फूलगोभी के फायदे उठायें आई क्यू लेवल बढ़ायें – Cauliflower

फूलगोभी Cauliflower सर्दी में आने वाली एक लाभदायक पौष्टिक सब्जी है। दुनिया भर में इसे बड़े चाव से खाया जाता है। अधिकतर यह सफ़ेद रंग में दिखाई पड़ती है पर यह अन्य रंग जैसे बैगनी या ऑरेंज कलर में भी उपलब्ध हो (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

चूहे भगाने , बिना दवा मारने और रोकने के उपाय – Keep Mouse Away

चूहे Mouse घर में घुस जाये तो परेशान करके रख देते हैं। कपड़े , किताबें , फर्नीचर , खाने पीने का सामान आदि किसी भी चीज को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इन्हे घर में इधर उधर दौड़ते देख बड़ी हैरत होती है। जगह (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

गुस्सा ज्यादा आने के कारण और काबू करने के उपाय – Anger Reasons and control

गुस्सा Gussa  या क्रोध हमारी भावनाओं का एक हिस्सा है। यह गलत व्यवहार के प्रति विरोध की भावना है। गुस्सा आना अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी। मनोविज्ञान के अनुसार सप्ताह में एक दो बार ऐसा हो तो  सामान्य होता है। (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

सिंघाड़े के आटे का हलवा – Singhare ke aate ka halwa

सिंघाड़े का हलवा Singhade ka halva सूखे सिंघाड़े को पीस कर उस आटे से बनाया जाता है। सिंघाड़े के आटे से अन्य कई व्यंजन बनाये जा सकते हैं। जैसे  सिंघाड़े के आटे हलवा singhade ke aate ka halwa , सिंघाड़ा कतली singhara Katli , सिंघाड़े (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

खटमल से बचने के घरेलु उपाय – Bed Bugs home remedies

खटमल एक छोटा सा जीव है जो खून पीकर जिन्दा रहता है। यही इसका भोजन या खुराक है। इसे इंसानो का खून पसंद होता है लेकिन ये जानवर या पक्षी के खून से भी काम चला लेता है। इसका साइज  5 -7 mm (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

पुरुष के शुक्राणु की जाँच और अंडे से मिलना

पुरुष के वीर्य में स्खलन के समय करोड़ों की संख्या में शुक्राणू  होते है लेकिन गर्भधारण के लिए मात्र एक शुक्राणु ही काफी होता है। एक स्वस्थ और मजबूत शुक्राणू  ही महिला के अंडे तक पहुँच कर उसे निषेचित कर पाता है। करोड़ों शुक्राणू  में (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

डस्ट माइट से एलर्जी क्यों क्या और कैसे – Dust Mites and allergy

डस्ट माइट Dust Mites के नाम से ऐसा लगता है जैसे ये बाहर धूल मिट्टी में रहने वाले कीड़े हों लेकिन असल में ये घरों में रहने वाले जीव हैं। ये इतने छोटे होते हैं ( लगभग 0 .3  mm ) कि इन्हे देखने (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

रद्दी पुराने अख़बार के 28 शानदार उपयोग – Uses of old news paper

पुराने अख़बार इकट्ठे होते चले जाते हैं। सुबह अख़बार पढ़ने से ताजा समाचार मिल जाते हैं जो सारे संसार से जुड़े रहने का आभास होता है। इससे एक अलग ही ख़ुशी मिलती है। बुजुगों के लिए यह बहुत अच्छा टाइम पास (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

काले चने बनाने की विधि नवरात्री वाले – Kale Chane ki recipe

काले चने kale chane सब्जी या स्नेक्स की तरह खाये जा सकते हैं। नवरात्री में काले चने और सूजी का हलवा बना कर माता को भोग लगाया जाता है। ये बच्चों को भी बहुत पसंद आते हैं। प्रोटीन , विटामिन और खनिज (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

दाद खाज मिटाने के आसान घरेलु नुस्खे – Ringworm ke Gharelu nuskhe

दाद Ringworm त्वचा पर होने वाली एक आम बीमारी है। इसे रिंगवर्म कहते है लेकिन यह किसी वर्म worm  यानि कीड़े के कारण नहीं होता है। चिकित्सा की भाषा में इसे टिनिया Tinea कहा जाता है। यह एक फंगल इन्फेक्शन है जो नमी वाले (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

