गन्ने का रस पीने के फायदे और नुकसान – Sugarcane Juice

4065

गन्ने का रस Sugarcane Juice पीने में सभी को आनंद मिलता है। विशेषकर गर्मी के मौसम में एक गिलास गन्ने का रस बहुत सुकून देता है। इससे थकान मिट जाती है और अच्छा महसूस होता है।


गन्ने के रस में मौजूद फ्लेवोनॉइड तथा फेनोलिक नामक एंटीऑक्सीडेंट बहुत लाभदायक होते है।

इनमे एंटी-वाइरल , एंटी-एलर्जिक , एंटी-ट्यूमर जैसे गुण होते है अतः गन्ने का रस पीने से एंटीऑक्सीडेंट का बहुत लाभ मिलता है। ये फ्री रेडिकल का सन्तुलन बनाये रखने में मदद करते है तथा उम्र के प्रभाव और कैंसर आदि रोग से बचाव करते है। इस प्रकार ह्रदय , गुर्दे , दिमाग तथा प्रजनन अंगों को होने वाले नुकसान से बचाते है।

गन्ने का रस

भारत में गन्ने का रस बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जाता है क्योंकि यहाँ गन्ने की पैदावार बहुत होती है। भारत गन्ने का विश्व में दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है।

भारत में  महाराष्ट्र , उत्तर प्रदेश ,  कर्नाटक , तमिलनाडू , और आंध्रप्रदेश आदि राज्यों में में गन्ना ज्यादा होता है। कुल उत्पादन का लगभग 90 % गन्ना इन्ही राज्यों में होता है। गन्ने को ईख या सांठा भी कहते है।

गन्ने का रस क्या काम आता है – Sugarcane juice uses

कृपया ध्यान दें :किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं ।

गन्ने का रस  Ganne Ka Ras कई प्रकार से उपयोग में लाया जाता है ।

इसमें नीबू का रस , काला नमक , पुदीना और बर्फ मिलाकर एक शानदार पेय के रूप में पिया जाता है। यह विदेशी कोल्ड ड्रिंक की तरह नुकसान नहीं करता बल्कि बहुत फायदेमंद होता है।

इसके अलावा मुख्य रूप से यह गुड़ और शक्कर बनाने में काम आता है । गन्ने के रस से कुछ मात्रा में खांड , शीरा , राब  ( molasses ) भी बनाये जाते हैं ।

नए उपयोग के तौर पर गन्ने के रस  Ganne ke ras  से एथेनॉल बनाया जाता है जो पेट्रोल और डीजल का एक अच्छा विकल्प है। रस निकाले जाने के बाद बचा हुआ छिलका (bagasse) भी बहुत काम आता है। । यह कागज बनाने में , पशुओं का चारा बनाने में काम में लिया जाता है। इसके उपयोग से बिजली भी बनाई जा सकती है।

गन्ने के रस में मौजूद शक्कर आसानी से पच जाती है। पौधों से मिलने वाली शक्कर (जैसे गन्ना या चुकन्दर  ) को ऊर्जा में परिवर्तित करने का काम लीवर करता है जबकि दूसरे प्रकार की शक्कर को ऊर्जा में परिवर्तित करने में आँतों की भूमिका होती है।

गन्ने का रस पीने से रक्त में शक्कर की मात्रा धीमी गति से बढ़ती है। अतः गन्ने के रस के कारण रक्त में शर्करा की मात्रा में बहुत तेजी से परिवर्तन नहीं होता। इसलिए डायबिटीज में डॉक्टर की सलाह से कुछ मात्रा में यह लिया जा सकता है।

एक गिलास गन्ने के रस में लगभग 200  कैलोरी होती है। गन्ने का रस ताजा और सफाई से निकला हुआ ही पीना चाहिए।

गन्ने का रस क्या फायदा करता है – Sugarcane Juice benefits

—  पीलिया रोग में गन्ने का रस पीना लाभदायक होता है। इसके उपयोग से पीलिया जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है तथा लीवर को ताकत मिलती है। यह आसानी से हजम हो जाता है और थकान मिटाता है।

