नाशपाती सेब जितनी गुणकारी – Nashpati Pear Benefits

1022

नाशपाती Pear में किसी भी फल की अपेक्षा ज्यादा मात्रा में फाइबर होता है। एक फल दैनिक जरूरत का 25% फाइबर दे देता है। नाशपाती पेट, आंतों, दिल तथा स्किन आदि के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

नाशपाती के पोषक तत्व – Pear Nutrients

नाशपाती में पर्याप्त मात्रा में विटामिन C , K , B 2 , B 3 और B 6 होते है। इसके अलावा इससे कैल्शियम , पोटेशियम, कॉपर , मैग्नीशियम आदि खनिज प्राप्त होते है। इसमें नुकसान करने वाले सोडियम , फैट या कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल नहीं होता।  नाशपाती खाने से कैंसर जैसे रोग से बचाव हो सकता है।

इसे छिलके ( Pear skin ) सहित खाना चाहिए क्योंकि छिलके में बहुत महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते है।

नाशपाती

दुनिया में नाशपाती का सबसे ज्यादा उत्पादन चीन में होता है। नाशपाती मौसमी फल है। भारत में इस फल का आगमन यूरोप से हुआ है। अब भारत में नाशपाती की खेती बहुत होने लगी है।

यह सेब की प्रजाति का फल है। भारत के ठंडे इलाकों में सेब से अधिक नाशपति का महत्व है। नाशपती का पेड़ हर साल फल देता है। बारिश के मौसम जुलाई -अगस्त में ताजा नाशपाती बाजार में खूब मिलती है। इसकी तीन प्रकार की किस्में  मिलती है

—  यूरोपीय नाशपाती – ये नर्म , मीठी और रसदार होती है। खाने के लिए बहुत ये उपयुक्त होती है। इसके जल्दी खराब होने की सम्भावना होती है।

—  चाइनीज नाशपाती – ये नाशपाती सख्त और खाने मे थोड़ी खट्टी होती है । ये खाने में कम लेकिन मुरब्बा आदि बनाने में ज्यादा काम आती है। इस किस्म की नाशपाती का उत्पादन सबसे ज्यादा होता है। एक पेड़ लगभग 150 किलो फल दे देता है।

—  यूरोपीय चाइनीज संकर – नख इसी किस्म की नाशपाती है। ये खाने में नर्म और मीठी होती है। यूरोपीय नाशपाती की अपेक्षा अधिक टिकती है। सभी तरह की नाशपाती के गुण लगभग समान होते है।

नाशपाती के फायदे – Nashpati Khane Ke Fayde

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

भरपूर रेशे या फाइबर

नाशपती खाने से भरपूर मात्रा में रेशे यानी फाइबर मिलते है। नाशपती के मध्यम आकार के फल में लगभग 6 ग्राम फाइबर होता है। जो कि हमारी दैनिक आवश्यकता के 25% के बराबर होता है। नाशपति में घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के फायबर प्रचुर मात्रा में होते है।

इसके छिलके में गूदे जितने ही फायबर होते है। इसलिए इसे छिलके सहित खाना चाहिए। नाशपती आंतों की सफाई करके कब्ज से मुक्ति दिलाती है। पढें कब्ज के घरेलु नुस्खे ।

नाशपति के फाइबर आंतों के कैंसर से बचाते है। कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में रखने में मददगार होते है और इस तरह दिल के रोगों से बचाते है। नाशपति खाने से मिलने वाले फायबर टाइप 2 डायबिटीज होने की सम्भावना को भी कम करते है।

हड्डियों की मजबूती

नाशपाती में बोरोन नामक तत्व होता है जो कैल्शियम को शरीर में बनाए रखने में मदद करता है। इस तरह ये हड्डी को मजबूत बनाए रखने में सहायक होता है।

इसके अलावा नाशपाती में मौजूद विटामिन K भी हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। विटामिन K रक्त के थक्का बनने या खून बहना रुकने की प्रक्रिया के लिए भी जरूरी होता है

स्किन

विटामिन C , विटामिन K और कॉपर आदि तत्वों से स्किन की कोशिकाओं को बल मिलता है। ये तत्व शरीर के लिए नुकसान देह फ्री रेडिकल्स से भी बचाते है।

इसकी वजह से झुर्रियां आदि नहीं होती तथा कैंसर जैसे रोगों से बचाव होता है। स्किन हमेशा स्निग्ध और चमकदार बनी रहती है। अतः सुन्दर कोमल त्वचा के लिए नाशपति नियमित खानी चाहिए। पढ़ें चेहरे की सुन्दर त्वचा के घरेलु नुस्खे ।

आँखें

नाशपती का नियमित उपयोग करने से आँखों में होने वाली ARMD ( Age Related Macular Degeneration ) नामक बीमारी से बचाव होता है। इस बीमारी में बीच के भाग का दृश्य काला दिखाई देने लगता है , उसके आस पास का दृश्य ठीक दिखाई देता है ।

इसका इलाज मुश्किल होता है। अतः इससे बचने के लिए नाशपती खाना लाभदायक होता है।

कैंसर

नाशपती के छिलके में बहुत महत्वपूर्ण तत्व जैसे फ्लेवोनोइड्स , फिटो न्यूट्रिएंट्स  और  एंटीऑक्सीडेंट जैसे  क्यूरसेटिन आदि होते है जो कई प्रकार की बीमारियों से रक्षा करने में मदद करते है। ये तत्व  ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करते है और कैंसर से भी बचाते है। अतः नाशपती का छिलका अवश्य खाना चाहिए।

हार्ट के लिए

पेक्टिन नाम का तत्व नाशपाती में बहुत होता है। यह आंतों को मजबूत बनाता है और रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करने में सहयक होता है। नाशपाती में विटामिन K होता है जो ह्रदय की धड़कन और मांसपेशियों के लिये आवश्यक होता है।

इम्यून सिस्टम

विटामिन C की और कॉपर की भरपूर मात्रा  के कारण नाशपाती से इम्यून सिस्टम को ताकत मिलती है जिसकी वजह से कई बीमारियों से बचाव होता है।

एलर्जी

नाशपती एक ऐसा फल है जिससे एलर्जी होने की सम्भावना बहुत कम होती है। इसलिए जिन लोगों को फलों से एलर्जी हो उसे नाशपती खानी चाहिए।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

हल्दी / त्रिफला चूर्ण / काली मिर्च / फिटकरी / दिव्य तुलसी / सौंफ / इमली / खीरा ककड़ी / पालक / हरी मिर्चप्याज / करेला / तुरई / भिंडी / चुकंदर गाजर / मटर / लौकी / मूली अदरक / आलू  / नींबू / टमाटर / लहसुन  / आंवला केला / अनार / सेब  / अमरुद / सीताफल /  अंगूर गन्ना  पपीता / संतरा बील खरबूजा / तरबूज आम / जामुन / मशरूम  /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here