आम का हींग वाला अचार कैसे बनायें – Keri ka hing wala achar

977

आम का हींग वाला अचार Aam ka hing wala achar बनाना बहुत आसान होता हैं। हींग कच्चे आम के अचार को एक अनोखा ही स्वाद देती है और लाभदायक भी है । हींग के कारण यह अचार जल्दी ख़राब नहीं होता।

अचार के साथ भोजन रुचिवर्धक हो जाता हैं। केरी यानि कच्चे आम से बनने वाले इस अचार में बहुत से मसाले नहीं होते फिर भी यह बहुत स्वादिष्ट होता है। हींग इसमें प्रिजर्वेटिव preservative का काम करती है।

अचार को ख़राब होने से बचाने के तरीके जानने के लिए यहाँ क्लीक करें .

हींग के फायदे और असली हींग की पहचान की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

आम का हींग वाला अचार बनाने की विधि

Hing wala kachche aam ka achar

आम का हींग वाला अचार

आम / कैरी का हींग वाला अचार बनाने की सामग्री

Aam Ka Hing Wala Achar samagri

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

कच्चे आम /कैरी                       500  ग्राम

नमक                                     50  ग्राम

हल्दी                                     1  चम्मच

हींग                                   1/4  चम्मच

लाल मिर्च पाउडर                       1  चम्मच

आम / कैरी का हींग वाला अचार बनाने की विधि

Aam Ka Hingwala Aachar recipe

—  ताजा गूदेदार केरी ( कच्चे आम ) को एक घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें ।

—  इसके बाद केरी को पानी से निकालकर पोंछ लें और थोड़ा सूखने दें।

—  अब इनका छिलका निकाल दें और केरी को छोटे छोटे चौकोर टुकड़ो में काट लें। गुठली निकाल दें।

—  एक मलमल के कपड़े पर इन टुकड़ो को एक घंटे के लिए फैलाकर रख दें ताकि नमी निकल जाये।

—  एक घंटे के बाद कैरी के टुकड़ो को कांच के मर्तबान में डालें।

—  अब इसमें  नमक , हल्दी मिला दें और मर्तबान के मुँह पर मलमल का कपड़ा बांधकर धूप में रख दें।

—  चार पांच दिन इसे धूप दिखाएँ और रोजाना साफ व सूखे चम्मच से इसे अच्छी तरह हिला दें।

—  चार पांच दिन में केरी गल जाती है।

—  अब इसमें लालमिर्च व हींग डालकर मिला दें।

—  आम का हींग वाला स्वादिष्ट खट्टा अचार तैयार है।

—  पूरी ,पराँठा व कचोरी व दालचावल आदि के साथ इसका आनंद लें।

—  यह अचार पूरे  साल खराब नहीं होता है इसमें हींग प्रिजर्वेटिव का काम करती है।

केरी के हींग वाले अचार के टिप्स

Keri hing achaar tips

—   कैरी कड़क , खट्टी और गूदेदार होनी चाहिए।

—  अचार को रोजाना कम से कम एक बार साफ चम्मच से जरूर हिला लें। इससे अचार खराब नहीं होगा।

—  नमक व हींग की मात्रा सही अनुपात में होना जरूरी हैं।

—  हींग की क्वालिटी के अनुसार हींग की मात्रा कम या ज्यादा कर सकते  है।

—  अचार लम्बे समय तक खराब नहीं होता हैं फिर भी यदि आपको लगे की अचार का स्वाद बदल रहा है तो आप एक चम्मच सिरका डाल सकते है।

इन्हे भी जाने और लाभ उठायें :

कच्चे आम का मीठा अचार / मेंगो फ्रूटीनींबू की चटनी / हरी मिर्च के टपोरे / अजवाइन पाचक / ठंडाई / संतरे का स्क्वैश / चाट मसाला / आँवले का अचार / केरी का लोकप्रिय अचार / केरी का बिना तेल वाला सूखा अचार / आम पापड़हल्दी का अचार / टोमेटो सॉस / ताहिनी सॉस / आँवले का मुरब्बा /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here