सूजी का हलवा स्वादिष्ट बनाने की विधि – Suji ka halwa

सूजी का हलवा  Suji ka halwa जल्दी बनने वाली एक अच्छी मिठाई है। इसे बनाना भी आसान है। नवरात्रि में दुर्गा माता को सूजी के हलवे का भोग लगाया जाता है। इसके अलावा  Suji ka halwa पूजा के कई अवसरों पर जैसे दशहरा (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

मलेरिया के लक्षण कारण और बचाव – Malaria cause symptom and prevention

मलेरिया Malaria बहुत पुराने रोगों में से एक है। यह एक घातक रोग है जो एनॉफिलीज नामक मच्छर के कारण फैलता है। इस मच्छर में मलेरिया के जीवाणु हो सकते हैं जो प्लाज्मोडियम Plasmodium कहलाते हैं । इंसान भी इस जीवाणु का वाहक (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

मोतियाबिंद की परेशानी और इससे छुटकारा – Cataract and visibility

मोतियाबिंद Cataract की समस्या सामान्यतया 55  वर्ष या अधिक उम्र में होती है। यदि इस उम्र में आँखों से अजीब सा धुंधलापन दिखाई दे तो यह मोतियाबिंद हो सकता है। इसे आँखों में जाला आना या सफ़ेद मोतिया भी कहते हैं। विश्वभर में (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

आलू का चिल्ला व्रत के लिए झटपट – Potato chilla instant

आलू का चिल्ला aaloo ka chilla  तुरन्त बनने वाला नाश्ता हैं। व्रत में खाये जा सकने वाले आहार में से एक स्वादिष्ट व्यंजन है। क्रिस्पी आलू का चिल्ला व्रत में दही , सागारी धनिया चटनी या टमाटर की चटनी के साथ खा सकते (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

शुक्राणु की कमजोरी के कारण – Weakness Reasons

शुक्राणु नए सृजन यानि संतान की उत्पत्ति के लिए आवश्यक होते है। महिला की ओवरी से निकले अंडे तथा शुक्राणु के मिलने से , गर्भधारण होकर बच्चे का जन्म होता है। जो लोग संतान प्राप्त करना चाहते हैं या कोशिश करने के बाद (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

कांटेक्ट लेंस के फायदे रख रखाव और सावधानी – Contact Lens Benifits and Care

कांटेक्ट लेंस Contact Lens चश्मे का बहुत अच्छा विकल्प है। यदि चश्मा नहीं लगाना चाहते तो कांटेक्ट लेंस लगाए जा सकते हैं। शुरू में कोन्टेक्ट लेंस लगाने की प्रक्रिया हैरत भरी लग सकती है। लेकिन एक बार इनका उपयोग करना सीख (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

साबूदाना खिचड़ी खिली खिली बनाने की विधि – Sabudana Khichdi Vidhi

साबूदाना खिचड़ी Sabudane ki khichdi व्रत के समय पसंद किये जाने वाले फलाहार में सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। साबूदाना कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है इसलिए इसे खाने से व्रत के समय कमजोरी महसूस नहीं होती साथ ही इसमें मूंगफली दाना होने (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

मुख मैथुन और इससे होने वाली समस्याएँ – Oral and problems

यौन सम्बन्ध में पुरुष व महिला एक दूसरे के साथ कई प्रकार की शारीरिक क्रियाएं करते हैं। ज्यादा उपयोग में आने वाली क्रियाओं में चुम्बन के आदान प्रदान का महत्वपूर्ण स्थान होता है। यह प्रेम प्रदर्शित करने का उचित माध्यम होता है। प्रेम की (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

जल झुलनी वामन एकादशी – Jal Jhulani Vaman Ekadashi

जल झुलनी एकादशी Jal Jhulni Ekadashi एक बड़ी एकादशी मानी जाती है। भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी जलझूलनी एकादशी होती है। इसे वामन एकादशी Waman Ekadashi, डोल ग्यारस Dol gyaras, परिवर्तनि एकादशी Parivartani Ekadashi, तथा पद्मा एकादशी Padma Ekadashi, (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

सूखी और बलगम वाली खांसी के घरेलु उपाय – Khansi ke Gharelu Nuskhe

खांसी , छींक , उबासी आदि शरीर की स्वाभाविक क्रियाऐं हैं। खांसी शरीर की सुरक्षा प्रणाली का एक रूप है। जब गले में या फेफड़ों में कोई रूकावट आ जाती है तो खांसी चलती है जिसमे फेफड़ों से तेजी से हवा (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

