बिना AC ( एयर कंडीशनर ) घर कैसे ठंडा रखें – Keep house cool

10380

घर को ठंडा कैसे रखें ? तेज गर्मी में कई लोगों के मन में यही सवाल रहता है। गर्मी के मौसम में पंखे , कूलर या ए सी के बिना तो रहना मुश्किल होता ही है। ए सी या कूलर सब लोगों के घर में नहीं होता या सब कमरों में नहीं होता।


भीषण गर्मी में तो ये भी आराम नहीं दिला पाते। ए सी , कूलर लगातार चलाने से बिजली के बिल में अत्यधिक बढ़ोतरी हो जाती है। प्राकृतिक तरीके से तापमान कम करने से गर्मी की इन समस्याओं का समाधान हो सकता है साथ ही इन्हे अपनाकर इलेक्ट्रिसिटी बिल को भी कम किया जा सकता है।

आइये जानें वे कौनसे प्राकृतिक तरीके हैं जिनसे तेज गर्मी में घर को ठंडा रख सकते हैं।

घर ठंडा कैसे रखें

घर में गर्मी बढ़ने के कारण – Cause of heat in house

—  घर गर्म होने के पीछे सूरज की तेज धूप सबसे बड़ा कारण होती है।

—  मकान की जितनी ज्यादा तरफ धूप अधिक लगेगी उतना ही मकान अधिक गर्म हो जाता है।

—  एक मंजिला मकान है या बिल्डिंग के सबसे ऊपर की मंजिल पर फ्लैट हो तो घर सबसे ज्यादा गर्म होता है।

—  सीमेंट और लोहे से बने होने के कारण मकान गर्म होने के बाद जल्दी से ठन्डे नहीं हो पाते।

—  सीमेंट , कंक्रीट और लोहे से बने घर की ऊपरी छत और बाहर की दीवारें दिन भर की तपन से अत्यधिक गर्म हो जाती हैं। यह गर्मी अंदर पहुँच कर पूरे घर को गर्म कर देती हैं।

—  घर में बाहर से आने वाली गर्म हवाएँ भी घर को गर्म कर सकती हैं।

—  फ्रिज आदि विद्युतीय उपकरण लगातार चलने के कारण गर्मी पैदा होती है जो कमरे में गर्मी बढ़ा सकते हैं।

—  रसोई में एक्ज़ॉस्ट फैन या चिमनी नहीं होने से , यह गर्मी बढ़ने की वजह हो सकता है।

—  खुली रसोई यानि लिविंग या ड्राइंग रूम और किचन के बीच दीवार नहीं होने पर किचन की गर्मी बाहर फ़ैल सकती है।

—  अधिक बल्ब और ट्यूबलाइट चालू होने पर कमरे का तापमान बढ़ जाता है।

घर को ठंडा बनाये रखने के तरीके – How to keep house cool

—  ऊपर छत पर सफेद चूना पोत कर अंदर गर्मी कम की जा सकती है। इसके लिए सामग्री और विधि यहाँ बताई जा रही है। यह सफ़ेद परत गर्मी को परावर्तित कर देती है और अंदर का तापमान कम रहता है। यह दो या तीन साल चल जाता है। इसका तरीका इस प्रकार है –

सामग्री :

बारीक़ चूना पाउडर – 5 किलो ,

( यह चूना पाउडर बाजार में विशेष गर्मी में छत पर लगाने के लिए मिल जाता है )

पानी – 10 किलो

चिपकाने वाला लिक्विड जैसे फेविकोल – 1 / 2  किलो

विधि :

इन तीनों को मिला दें। 10 – 15 मिनट बाद अच्छे से हिलाकर इसे छत पर ब्रश से गाढ़ा गाढ़ा पोत दें। सुबह या शाम को जब धूप कम हो तब इसे लगाने में आसानी रहती है। सूखने पर एक बार हल्की तराई कर दें। 24 घंटे बाद वापस दूसरी कोटिंग लगा दें। सूखने पर एक दो बार हल्की तराई कर देनी चाहिए।

