैं –

 

—  सिर में तेज खुजली होना।

—  बालों में हलकी हलकी सरसराहट महसूस होना।

—  गर्दन , कान के पास , सिर में , शरीर पर या कपड़े पर जूं नजर आना।

—  बालों में छोटे छोटे सफ़ेद कण यानि लीख नजर आना। इसे अक्सर रुसी या डेंड्रफ समझने की भूल हो जाती है।

—  सिर , गर्दन या कंधे पर छोटे लाल गुमड़ या दाने नजर आना।

—  रात के सोते समय सिर में ज्यादा खुजली के कारण सो नहीं पाना। अँधेरे में जूं अधिक सक्रिय हो जाती है।

 

सिर में जूं का प्रकोप होने के कारण – Cause of lice spread

 

यह बहुत छोटी होती है इसलिए इसे ढूंढना मुश्किल होता है। यह रेंग कर एक सिर से दूसरे सिर जा सकती है और वहां बढ़ती रहती है।

जूं स्कूल जाने वाले बच्चों में अधिक पाई जाती है। स्कूल में साथ में बैठने से या साथ खेलने कूदने से सिर से सिर अड़ने , भिड़ने , टच होने की

संभावना अधिक होती है। इसलिए एक से दूसरे के सिर में इनका फैलना बड़ी बात नहीं है। लड़कियों के बाल लम्बे होने के कारण यह ज्यादा

आसानी से हो जाता है अतः लड़कियों को जूं की समस्या अधिक होती है।

इसी तरह सोते समय बिस्तर या तकिये पर जूं या इसके अंडे गिर सकते है। ऐसे बिस्तर पर दूसरे व्यक्ति के सोने पर उस के सिर में जूं चढ़

जाती है और फ़ैल जाती है।  सिर से सम्बंधित सामान जूं के एक सिर से दूसरे सिर में जाने का कारण बन सकता है। जैसे कंघा , हेयर ब्रश ,

कैप , हेयर रिबन , स्कार्फ , तौलिया , कम्बल आदि को से ज्यादा लोग शेयर करते है तो इनके जरिये जूं का आदान प्रदान हो सकता है।

 

सिर में जूं मिटाने के उपाय – lice treatment

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

 

सिर में जूं होने का मतलब यह नहीं है कि बालों की सफाई का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। यह किसी को भी हो सकती है। जूं बहुत तेजी से

बढ़ती है इसलिए इन्हे मिटाने में थोड़ा वक्त लगता है। लेकिन यह विशेष प्रयासों से आसान हो जाता है। बालों में जूं फैलने पर कुछ घरेलु उपाय

अपनाकर जूं को मिटाया जा सकता है। जूं ख़त्म करने के उपाय इस प्रकार हैं –

 

कंघे आदि की सफाई

 

सबसे पहली जरुरत बालों के स्पर्श में आने वाले सभी सामान की सफाई की होती है ताकि उनमें मौजूद जूं या लीख हट जाये। इसके लिए कंघे ,

ब्रश , तथा बालों में उपयोग होने वाली हर वस्तु कुछ देर तेज गर्म पानी में डाल कर रखें। उसके बाद साबुन आदि से साफ कर लें। कुछ समय

यह सप्ताह में दो बार करें। इसके बाद बालों से जूं हटाने के लिए उपाय जो आगे दिए गये है उनका उपयोग करें।

 

लहसुन

 

लहसुन की तेज गंध से जूं का दम घुट जाता है और वह मर जाती है। इसके लिए –

—  8 -10  कली लहसुन की पीस लें। इसमें दो तीन चम्मच नींबू का रस मिला लें। यह मिश्रण सिर की त्वचा ( sculp ) में लगा लें। आधा घंटे बाद

गुनगुने पानी से धो लें। इसे सप्ताह में दो बार करें। कुछ समय में जूं से मुक्ति मिल जाएगी।

—  लहसुन का पेस्ट , नींबू का रस , कुकिंग ऑइल , थोड़ा शेम्पू और थोड़ा कंडीशनर मिला लें। यह पेस्ट बालों में लगा कर कैप पहन लें। आधा

घंटे बाद धो दें। यह प्रयोग सप्ताह में दो बार करें। जुएं मिट जायेंगी।

 

वेसलीन

 

