आँख की फुंसी गुहेरी का उपचार – Gharelu Nuskhe For Eye Sty

27592

आँख की फुंसी जिसे अंग्रेजी में Eye Sty कहते है , आँख की पलकों पर बाहर की तरफ या अंदर की तरफ हो जाती है । ज्यादातर यह फुंसी बाहर की तरफ होती है। आम बोलचाल में इसे गुहेरी Guheri कहते है।

इस फुंसी में दर्द होता है , सूजन होती है। पलक झपकाना मुश्किल हो जाता है। कई बार इससे आँख में खुजली या जलन भी होती है। तेज रोशनी से दिक्कत होने लगती है।

फुंसी के बीच पीले रंग में पस भी नजर आ सकता है। फुंसी से कुछ पानी भी निकल सकता है। इसे आँख में बिलनी aankh me Bilni  के नाम से भी जाना जाता है।


गुहेरी

आँख में फुंसी होने का कारण – Eye sty reasons

आँख की पलक में छोटी छोटी तेल ग्रंथियां होती है। यह ग्रंथियां डेड स्किन , धूल मिट्टी , या काजल आदि के कारण बंद हो जाती है। इसके कारण वहाँ बेक्टिरिया पैदा हो जाते है। इस वजह से सूजन होने लगती है। यह एक फुंसी का रूप ले लेती है। यही आंख की गुहेरी होती है।

साधारणतया सात आठ दिनों में ये ठीक हो जाती है। ये बढ़े नहीं इसका ध्यान रखना चाहिए।

हार्मोन के बदलाव , तनाव और साफ सफाई का ध्यान नहीं रखने के कारण भी आँख में फुंसी हो सकती है। एक बार में एक या एक से अधिक फुंसी भी ही सकती है।

कृपया ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते है ।

आँख की फुंसी गुहेरी का घरेलु इलाज – Gharelu Nuskhe for Eye Sty

aankh me phunsi theek kaise kare , aankh ki bilani ,aankh me bilauni

—  गर्म पानी में साफ सूती कपड़े को भिगोकर नीचो लें। इससे गुहेरी की सिकाई करें। दिन में तीन चार बार इस प्रकार सिकाई करने से बहुत आराम मिलता है। सुजन और दर्द कम हो जाते है।

—   इमली  के बीज को दो दिन तक पानी में भिगोकर छिलका निकाल दें। इस छिलका निकले हुए इमली के बीज की गिरी को चंदन की तरह घिस कर गुहेरी ( eye sty ) पर लगाएं। इससे आश्चर्य जनक फायदा होता है । इससे आँख की फुंसी ( aankh ki funsi) ठीक हो जाती है।

इमली का खाने के लिए उपयोग फायदेमंद होता है या नुकसान दायक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

—  सीधे हाथ की तर्जनी अंगुली बाईं हथेली पर तेजी से घिसें । गर्म होने पर अंगुली फुंसी पर रखें।

यह क्रिया बार बार ( 15 -20 बार ) करने से आँख में फुंसी ठीक हो जाती है। दिन में चार पांच बार इसे करें।

अंगुली की मदद से योग मुद्रा बनाई जाती है जो बहुत फायदेमंद होती है। ये बहुत आसान और लाभदायक हैं। इन्हे कैसे बनाते हैं और इसके क्या फायदे होते हैं ,जानने के लिए यहाँ क्लीक करें

—  गर्म पानी में थोड़ी हल्दी मिलाकर इस पानी से कपड़े की मदद से सिकाई करने से आँख फुंसी ठीक होती है।

—  ग्वारपाठे  Aloe Vera  का गूदा फुंसी पर दिन में तीन चार बार लगाने से गुहेरी का दर्द व सूजन मिटकर गुहेरी ठीक हो जाती है।

—  एक कप पानी में अमरुद के चार पाँच पत्ते डालकर उबाल लें। गुनगुना रहने पर इस पानी में साफ कपड़ा भिगोकर इससे सिकाई करें।

दिन में दो तीन बार इस प्रकार सिकाई करने से आँख की फुंसी ठीक होती है।

—  बार बार आँख पर फुंसी हो जाती हो तो त्रिफला चूर्ण आधा चम्मच सुबह शाम एक सप्ताह तक दूध के साथ लें। आँख पर फुंसी होना बंद हो जायेगी । त्रिफला चूर्ण की सम्पूर्ण जानकारी के लिए यहाँ क्लीक करें

 गुप्तांग की सफाई नहीं करने पर भी आँख पर बार बार फुंसी हो जाती है। अतः गुप्तांग को नहाते वक्त अच्छे से धोकर साफ करना चाहिए।

लिंग के अगले हिस्से शिश्न मुंड head की स्किन के नीचे की सफाई विशेष कर जरुरी होती है। शिश्न मुंड की सफाई नहीं करने से स्वप्नदोष भी हो सकता है तथा शीघ्रपतन की समस्या भी हो सकती है।

—  आँख की फुंसी ( eye sty ) को मसलना नहीं चाहिये। फुंसी को फोड़ने या पस निकालने की कोशिश भी नहीं करनी चाहिये। मसलने या फोड़ने से इन्फेक्शन होकर समस्या बढ़ सकती है।

—  फुंसी ( eye sty ) को आँख के मेकअप जैसे मस्कारा , आई लाइनर , आई शेडो आदि से छुपाने की कोशिश नही करनी चाहिये । मेकअप के सामान से इन्फेक्शन बढ़ सकता है। पुराना हो चुका आँख के मेकअप का सामान भूल कर भी काम में ना लें।

—  आँख में फुंसी होने पर कांटेक्ट लेंस नहीं पहनने चाहिए। लेंस की बजाय चश्मा काम में लेंना चाहिये । आराम रहेगा।

—  तीन महीने से ज्यादा पुराना आँखों के मेकअप का सामान यूज़ नहीं करना चाहिये। ये इन्फेक्शन की वजह बन सकता है।

—  मानसिक तनाव गुहेरी का कारण हो सकता है। एग्जाम के समय छात्रों  को अकसर ये परेशानी हो जाती है। टेंशन करने के बजाय अपने दिमाग की ताकत बढ़ाने की कोशिस करनी चाहिए।  दिमागी ताकत बढ़ाने के घरेलु नुस्खे के लिए  यहाँ क्लीक करें। रिलैक्स होना सीखें। खुशहाल रहना सीखें

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

कौनसे स्पेशलिस्ट डॉक्टर को दिखाएँ

क्या भैस का दूध नुकसान करता है 

गोंद के लड्डू बनाने का सही तरीका 

मेथी के लड्डू बनाकर सर्दी में ऐसे खायें 

सूर्य नमस्कार कैसे करें क्या मन्त्र बोलें साँस कैसे रखें 

 

आँखों में काजल लगाना क्या इतना नुकसानदायक है  

अरारोट क्या है , कैसे बनता है और फायदे नुकसान 

कीटो डाइट खाने से वजन कम बिना एक्सरसाइज कैसे

कच्ची हल्दी की स्पेशल सब्जी रेसिपी 

कच्ची हल्दी का अचार कैसे बनायें 

 

रुद्राक्ष के फायदे और असली नकली की पहचान 

शादी के समय पारी पत्नी कयवाचन देते हैं 

अंगुली चटकाने से गठिया हो जाता है क्या 

सूर्य जल चिकित्सा के फायदे और तरीका 

पैर की नसें क्योंफूलती है और क्या करें 

1 COMMENT

  1. धन्यवाद। आपके द्वारा दी गई जानकारी लाभदायक रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here