आँखों के लिए घरेलु नुस्खे व उपाय – Home remedies for eyes

2620

आँखों के लिए घरेलु नुस्खे और उपाय अपनाकर आँखों को स्वस्थ और सुन्दर रखा जा सकता है। आँखों का ध्यान रखने पर आँखें जीवन भर आपका साथ दे सकती हैं। आँख दिमाग के बाद शरीर की सबसे जटिल संरचना है।

आँखों से देखने समझने की प्रक्रिया इतनी जटिल है की दिमाग का लगभग आधा हिस्सा इसमें जुटा रहता है। आँख का लगभग सिर्फ 15 % हिस्सा हमें दिखाई देता है बाकि हिस्सा अंदर की तरफ होता है। प्रकृति ने आँखों की सुरक्षा के लिए पूरी व्यवस्था की है।

पलकें आँख की सुरक्षा का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। पलक झपकने में एक सेकंड का भी दसवाँ हिस्सा लगता है। ये शरीर की सबसे फुर्तीली मांसपेशी है। बरौनियां ( Eye Leshes ) भी आँख की सुरक्षा से जुड़ी है।

दुनिया का कोई भी कैमरा कुदरत के इस शानदार कैमरे का मुकाबला नहीं कर सकता । जो प्रकृति का हर सुन्दर रंग , आकार , बनावट , दूरियां , नजदीकियाँ , गहराइयाँ , भावनाएं आदि हर चीज़ को हर कोण ( Angle ) से हमें दिखाने में सक्षम हैं।

इस खूबसूरत दुनिया को देखने के अलावा आँखों का हमारे चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने में भी बड़ा योगदान होता है। जब प्रकृति ने हमे इतना अनमोल उपहार दिया है तो हमें इसे सहेजना चाहिए और उसका दुरूपयोग नहीं करना चाहिए। थोड़ी सी सावधानी और देखभाल करके हम इसका उम्र भर आनंद उठा सकते है।

आजकल कम्प्यूटर और मोबाइल का उपयोग बहुत बढ़ गया है। इसकी वजह से कंप्यूटर विजन सिंड्रोम नामक बीमारी भी बहुत बढ़ गई है।

इससे आँखों को बचाएँ।  इस बीमारी की जानकारी और बचाव के लिए पढ़ें — कंप्यूटर विजन सिंड्रोम से कैसे बचें 

आँखों की 80 % समस्या से बचा जा सकता है या ये ठीक  हो सकती है। इसके लिए हमें आँखों को स्वस्थ रखने के तरीकों की जानकारी अवश्य होनी चाहिए । आँखों के लिए क्या खाएँ , क्या ना खायें। किस प्रकार की सावधानी रखनी चाहिए ।

स्वस्थ और सुन्दर आँखों के लिए क्या करें। क्या आँखों की एक्सरसाइज होती है। जानिए ये सब और आँखों के लिए घरेलु नुस्खे जिनसे आँखें तेज होती है।

आँखों के लिए घरेलु नुस्खे

कृपया  ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके बारे में विस्तार से जानें। 

आँखे स्वस्थ रखने के घरेलु उपाय – Gharelu Nuskhe To Keep Eyes Fit

Ankhon Ki Roshni badhane ke tareeke

—  सुबह मुँह में पानी भरकर आँखों पर (आँखें बंद करके ) ठण्डा  पानी छिड़कें। इसे दिन में या शाम को जब भी आँखें थकी हुई महसूस हो तब कर सकते है। इससे आँखों में ताजगी आ जाती है।

—  100 ग्राम बादाम भिगोकर छिलका निकाल दें और क़तर लें ( Flacks ) , 50 ग्राम कतरी हुई अखरोट गिरी  , 50 ग्राम किसा हुआ नारियल , 250 ग्राम मिश्री , 250 ग्राम सौंफ इन सबको मिलाकर रख लें।

रोजाना खाना खाने के बाद चार चम्मच इसमें से लेकर अच्छे से चबा चबा कर खा लें। दो महीने लगातार खाने से आँखें तेज , निरोग , सुन्दर हो जाती है। शानदार प्रयोग है।badam—  नियमित रूप से आँखों की एक्सरसाइज करनी चाहिए। आँखों की एक्सरसाइज सीखने के लिए क्लीक करें और पढ़ें — आँखों की 7 बेहतरीन एक्सर साइज . इसमें बहुत कम समय लगता है और कभी भी कर सकते है।

—  धूल , धुआँ और तेज रौशनी से आँखों को बचाएँ।

—  सिर धोने के लिए या चेहरा धोने के लिए अधिक गर्म पानी का उपयोग ना करें।

—  गाजर , लाल टमाटर , आम , पपीता , केला ,  संतरा ,  दूध  , खजूर , पत्ता गोभी  , हरी पत्तेदार सब्जियाँ आदि विटामिन ” A ” वाली चीजें भोजन में शामिल करनी चाहिए। विटामिन ” A ” आँखों के लिए बहुत जरुरी होता है।

—  सुबह खाली पेट आधा चम्मच ताजा मक्खन , आधा चम्मच पिसी हुई मिश्री और चौथाई चम्मच पिसी हुई काली मिर्च मिलाकर खा लें। इसके बाद कच्चे नारियल का एक टुकड़ा खा लें। फिर बारीक सौंफ आधा चम्मच खा लें। ये प्रयोग दो महीने लगातार करने से ऑंखें सुन्दर, स्वस्थ और तेज हो जाती है।

—  सुबह देर तक सोना और रात को देर तक जागना दोनों ही आँखों पर तनाव पैदा करते है। इससे आँखों का नूर चला जाता है और आँखें रूखी और बेजान नजर आने लगती है।

आँख में फुंसी या गुहेरी है तो इसका उपचार जल्द करना चाहिए। आँख की फुंसी ठीक करने के लिए पढ़ें — आँख की फुंसी का घरेलु उपचार 

—  तेज मिर्च मसाले वाले , तले हुए , खट्टे , बासी भोजन से आँखें कमजोर होती है। इन्हे कम ही लेना चाहिए।

—  सुबह सूर्योदय से पहले नंगे पैर घास पर कुछ देर चलने से आँखों को ताजगी मिलती है। क्योंकि सुबह घास पर रात भर गिरी ओस की नमी होती है जो शरीर की गर्मी शांत करती है और नेत्र ज्योति बढाती है।

—  स्कूटर , बाइक या दूसरे वाहन के उपयोग के समय जिन पर तेज हवा लगती है आँखों के बचाव का विशेष ध्यान रखना चाहिए। तेज हवा आँखों के लिए नुकसान देह होती है।

—  ऋतुचर्या  यानि मौसम के हिसाब से खान पान व दिनचर्या में बदलाव का ध्यान रखें। अन्यथा आँखों पर असर पड़ता है।

—  लेटकर बुक्स पढ़ने से या मोबाइल लैपटॉप आदि पर काम करने से आँखों पर दबाव बढ़ जाता है। अतः ऐसा ना करें।

—  आँखों से कम दिखाई दे या लगातार सिरदर्द हो तो और चश्मे की जरुरत हो तो जरूर लगाएं।

—  पानी पर्याप्त मात्रा में पिएँ।

इन्हें भी जानें और लाभ  उठायें :

मुँह के छाले / डिप्रेशन  / मस्से वार्ट  / पीसीओडी / गले में खराश / मासिक धर्म का महत्त्व / अनिद्रा / हिचकी /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here