काला नमक के गुण और फायदे – Black Salt Benefits and uses

1349

काला नमक Kala Namak लगभग सभी घरों में काम में लिया जाता है। काले नमक के गुण और स्वाद के कारण इसे कई तरह से उपयोग में लाया जाता है। इसके चटपटे स्वाद के कारण चाट , चटनी , सलाद , फल , रायता आदि का स्वाद बढ़ाने के लिए इनमें डाला जाता है।

काले नमक की फंकी अजवाईन के साथ पेट की गैस निकालने के लिए घरेलु नुस्खे के रूप में ली जाती है। बाजार से  काला नमक पाउडर के रूप में तथा टुकड़ों के रूप ख़रीदा जा सकता है और यह आसानी से सभी जगह मिल जाता है।


काला नमक फायदे और गुण

काले नमक को ब्लैक सॉल्ट Black salt , सुलेमानी नमक sulemani namak , काला लूण kala loon , बिट लूण  bit loon , पादनिया लूण आदि नामों से भी जाना जाता है। यह मुख्य रूप से हिमालय में पाया जाता है। इसमें एक अलग प्रकार की गंध होती है। काले नमक का रंग और स्वाद भी सामान्य नमक से अलग होता है।

काले नमक का स्वाद और रंग अलग क्यों होता है

इसका कारण काले नमक में सूक्ष्म मात्रा में पाए जाने वाले सल्फर कम्पाउंड जैसे सोडियम सल्फेट , सोडियम बाईसल्फाइट , आयरन सल्फाइड , हाइड्रोजन सल्फाइड इत्यादि होते हैं। काले नमक का गहरा गुलाबी रंग ग्रेजाइट Greigite नामक तत्व के कारण होता है।

आयुर्वेद के अनुसार प्राकृतिक रूप से निकलने वाले काले नमक में कई प्रकार के औषधीय गुण होते हैं।

वर्तमान में सादा नमक में कुछ खनिज लवण जैसे सोडियम सल्फेट , सोडियम बाइसल्फ़ेट और फेरिक सल्फेट आदि मिलाकर कृत्रिम रूप से काला नमक का उत्पादन किया जाने लगा है। कृत्रिम रूप से बनाये गए काले नमक में औषधीय गुण नहीं होते।

काला नमक के फायदे – Black Salt Benefits

पाचन के लिए

पाचन क्रिया में गड़बड़ी के कारण कब्ज , अपच , गैस और पेट फूलने जैसी परेशानी होने लगती है। ऐसे में काला नमक फायदा करता है। एक गिलास गुनगुने पानी में एक दो चुटकी काला नमक मिलाकर पीने से पेट की तकलीफ में आराम मिलता है।

काला नमक चौथाई चम्मच और चौथाई चम्मच अजवाईन मिलाकर गुनगुने से फंकी लेने से गैस और पेटदर्द ठीक होता है। काले नमक के उपयोग से भूख की कमी भी दूर होती है।

हृदय के लिए

सादा नमक की अपेक्षा काले नमक में सोडियम की मात्रा कम होती है। सोडियम के ज्यादा उपभोग का हृदय पर दुष्प्रभाव होता है। यह ब्लड प्रेशर बढ़ने का कारण भी बन सकता है। काले नमक में कोलेस्ट्रॉल कम करने उच्च रक्तचाप कम करने के गुण पाए जाते हैं। अतः यदि इस प्रकार की समस्या हो तो काले नमक से फायदा मिल सकता है।

मोटापा और डायबिटीज

काला नमक मोटापा कम करता है और डायबिटीज रोग में फायदेमंद होता है। एक गिलास गुनगुने पानी में काला नमक और नींबू का रस मिलाकर सुबह शाम पियें। साथ ही तेज क़दमों से 15 -20 मिनट टहलें। इससे मोटापा कम करने में मदद मिलती है तथा डायबिटीज में फायदा होता है।

सर्दी खाँसी

सर्दी , जुकाम   खाँसी तथा अस्थमा के इलाज में काला नमक फायदेमंद होता है। गर्म पानी में काला नमक मिलाकर इसकी भाप सूंघने से बलगम वाली खांसी दूर होती है। गर्म पानी में एक चुटकी हल्दी और एक चुटकी काला नमक मिलाकर दिन में तीन चार बार पीने से सर्दी जुकाम में आराम मिलता है।

रुसी डैंड्रफ

डैंड्रफ के कारण बालों को बहुत नुकसान पहुंचता है। सिर में खुजली चलती रहती है। सफ़ेद दाने बालों में से गिरते हैं। डैंड्रफ के कारण सिर के बाल झड़ना शुरू हो सकते हैं अतः रुसी का इलाज तुरंत करना चाहिए।

टमाटर के रस में काला नमक मिलाकर बालों में 15  मिनट लगाकर रखें फिर सादा पानी से अच्छी तरह धो लें। सप्ताह में दो बार इस प्रयोग को करने से डैंड्रफ दूर हो सकती है।

नींद

काले नमक के उपयोग से नींद अच्छी आती है। यह कार्टिसोल तथा एड्रेनलिन हार्मोन का स्तर कम करता है जिसके कारण नींद आने में मदद मिलती है। ये हार्मोन शरीर से तनाव की स्थिति में स्रावित होते हैं जिनकी अधिकता शरीर पर बुरा असर डालती है।

जोड़ों का दर्द

आयुर्वेद के अनुसार वात दोष के कारण जोड़ों में दर्द हो सकता है। काला नमक शरीर की गैस मिटाता है। इस तरह काला नमक जोड़ों के दर्द से बचाने में सहायक होता है। खाना खाने के घंटे भर बाद गुनगुने पानी में दो चुटकी काला नमक मिलाकर पीने से जोड़ो की दर्द में आराम मिल सकता है।

इसके अलावा गर्म पानी में काला नमक मिलाकर इसकी सिकाई कुछ दिन नियमित करने से जोड़ों के दर्द में आराम आता है।

क्लिक करके जानें इनके फायदे और गुण :

तुलसी  / पीपल  नीम जीरा इलायची लाल मिर्च / हींग / दालचीनी / अजवाइन मेथी दाना / काली मिर्च /  सौंफ / हल्दी / लौंग फिटकरी आंवला

सब्जियां :

प्याज करेला तुरई भिंडी चुकंदर गाजर लौकी / अदरक नींबू टमाटर आलू

मेवे :

बादाम काजू अखरोट खजूर पिस्ता अंजीर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here