किशमिश रोजाना खाने से क्या लाभ होते हैं – Raisins Benefits

किशमिश Raisins का मेवों में एक महत्त्वपूर्ण स्थान होता है। बच्चे भी इन्हे बहुत पसंद करते है। कई प्रकार के भोजन में इनका उपयोग किया जाता है। विशेषकर मिठाई में इन्हे डाला जाता हैं। सूजी का हलवा , खीर तथा और (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

चश्मा कब कौनसा पहने और लेंस कैसा लगवायें – Specs and lenses

चश्मा शौकिया तौर पर भी लगाया जाता है और साफ दिखाई देने के लिए भी। फैशन और स्टाइल के लिए चश्मा लगाने का चलन बहुत पुराना है। यह व्यक्तित्व निखारने का काम तो करता ही है , साथ ही आँखो की रक्षा भी (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

पीपल के पेड़ की पूजा विधि और महत्त्व – Peepal Tree Pooja

पीपल का पेड़ Peepal tree सदियों से पूजनीय माना जाता है। शास्त्रों में पीपल की जड़ में ब्रह्मा , तने में विष्णु और शाखाओं में शिवजी का वास बताया गया है।  गीता में भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं को वृक्षों में पीपल (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

बेसन के लड्डू बनाने की विधि – Besan ke laddu

बेसन के लड्डू Besan ke laddu गणेश जी को भोग लगाने के लिए बनाये जाते हैं। गणेश जी को लाडू प्रिय होते हैं। गणेश चतुर्थी पर  विशेष रूप से बनाये हैं। अन्य त्यौहार जैसे दिवाली वगैरह पर भी इन्हे बनाया जा (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

मशरूम खाने के फायदे और नुकसान – Mushroom Benefits and caution

मशरूम Mushroom सब्जी की तरह खाने में काम लिया जाता है। इसे कुम्भी Kumbhi भी कहा जाता है। बारिश के मौसम में यह अपने आप उग आते है। यह एक प्रकार की फंगी Fungi यानि कवक है। इसे कुकुरमुत्ता भी कहा (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

ऋषि पंचमी की कहानी – Rishi Panchami ki kahani

ऋषि पंचमी की कहानी व्रत के समय कही और सुनी जाती है। ऋषि पंचमी के दिन सप्तऋषि की पूजा की जाती और व्रत किया जाता है। महेश्वरी समाज में राखी मनाई जाती है। पूजा और व्रत किये जाते है तथा ऋषि पंचमी की (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

हरतालिका तीज का व्रत पूजन और कहानी – Hartalika Teej

हरतालिका तीज का व्रत भाद्रपद महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि के दिन किया जाता है। इस दिन ही पार्वतीजी ने महान तप करके शिवजी को प्राप्त किया था। माना जाता है की इस व्रत को करने से कुँवारी लड़कियों को मनचाहा (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

इल्ली घुणिया की कथा – illy ghuniya ki kahani

इल्ली घुणिया की कथा कार्तिक महीने में कही और सुनी जाती है। व्रत में कहानी कहने और सुनने से व्रत का सम्पूर्ण फल प्राप्त होता है।   इल्ली घुणिया की कथा   एक इल्ली थी और एक घुणिया था। इल्ली बोली (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

कार्तिक की कथा – Kartik ki katha

कार्तिक की कथा कार्तिक मास में व्रत के समय कही और सुनी जाती है। यह महीना धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। कार्तिक मास में बहुत से बड़े व्रत और त्यौहार जैसे करवा चौथ , दिवाली , तुलसी विवाह आदि आते है। इन (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )

कार्तिक स्नान का महत्त्व लाभ और तरीका – Kartik Snan

कार्तिक स्नान कार्तिक महीने की एक मुख्य धार्मिक परंपरा है। कार्तिक मास धार्मिक कार्य के लिए बहुत शुभ महीना होता है। इस महीने में कई मुख्य त्यौहार आते हैं जैसे करवा चौथ , तुलसी विवाह , दिवाली , कार्तिक पूर्णिमा आदि। इस मास (……यहाँ क्लीक करके पूरा पढें )