—  गन्ने का रस पेशाब में अवरोध व जलन दूर करता है। पेशाब में परेशानी इसके उपयोग से दूर हो सकती है। यह गुर्दे के लिए भी लाभदायक है। यह यूरिन इन्फेक्शन की तकलीफ कम करता है। गुर्दे की पथरी छोटी हो तो गन्ने का रस नियमित पीने से यह निकल सकती है। इसके लिए गन्ने के रस में नींबू का रस मिलाकर पीना चाहिए।

—  इसे पीने से तुरंत शक्ति मिलती है। गर्मी के मौसम में यह पानी की कमी दूर करके जलन , प्यास और थकान मिटाता है।

—  एसिडिटी में गन्ने के रस से आराम मिलता है।  इससे पेट की जलन मिटती है।

—  गन्ने के रस में नीबू का रस और अदरक का रस मिलाकर पीने से रक्त विकार , गर्मी तथा रक्तपित्त ठीक होते है।

—  गन्ने में पोटेशियम होने के कारण यह पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता है। यह कब्ज मिटाता है तथा इससे भूख खुलती है।

—  गन्ने का रस पीने से हानिकारक LDL नामक कोलेस्ट्रॉल कम होता है।  इसमें मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

—  खूनी दस्त होने पर गन्ने के रस में अनार का रस मिलाकर पीने से लाभ होता है।

—  गन्ने के रस में सेंधा नमक मिलाकर पीने से गले की खराश में आराम मिलता है।

—  गन्ने के रस से फास्फोरस तथा कैल्शियम मिलता है जो दांतों तथा हड्डियों को मजबूत बनाता है।

—  गन्ने का रस पीने से मुंह की बदबू  मिटती है। इसमें मौजूद फास्फोरस इसमें सहायक होता है।

—  इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। जो पेट और ह्रदय के लिए लाभदायक साबित होती है।

—  यह आयरन का अच्छा स्रोत है। इससे खून की कमी दूर होती है। बुखार के बाद की कमजोरी गन्ने का रस कुछ दिन नियमित पीने से मिट जाती है।

—  गन्ने का रस पीने से त्वचा तथा बालों को पौष्टिकता मिलती है।

— गन्ने का रस पीने से हिचकी ठीक होती है।

गन्ने के रस के नुकसान – Be careful for Sugarcane Juice

Ganne ka ras pine ke nuksan

—  गन्ने का रस शक्कर का ही पहला रूप है। जिस प्रकार शक्कर से मोटापा बढ़ता है उसी प्रकार इसमें मौजूद कैलोरी वजन बढ़ा सकती है।

अतः अधिक मात्रा में गन्ने का रस पीने से वजन बढ़ सकता है। इसलिए उचित मात्रा में ही इसका उपयोग करना चाहिए।

—  बाजार में मिलने वाला गन्ने का रस यदि सफाई के साथ नहीं निकला हुआ हो तो इसके कारण बीमारी के शिकार हो सकते है। बाजार में गन्ने का रस पी रहे है तो देख लेना चाहिए की गन्ना अच्छी तरह धुला हुआ हो। उस पर धूल मिट्टी आदि ना हो। रस में मिलाये जाने वाला बर्फ अच्छा होना चाहिए।

—  इसमें शुगर की अधिक मात्रा होने के कारण डायबिटीज वाले लोगों को सावधानी पूर्वक चिकत्सक से परामर्श के बाद ही इसका उपयोग करना चाहिए।

—  गन्ना निकालने की मशीन पर गन्दगी हो सकती है या कभी कभी मशीन से तेल रिस कर रस में गिर सकता है। जो नुकसान देह हो सकता है। अतः ध्यान रखें।

—  बहुत देर पहले पहले निकला हुआ गन्ने का रस ख़राब हो जाता है। इसमें नुकसानदेह टॉक्सिन पैदा हो जाते हैं अतः उसे नहीं पीना चाहिए।

क्लिक करके जानें इनके फायदे नुकसान :

दिव्य तुलसी /  काली मिर्च / लौंग /  सौंफ / जीरा / हींग / काला नमक / अजवाइनहल्दी / फिटकरी / त्रिफला चूर्ण / बादाम / अखरोट / काजू / खजूर / पिस्ता / मूंगफली / किशमिश /