पित्ती का घरेलु इलाज-Home remedy for Pitti Hives Urticaria

19462

पित्ती Pitti ( Urticaria ) निकलने का कारण सामान्यतया चींटी को माना जाता है।  लेकिन ऐसा नहीं है। पित्ती निकलने के बहुत से कारण हो सकते है। इसे छपाकी , ददोरे या शीतपित्त भी कहते है।


पित्ती (pitti ) होने पर अचानक से शरीर पर लाल चकत्ते उभर आते है जिनमे खुजली चलती है और जलन सी होती है । मच्छर खाया हो ऐसा लगता है । उस जगह त्वचा थोड़ी सी उभरी हुई दिखती है।

लाल उभरी हुई जगह अंगुली से दबाने पर त्वचा सफ़ेद हो जाती है। ये शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकते है। इनका शेप कुछ भी हो सकता है। उभार के किनारे साफ दिखाई पड़ते है।

पित्ती घरेलु उपाय

कभी एक जगह ठीक हो जाती तो दूसरी जगह हो जाती है या एक ही जगह ठीक होकर थोड़ी देर बाद फिर हो जाती है। कभी कभी जितनी जल्दी होती है उतनी जल्दी अपने आप ठीक भी हो जाती है। पित्ती कुछ मिनट , कुछ घंटे , कुछ दिन या कुछ महीनों तक भी रह सकती है ।

पित्ती के कारण – Pitti Reasons

पित्ती होने के कई कारण हो सकते है। एलर्जी होने के अलावा कुछ विशेष कारण ये है :

—  किसी विशेष प्रकार की खाने की चीज से खासकर जैसे मूंगफली या सूखे मेवे ,अंडा आदि से।

—  किसी एंटीबायोटिक या किसी और दवा के कारण।

—  ज्यादा थकान , गर्मी , उमस , धूप आदि से और सर्दी से भी।

—  किसी कीड़े ने काटा हो।

—  खून की बोतल चढ़ाई गई हो।

—  वाइरल इन्फेक्शन या पेशाब नली में इन्फेक्शन आदि के कारण।

—  पराग कणो की वजह से।

—  पालतू  कुत्ते बिल्ली के बाल आदि के कारण।

पित्ती ( pitti ) निकली हो तो हवा से , नहाने से और ज्यादा नमक खाने से बचना चाहिए। किसी विशेष चीज के खाने से पित्ती होती हो तो वो चीज नहीं खानी चाहिए। टाइट कपडे नहीं पहनने चाहिए। सर्दी से पित्ती होती हो तो ठन्डे पानी, ठंडी हवा से बचाव करना चाहिए। धूप में जाने की वजह से पित्ती होती हो तो त्वचा को ढ़ककर निकलने चाहिए।

पित्ती निकलने पर घरेलु उपाय – Pitti Gharelu Nuskhe

—  चार चम्मच शहद में एक चम्मच नागकेसर मिलाकर सुबह शाम खाने से पित्ती ठीक हो जाती है। ये बहुत  ही अच्छा और कारगर नुस्खा है जरूर लेना चाहिए।

—   पित्ती निकलने पर नीम के पत्ते चबाने पर कड़वे नहीं लगते। नीम के पत्ते तब तक चबाएं जब तक की कड़वे न लगने लगे। इससे पित्ती ठीक हो जाती है। नीम के अन्य गुण और घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

—  एक चम्मच शहद व एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर दिन में तीन बार लें। ऊपर से दो घूँट पानी पीएं। पित्ती मिटेगी।

—  50 ग्राम अजवायन दरदरी पीस ले इसे 50 ग्राम गुड़ में मिला ले। इसकी 16 गोलियाँ बन लें। ये गोली सुबह शाम पानी से निगल लें। इससे छपकी मिटती है। सर्दी में होने वाली शीत पित्ती में भी इससे बहुत आराम मिलता है।

—  एक चम्मच त्रिफला चूर्ण में एक चम्मच शहद मिलाकर सुबह शाम खाने से पित्ती मिटती है।

—  एक गिलास पानी में एक चम्मच पिसा हुआ पोदीना और दो चम्मच शक्कर मिलाकर सुबह शाम पीने से पित्ती निकलनी बंद हो जाती है।

—  दो गिलास पानी में एक चम्मच एक चम्मच खाने का सोडा मिलाकर इस पानी का शरीर पर स्पंज करने से पित्ती के अलावा खुजलीदार दानो में भी आराम मिलता है।

—  दो  कप पानी में एक चम्मच पिसा हुआ पोदीना और तीन चम्मच गुड़ डालकर उबाल लें। इसे छान कर गुनगुना पी लें। सुबह शाम पीने से बार बार होने वाली पित्ती ठीक हो जाती है।

—  देसी घी में सेंधा नमक मिलाकर इससे मालिश करके ओढ़ कर सो जाएँ। पसीना आने के साथ पित्ती में आराम आ जायेगा।

 

क्लीक करके इन्हें भी जाने और लाभ उठायें  : –

 

डेंगू बुखार में पपीते की पत्ती व कालमेघ  

स्वाइन फ्लू के घरेलु नुस्खे 

मुँह के छालों का घरेलु इलाज 

डिप्रेशन अवसाद के कारण और उपाय 

मस्से वार्ट के घरेलु उपचार 

मुँह की बदबू कैसे मिटायें 

नाभि धरण ठीक करने के तरीका 

पीसीओडी और अनियमित मासिक धर्म 

गले में खराश के घरेलु नुस्खे  

माहवारी मासिक धर्म का महत्त्व 

अनिद्रा दूर करने के घरेलु उपचार 

हिचकी रोकने के उपाय 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here