गणेश जी की आरती – Ganesh Ji Ki Aarti

465

 गणेश जी की आरती Ganesh Ji Ki Aarti के बोल lyrics यहाँ पढ़ें और आनंद उठायें।

Ganesh Ji Ki Aarti 

गणेश जी की आरती 

गणेश जी की आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा  ।

  माता  जाकी  पार्वती   पिता  महादेवा  ।  ।

जय गणेश जय गणेश ….

एक  दन्त  दयावंत  चार  भुजाधारी   ।

 माथे   सिन्दूर सोहे मूष  की  सवारी  ।  ।

जय गणेश जय गणेश ….

अंधन को आँख देत कोढ़िन को काया  ।

बाँझन को  पुत्र  देत  निर्धन  को  माया  ।  ।

 जय गणेश जय गणेश ….

हार  चढ़े  फूल  चढ़े  और  चढ़े  मेवा  ।

लडूवन  का  भोग  लगे  संत करे सेवा  ।  ।

जय गणेश जय गणेश ….

दीनन की लाज  राखी  शम्भु  सुतवारी  ।

कामना  को  पूरा  करो जग  बलिहारी  ।  ।

जय गणेश जय गणेश ….

<<<>>>

 वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटी समप्रभः।

 निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्व-कार्येशु सर्वदा । ।

<<<>>>

क्लिक करके पढ़ें ये आरती –

गणेश वंदना / लक्ष्मी माता की आरती / शीतला माता की आरती / जय अम्बे गौरी…./ हनुमान आरती हनुमान चालीसा / संतोषी माता की आरती /  जय शिव ओमकारा…. शिव चालीसा / श्रीरामजी की आरतीदुर्गा चालीसा / शनिवार की आरती / गुरु जी की आरती / अहोई माता की आरती गणगौर के गीत