जूं पर वेसलीन दम घोंटने वाला असर डालती है।

रात को सोते समय सिर में वेसलीन की पतली परत लगा लें। एक शावर कैप या तौलिये से सिर ढक लें। सुबह बेबी ऑइल की मदद से वेसलीन

हटा लें। इसके बाद जूं निकालने वाली कंघी करें। मरी हुई जुएं निकल जाएँगी। इसे लगातार चार पांच दिन करें। जुएं मिटाने में कामयाबी

मिलेगी।

 

नारियल का तेल और कपूर

 

कपूर के उपयोग से मक्खी मच्छर , कीड़े मकोड़े दूर होते हैं। कपूर को जूं मिटाने के लिए भी काम में लाया जा सकता है। इसके लिए 100 ml

नारियल के तेल में 20 ग्राम कपूर पीस कर मिला दें। यह नारियल का तेल सोते समय सिर में लगा लें। सुबह कंघी करके शेम्पू कर लें। सप्ताह

में तीन बार यह तेल लगाएं। इससे जुएँ मिट जाती हैं।

 

सिरका

 

सिरका हर घर में होता है। इसके कई उपयोग किये जा सकते हैं। जूं मिटाने के नुस्खे के रूप में भी इसे काम में लिया जा सकता है। इसके लिए

एक चम्मच सिरका और दो चम्मच पानी मिलाकर कॉटन की मदद से सिर में सिरका लगा लें। दो घंटे बाद शेम्पू कर लें। यह बालों से जुएँ ख़त्म

करता है। सिरके के दूसरे काम के उपयोग जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नमक और सिरका

 

नमक कीड़े मकोड़े समाप्त करने में प्रभावी होता है। नमक को सिरका और पानी के मिश्रण में मिलाकर सिर में लगाकर दो घंटे रखें फिर सिर

धो लें। इसे सप्ताह में दो बार लगाएं। कुछ ही समय में सिर में जुओं की परेशानी समाप्त हो जाएगी।

 

प्याज का रस

 

प्याज को पीस कर इसका रस निकाल लें। इसे रुई की सहायता से सिर में लगाकर शावर कैप पहन  लें। आधा घंटे बाद शेम्पू करके बाल धो

लें। यह जूं को मारने का घरेलु नुस्खा कामयाब रहता है।

 

नीम का तेल और तुलसी के पत्ते

 

तुलसी के कुछ पत्ते पीस कर नीम के तेल में मिला लें। इसे सिर में आधा घंटे के लिए लगा कर शावर कैप पहन लें। शेम्पू कर लें। यह जुएं ख़त्म

करने का तरीका काम करता है। ध्यान रहे यह आँखों में नहीं जाना चाहिए।

 

सीताफल के बीज

 

सीताफल जितना मीठा और स्वादिष्ट होता है उसके बीज उतने ही विषैले होते हैं , लेकिन पीसने के बाद। सीताफल के बीज पीस कर बेसन में

मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे सिर की त्वचा पर 15-20  मिनट लगा कर शेम्पू कर लें। इससे सिर की जुएँ मर कर बाहर निकल जाती हैं। इसे

लगाते समय सावधानी रखें यह आँख या मुंह में नहीं जाना चाहिये।

 

काली मिर्च और दही

 

आधा कप दही में 8 -10 काली मिर्च पीस कर मिला दें। इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिला लें। यह मिश्रण सिर में लगा लें। 20 मिनट बाद

शेम्पू कर लें। इससे रुसी भी मिटती है और जूं भी समाप्त होती है।

 

क्लीक करके इन्हे भी जानें और लाभ उठायें।

 

बालों में मेहंदी कैसे लगायें ताकि फायदा मिले 

हेयर कलर कितनी तरह के , कौनसा लगायें 

बाल सफ़ेद होने से कैसे बचायें 

हेयर स्पा के लिए हेयर मास्क लगाने का तरीका 

दाग धब्बे झाइयां मिटाने के घरेलु उपाय 

ब्लैक हेड मिटाने के तरीके

आँखों को स्वस्थ और सुन्दर बनाने के उपाय 

स्पेशल मेनिक्योर चॉकलेट फ्रूट हर्बल 

मेनिक्योर घर पर करें हाथों की सुन्दरता बढ़ाएं 

नाख़ून स्वस्थ और सुन्दर बनाने के तरीके 

हेयर स्पा घर पर कैसे करें 

बाल गिरना रोकने के घरेलु नुस्खे 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *