आँखों को सुन्दर और स्वस्थ कैसे बनायें – Eyes Care Tips

302

आँखें eyes सिर्फ देखने भर के लिए नहीं है। आँखों से दिल , दिमाग , शरीर सब कुछ जुडा होता है।  ख़ुशी , गम , डर ,आश्चर्य , शक , आदि भावनाएं आँखें eyes दर्शा देती है। आइये जानें आँखों का ध्यान कैसे रखें।

आँखों से दिल में उतरना सभी ने सुना होगा और ये सच भी है। ये हमारे आत्म विश्वास का आइना है। आँखों eyes से चेहरे की सुंदरता पर बहुत फर्क पड़ता है। सुंदर आँखे मन मोह लेती है। दिल की भावनाएं आँखों के आंसू से अच्छा कौन बता सकता है।

eye

यदि आँखों की देखभाल सही तरीके से की जाये तो ये उम्र भर साथ देती है।आपका चेहरा आत्म विश्वास और स्वास्थ्य से भरा नजर आता है। इसके लिए थोड़ा समय आँखों eyes की देखभाल को जरूर देना चाहिए ताकि उम्र भर इनका आनंद उठा सके।

आँखों का ध्यान रखने के उपाय – Care of Eyes

कृपया ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके बारे में विस्तार से जानें। 

—  आँखें बहुत कोमल होती है इन्हे तेज धूप , धूल – मिट्टी , धुआं आदि से बचाना चाहिए। धूप में अल्ट्रा वॉयलेट किरणे आँखों ( eyes ) के लिए बहुत नुकसान देह होती है। इसके लिए अच्छी क़्वालिटी के गॉगल्स पहन कर बचाव किया जा सकता है।

—  बादाम , सौंफ और कुंजा मिश्री बराबर मात्रा में लेकर बारीक पीस लें। इस मिश्रण को एक चम्मच सुबह एक चम्मच शाम को दूध के साथ लें। ये आँखों के लिए अमृत है। लगातार एक महीने लेने से शुरुआती कम नंबर का चश्मा भी उतर जाता है।

—  पौष्टिक और विटामिन ” A ” से भरपूर चीजें खानी चाहिए। जैसे गाजर , शकरकंद , काशीफल कददू , आम, पपीता आदि।

—  आँखों को दिन में चार पांच बार ठन्डे पानी से छींटे मारकर धोना चाहिए।

—  अाँखे झपकाना कम नहीं होना चाहिए अन्यथा सूखापन होकर आँखों में जलन हो सकती है।

—  लगातार घंटो तक आँखों के उपयोग से थकान हो जाती है। इन्हे बीच में रेस्ट जरूर देना चाहिए।

—  शहद आँखों के लिए बहुत अच्छा होता है। शुद्ध शहद सलाई से सप्ताह में दो बार लगाने से आँखें स्वस्थ रहती है। या एक एक बूँद शहद आँखों में डालें। शहद शुद्ध व स्वच्छ होना जरुरी है।

—  गाजर का जूस आँखों ( eyes ) के लिए अच्छा होता है। सीजन में अवश्य पीना चाहिए।

—  अाँखों के नीचे काले घेरे हो तो ककड़ी का रस तीन चार बार लगाना चाहिए और ककड़ी रोज खानी चाहिए। रस आँखों में नहीं जाना चाहिए।

—  लेट कर बुक्स या मोबाइल पर पढ़ाई नहीं करनी चाहिए । पढ़ने के लिए आँखों ( eyes ) से किताब या स्क्रीन की दूरी डेढ़ से दो फुट की होनी चाहिए।

—  आँखों की एक्सरसाइज करनी चाहिए ताकि आँखें स्वस्थ रहें।

—  आँख में गुहेरी  ( eye sty ) हो गई हो तो उसका उपचार करना चाहिए।

—  यदि नंबर वाला चश्मा बनवा रहे हों लेंस किस प्रकार का लगवाना चाहिए जानने के लिए यहाँ क्लिक करें। आजकल कॉन्टैक्ट लेंस का चलन बहुत हो गया है क्योकि अब ये उच्च तकनीक वाले , आरामदेह , कम कीमत के और आसानी से लगाए जा सकने वाले आने लगे है।

कॉन्टैक्ट लेंस के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

इन्हें भी जाने और लाभ उठायें :

आँखों के काले घेरे मिटाने के उपाय / कब्ज के घरेलु नुस्खे /  देसी नाप तोल सेर छटाँक बीघा / बादाम का हलवा /पेट में कीड़े / गन्ने का रस / व्रत और पूजन की सम्पूर्ण विधियॉं / गुलकंद / अदरक पाचक / मक्खी /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here