इसके अलावा कमरों में ठंडक Room cooling करने के अन्य तरीके इस प्रकार हैं –

—  छत पर गमलों में पौधे लगाकर ठंडक की जा सकती है। आप पोदीना , ग्वारपाठा , मनी प्लांट आदि छत पर लगा सकते हैं। इनका ज्यादा ध्यान भी नहीं रखना पड़ता। इनके अलावा छत पर गमलों में सब्जियाँ भी उगाई जा सकती है।

—  बाजार में सिल्वर कोटिंग के साथ बिटुमिनस की शीट मिलती है। इसे छत पर लगवाने से गर्मी नीचे नहीं पहुंचती।  साथ ही छत लीकेज हो तो वह भी बंद हो सकती है।

—  छत पर बांस का मंडप जैसा बनवा कर छाया करवाई जा सकती है। मंडप पर लता , बेलें आदि लगाई जा सकती हैं।

—  यदि संभव हो तो घर के आस पर पेड़ लगायें। ये नमी बनाये रखते है और गर्म हवा को भी रोकते हैं।

—  शाम के समय छत पर पानी का छिड़काव करने से छत जल्दी ठंडी हो सकती है। इससे रात को अधिक गर्मी लगने से बचा जा सकता है।

—  घर के साइड की दीवारों पर ज्यादा धूप आती हो तो उसे सफ़ेद रंग से पुतवायें।

—  रसोई में एक छोटा एक्ज़ॉस्ट फैन या चिमनी जरूर लगवायें। खाना बनाते समय एक्ज़ॉस्ट फैन चला लें। इससे गर्मी बाहर निकलती रहेगी।

—  यदि कूलर लगा रखा हो तो एक छोटा एक्ज़ॉस्ट फैन चालू कर दें जो अंदर की अधिक नमी युक्त हवा बाहर निकलती रहे।

—  गर्मी में हल्के रंग ठंडक का अहसास कराते हैं। अतः पर्दे , सोफा कवर , बेड शीट आदि हलके रंग के उपयोग में लें। कमरों में पेंट हल्के शेड वाले करवायें।

—  जितने आवश्यक हो उतने ही बल्ब और ट्यूब लाइट जलायें।

—  अव्यवस्थित घर गर्म महसूस होता है। कमरे में अनावश्यक सामान जैसे सजावट की वस्तुएँ , फर्नीचर , किताबें , अख़बार , मैगजीन आदि हटा दें ताकि हवा को अधिक स्थान मिले। गाढ़े और गहरे रंग के परदे हो तो उनके स्थान पर हल्के रंग के पतले परदे लगायें।

—  खिड़की से गर्म हवा आती हो तो उसे ठंडा करने के लिए बिना बिजली के ठंडी हवा में बदला जा सकता है। इसके लिए आप घर की चीजें जैसे प्लास्टिक की खाली बोतल आदि की मदद से इको कूलर बना सकते है।

इको कूलर बनाने की विधि के लिए यहाँ क्लिक करें

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

मच्छर से बचने के आसान घरेलु उपाय 

ठंडाई बनाने की सही विधि 

ऑरेंज बार घर पर बनाने का आसान तरीका 

गर्मी में छोटे शिशु का ध्यान कैसे रखें

तेज गर्मी से खुद को बचाने के लिए क्या करें 

छाछ के फायदे गर्मी के मौसम में 

दाँत पीले होने के कारण और बचने के उपाय 

काला नमक के गुण और फायदे 

लू लगने के लक्षण और बचने के उपाय  

धूप कब होती है सबसे ज्यादा हानिकारक 

सनस्क्रीन कब कैसे और कितने SPF वाला लगायें 

डकार ज्यादा आना कहीं गंभीर बीमारी का संकेत तो नहीं 

थायरॉइड की परेशानी हो तो क्या करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here