ब्लड प्रेशर कम करने के घरेलु नुस्खे – Blood Pressure Home Remedies

1170

ब्लड प्रेशर blood pressure बढ़ना आजकल सामान्य सी बात हो गई है।  मानसिक तनाव अधिक होने के कारण कम उम्र में ही हाई ब्लड प्रेशर High Blood Presssure होने लगा है।

एक्सरसाइज करते समय , चिंता करने से , डर की वजह से या गुस्सा आने से कुछ समय के लिए ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है जो जल्द ही सामान्य भी हो जाता है। temporary थोड़ा ब्लड प्रेशर बढ़ना उतना हानिकारक नहीं है लेकिन स्थायी रूप से यह बढ़ा हुआ रहता हो तो उपचार आवश्यक हो जाता है।

ब्लड प्रेशर कितना होना चाहिए

ब्लड प्रेशर नापते समय दो माप ली जाती हैं। इन्हे सिस्टोलिक तथा डायस्टोलिक प्रेशर कहते हैं । सामान्य व्यक्ति का ब्लड प्रेशर  blood pressure सिस्टोलिक 110 से 140 mmhg एवं डायस्टोलिक 70 से 90 mmhg हो सकता है। यदि सिस्टोलिक प्रेशर 140 से अधिक या डायस्टोलिक 90 से अधिक हो तो इसे High Blood Pressure यानि बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर कहते हैं।

ब्लड प्रेशर के घरेलु नुस्खे

ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ रहने के नुकसान

नसें

यह नसों को नुकसान पहुंचाता है। सामान्य रूप से नसें लचीली और मजबूत होती हैं BP बढ़ने के कारण नसें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। इस वजह से रक्त को अंगो तक पहुँचने में दिक्कत आती है जिसकी प्रत्येक अंग को जरुरत होती है।

हृदय

इससे  ह्रदय पर दबाव पड़ता है।  ह्रदय को पूरे शारीर तक रक्त पहुँचाने में अधिक जोर लगाना पड़ता है .इससे ह्रदय की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है।  अंत में यह हार्ट फेल का कारण बन सकता है।

दिमाग

दिमाग को भी बढ़े हुए ब्लड प्रेशर से नुकसान होता है .इसके कारण छोटा या बड़ा ब्रेन स्ट्रोक होने की संभावना बढ़ जाती है .high blood pressure  डिमेंशिया नामक बीमारी का कारण बन सकता है जिसमे सोचने , बोलने , स्मरण शक्ति , देखने या चलने फिरने में परेशानी होने लगती है।

किडनी

highblood pressure किडनी फेल होने का एक मुख्य कारण है। इसके कारण किडनी अपना काम सही तरीके से नहीं कर पाती और शरीर में विषेले तत्व बढ़ जाते है और डायलेसिस का सहारा लेना पड़ जाता है।

आँखें

high blood pressure के कारण आँखों के रेटिना तक रक्त की सप्लाई बाधित हो सकती है जिसके कारण आँख में ब्लीडिंग ,धुंधला या बिल्कुल ना दिखाई देने की समस्या हो सकती है।  इसके कारण ऑप्टिक नर्व को भी नुकसान पहुँच सकता है।

यौन सम्बन्धी समस्या

हालाँकि 50 की उम्र तक पहुँचने पर लिंग उत्थान में कमी आने लगती है। लेकिन ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ रहने से समस्या ज्यादा होती है।

इसके कारण नसें सकड़ी हो जाती हैं और उनका लचीलापन कम हो जाता है। इससे उचित मात्रा में रक्त पहुँचने में बाधा उत्पन्न होती है।

महिलाओं में भी ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ रहने से कामेच्छा में कमी , योनि में सूखापन या चरम सीमा तक पहुँचने में मुश्किल आदि हो सकते हैं।

हड्डियाँ

high blood preshar के कारण पेशाब से साथ अधिक मात्रा में कैल्शियम शरीर से निकल सकता है। इससे हड्डियां कमजोर हो सकती हैं और टूट भी सकती हैं।

