अनार के फायदे , पोषक तत्व तथा घरेलु नुस्खे – Pomegranate Benefits

1022

अनार Pomegranate  से हम सभी परिचित है। यह लगभग हमेशा मिलने वाला लाभदायक फल है। यह बीमारी के कारण होने वाली कमजोरी दूर करता है तथा पाचन क्रिया को स्वस्थ बनाये रखता है। इसे दाड़िम भी कहते हैं।

अनार के नाम से कहावत भी मशहूर है  ” एक अनार सौ बीमार ” । इसके लाल दाने जितने दिखने में तो सुन्दर होते है उतने ही लाभदायक भी होते हैं। दानों का उपयोग किसी भी डिश को सजाने के लिए किया जा सकता है।

अनार के दाने पर बाहर रस होता है तथा अंदर कड़क बीज होता है। इसका दाना बीज सहित खाया जा सकता है। अनार के रस का उपयोग भी बहुत लाभदायक होता है।

अनार

अनार के विटामिन व खनिज  – Pomegranate Nutrients

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

अनार में विटामिन C , विटामिन A , विटामिन K , फोलिक एसिड ( आयरन ) ,  मैग्नेशियम , पोटेशियम , फास्फोरस , और विटामिन बी काम्प्लेक्स प्रचुर मात्रा में होते है। अनार में प्यूनिकेलेजिन नामक ताकतवर एंटीओक्सिडेंट होता है जो फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाता है। जिससे हृदय रोग तथा कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा कम होता है।

इसके अलावा अनार दानों में प्यूनिसिक एसिड नामक तत्व भी हृदय रोग से बचाने में सहायक होता है। Anar शरीर को ऐसे नाइट्रेट देता है जो शारीरिक शक्ति में बढ़ोतरी करते हैं। अनार में पाए जाने वाले फीटो केमिकल्स ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होते हैं।

अनार के फायदे – Pomegranate Benefits

—  अनार  एक ऐसा फल है जिसे रोगी को भी दिया जा सकता है । यह थकान और कमजोरी , चक्कर आना आदि को मिटाता है।

—  खून की कमी दूर करता है।

—  पाचन में सहायक होता है।

—  स्मरण शक्ति , दिमागी शक्ति व चुस्ती फुर्ती बढाता है।

—  जिन बच्चों का विकास सही ढंग से नहीं हो  रहा हो या कमजोर बने रहते हो उन्हें नियमित रूप से  Anar  खिलाने से फायदा होता है।

—  यह दिल के रोगों में गुणकारी होता है।

—  मुँह और गले के रोगों में भी यह बहुत हितकारी होता है।

—  डायबिटीज से होने वाले नुकसान से बचाता है विशेषकर हृदय को।

—  यह नसों को लचीला बनाये रखता है तथा कोलेस्ट्रॉल जमने से रोकता है।

—  माहवारी के समय होने वाले तनाव और डिप्रेशन को कम करता है। मेनोपॉज़ के बाद होने वाले डिप्रेशन में भी अनार के नियमित सेवन से लाभ होता है।

—  अनार  रक्त वर्धक होने के साथ रक्त का संचार भी बढाता है।

—  यह आमाशय की जलन , पेशाब की जलन , जी घबराना  , खट्टी डकार , ज्यादा प्यास आदि परेशानियों में लाभदायक होता है।

—  तिल्ली और लीवर की कमजोरी , संग्रहणी , उलटी दस्त , आदि  Anar  खाने से ठीक हो जाते है।

—  अनार शरीर के अम्लीय तत्वों को निकालकर  स्किन में निखार पैदा करता है । स्किन को जवान और सुन्दर बनाने के लिए Anar का सेवन जरुर करना चाहिए। नियमित रूप से  Anar  खाने से स्किन में कभी भी झुर्रियां नहीं होती।

—  फल के साथ ही  Anar  के पत्ते और अनार का छिलका भी बहुत से घरेलु नुस्खे में काम आते है।

अनार के घरेलू नुस्खे – Anar Ke Gharelu Nuskhe

Anar se gharelu upchar

अनिद्रा  ( Neend Nahi Aana )

अनार के ताजे पत्ते लगभग एक कप दो गिलास पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाये तो छान लें। इसमें एक कप दूध स्वाद के अनुसार चीनी मिलाकर पीयें। शरीर और दिमाग की हर तरह की थकान मिट जाएगी और अच्छी नींद आएगी। अनिद्रा दूर होगी। सुकून भरी नींद सोने के उपाय जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

सौन्दर्य ( Beauty )

अनार के छिलकों को सुखाकर , बारीक पीस कर , गुलाब जल के साथ मिक्स करके उबटन की तरह लगाने से सुन्दरता निखर आती है। स्किन के सभी प्रकार के दाग धब्बे और झाईयां  ठीक हो जाते है।

दांतों के लिए ( Strong Teeth )

अनार के फूल छाया में सुखाकर बारीक पीस लें। इनसे सुबह शाम मंजन करने से मसूड़ो से खून निकलना ठीक हो जाते है और दांतों का हिलना भी ठीक हो जाता है। अनार के सूखे पत्तों का मंजन भी दांतों के लिए बहुत गुणकारी होता है।

Anar  के पिसे छिलके पानी में उबालकर इस पानी से कुल्ला करने से मुँह की बदबू , मुँह से पानी गिरना ठीक होता है और मुँह के छाले ठीक हो जाते है।

सिर का गंजापन ( Hair Loss )

अनार के ताजे पत्ते लगभग एक पाव पीस लें। इनको एक गिलास पानी में उबलने के लिए रखें। जैसे ही पानी उबलने लगे इसमें 100 ml सरसों का तेल ड़ाल दें। अब तब तक उबालें जब तक कि सारा पानी उड़ जाये और सिर्फ तेल बचे। ठंडा होने पर छान लें।

इस तेल की रात को रोज एक महीने तक मालिश करने से बाल झड़ने बंद होते है और गंजे सिर पर भी बाल उग आते है।

दस्त ( Loose Motion )

अनार को भून लें। इसके दानो का रस निकाल लें। इसमें शहद मिलाकर पीयें। इससे हर प्रकार के दस्त ठीक होते है। पेचिश और संग्रहणी के लिए दो चम्मच Anar  के सूखे छिलकों का पाउडर और दो लौंग पिसी हुई एक ग्लास पानी में तीन चार मिनट उबाल  लें। फिर छानकर पी लें। दिन में दो बार नियमित लेने से आराम मिलता है।

हाजमा ( Digestion )

खाना खाने की इच्छा नहीं होती , खाना पचता नहीं हो , भूख नहीं लगती हो तो ये चूर्ण घर पर बना कर रखें। बहुत स्वादिष्ट और लाभकारी होता है।

अनारदाना    –    100  ग्राम

काली मिर्च    –     25  ग्राम

कलौंजी        –    25  ग्राम

जीरा            –   25  ग्राम

सेंधा नमक   –      25  ग्राम

इन सबको मिलाकर पीस लें। खाना खाने के बाद  दो चम्मच  ये चूर्ण गरम पानी से लेने से गैस पेटदर्द , हाजमे की व पेट की सभी प्रकार की तकलीफ दूर होती है।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें

आमपपीता / संतरा  / अमरुद  / सीताफल  / बील  / सेब  / आंवला  जामुन / केला  / नाशपति / बादाम /   अखरोट /  अंजीर पिस्ता काजू खजूर /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here