अनिद्रा

ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ रहने से नींद नहीं आने की समस्या पैदा हो सकती है। यह Sleep Apnea  और अधिक खर्राटे का कारण भी बन सकता है। जिसके कारण नींद बाधित होती है।

ब्लड प्रेशर के बढ़ने के बहुत विशेष लक्षण नहीं होने के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ने का पता नहीं ही चलता।

इसलिए नियमित रूप से  Blood Pressure  की जाँच करवाते रहना चाहिए।

blood pressure ke gharelu nuskhe अपनाने से राहत मिल सकती है।

ब्लड प्रेशर से बचने के उपाय -blood pressure ke gharelu upay

कृपया ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

—  घी तेल आदि वसा युक्त खाद्य पदार्थ कम करके  , फल , मोटा अनाज सब्जियों का अधिक प्रयोग करना चाहिए।

—  जिन खाद्य सामग्री में नमक अधिक मात्रा में होता है उनका उपयोग कम करना चाहिए जैसे अचार , पापड़ , चिप्स , टोमेटो केचप , डिब्बा बंद खाना इत्यादि।

—  एक कप पानी में , गुडहल के सूखे फूल दो चम्मच और दालचीनी एक स्टिक डालकर करके पांच मिनट उबाल लें अब इसे छानकर स्वाद के अनुसार शहद और नींबू का रस डालकर पियें। दिन में दो तीन बार पी सकते है। इससे ब्लड प्रेशर कम होता है।

—  नारियल पानी में पोटेशियम व मैग्नेशियम होता है जो  Blood Pressure  को कम करने में मदद करता है , दिन में दो बार नारियल पानी पीना चाहिएcoconut-tree-1089191_1280

—  सुबह खाली पेट लगभग दो कप तरबूज खाने से ब्लड प्रेशर कम होता है।

—  एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच नींबू का रस सुबह खाली पेट पीने से  Blood Pressure  कम होता है। इसमें शक्कर या नमक नहीं मिलाना चाहिए।

—  तरबूज के बीज व खस खस ( पोस्त दाना ) सामान मात्रा में पीस लें ।  ये मिश्रण एक चम्मच सुबह और एक चम्मच शाम को खाली पेट लेने से  Blood Pressure  ठीक होता है।

—  केला पोटेशियम का स्रोत होता है जो सोडियम से होने वाले नुकसान से बचाता है ।  इसलिए रोज एक दो केले खाने से ब्लड प्रेशर से बचा जा सकता है।

—  खुबानी , किशमिश , मुनक्का , पालक , भुनी शकरकंद . खरबूजा आदि के उपयोग से  Blood Pressure  नियमित रहता है।

—  योगासन व प्राणायाम करके मन को शांत रखना सीखना चाहिए । चिन्ता और मानसिक तनाव से ब्लड प्रेशर बढ़ता है। मानसिक तनाव कम करने के आसान उपाय जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

—  यदि ब्लड प्रेशर की दवा चालू है तो बिना डॉक्टर से पूछे दवा बंद नहीं करनी चाहिए।

—  हल्दी वाला दूध पीने से ब्लड प्रेशर कम होता है।

—  ब्लड प्रेशर की दवा ले रहे हों तो डॉक्टर की सलाह लेकर ही किसी नुस्खे का सेवन करना चाहिए।

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

प्राणायाम कब कैसे करें / नाभि धरण खुद कैसे ठीक करें / त्रिफला चूर्ण एक सम्पूर्ण टोनिक / मुंह की बदबू  / यौन शक्ति / खाना बनाने के लिए कौनसा तेल अच्छा / दही कब नहीं खाएं / डिप्रेशन / डेंगू बुखार / खर्राटे /

Disclaimer:इस लेख का उद्देश्य जानकारी देना मात्र है। किसी भी उपचार के लिए चिकित्सक से सलाह अवश्य लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here