स्तन को सुन्दर पुष्ट सुडौल बनाने की वास्तविकता – Reality Of Enlarging Breast

19481

स्तन  Boobs  पुष्ट , सुडौल और उन्नत हों ये सभी युवतियाँ और महिलाएँ चाहती हैं। वक्षस्थल Vakshsthal की पुष्टता और सुडौलता अच्छे शारीरिक स्वास्थ्य की निशानी होती है। साथ ही इससे स्त्री सौंदर्य में अभूतपूर्व वृद्धि होती है।

स्त्री की शारीरिक सौंदर्य और बनावट में स्तन और नितम्ब के सही आकार का होना बहुत महत्त्व रखता है। वक्ष Vaksh बहुत छोटे , ढीले , लटके हुए या स्तन बहुत बड़े Stan bade होने से परेशानी होती है।

अविकसित, छोटे और सूखे स्तन Stan भद्दे लगते है साथ ही शिशु  को दूध उपलब्ध कराने में भी असमर्थ होते है। और बहुत बड़े या बेडौल स्तन भी शर्म व हीनता  की भावना पैदा करते है। स्तन  Boobs की सुडौलता और सुंदरता से आत्म विश्वास बना रहता है।

stan sondarya

उन्नत और  पुष्ट स्तनों के लिए स्वास्थ्य अच्छा रहना बहुत जरुरी है। शरीर को सही पोस्चर में रखें। पौष्टिक भोजन नियत समय पर लें। नींद  पूरी लें। हाजमा सही रखें। मानसिक रूप से शांत रहकर खुश रहने का प्रयास करें।

इसके अलावा हाथों से किये जाने वाले घर के काम या हाथो की कुछ एक्सरसाइज करने से स्तन पुष्ट और सुडौल sudol vaksh बने रहते हैं।

स्तन की मालिश  vaksh ki malish  करने से भी अविकसित स्तन या वक्ष का आकार ठीक होता है।

सही साइज की , सही कपड़े की ब्रा Bra  पहनना भी महत्त्वपूर्ण होता है। ब्रा का साइज सही होने के साथ कप का साइज भी सही होना आवश्यक है। बहुत टाइट या बहुत ढीली ब्रा पहनने से स्तन का आकार बिगड़ सकता है।ब्रा का सही साइज़ पता करने का तरीका जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

जॉगिंग जैसी एक्सरसाइज करते समय या खेलते समय जब स्तन बहुत हिलते हो तब स्पोर्ट्स ब्रा  sports bra  जरूर पहननी चाहिए । इससे स्तनों  boobs का आकार ख़राब नहीं होता और आपकी गरिमा भी बनी रहती है।

कई बार लड़कियाँ  Girls  जिज्ञासा के कारण , हार्मोन्स के बदलाव के कारण ,  कुसंगति में पड़कर या मजे के लिए अपने स्तनों से छेड़छाड़ कर लेती है या अपने किसी साथी को ऐसा अवसर दे देती है। इसकी वजह से हार्मोन अधिक सक्रिय हो जाते है और वक्त से पहले ही स्तन बड़े और भारी  Heavy Breast  होकर लटक सकते है। अतः इसका ध्यान रखना चाहिए।

इस लेख में दी गई स्तन की एक्सरसाइज  Breast Exercise और  Breast Massage करने से व छोटे स्तनों का आकार बड़ा  boobs ka size bada  किया जा सकता है।

स्तनों को पुष्ट और सुडौल बनाने के लिए एक्सरसाइज

stan , vaksh , boobs ko sunder sudol banane ki exercise

1 . पुश अप – Push Up

ये नाम सभी ने सुना है। ये सिर्फ पुरुषों के लिए नहीं है। लेडीज के लिए भी ये अच्छी एक्सरसाइज है।

इसे करने का तरीका :

पुशअप

—  अपने शरीर को फर्श के सामानांतर इस प्रकार रखें की आपका शरीर दोनों हथेलियों और पंजों पर टिका हो।

दोनों कोहनी और हाथ सीधे हों।

—  हथेलियों के बीच की दूरी कंधे जितनी हो। गर्दन से लेकर पंजों तक शरीर एक सीध मे हो।

—  अब अपनी कोहनी मोड़ते हुए शरीर को नीचे ले जाएँ। सिर्फ कोहनी मुड़नी चाहिए बाकि पूरा शरीर सीधा रहना चाहिए।

—  अब कोहनी सीधी करते हुए शरीर को उठाते हुए वापस पहली स्थिति में आ जाएँ। ये एक पुश अप हुआ।

—  इस तरह शुरू में पांच पुश अप लगाएँ फिर धीरे धीरे बढ़ाकर 20 -25 तक ले जाएँ।

यदि पंजों पर वजन पर पुश अप लगाना संभव ना हो तो घुटने पर और हाथों पर वजन टिका कर पुश अप लगाएँ।

स्तन वृध्दि एक्सरसाइज

2 . वाल पुश अप – Wall Push Up

—  दीवार से लगभग डेढ़ से दो फ़ीट की दूरी पर खड़े हो जायें। अपनी हाइट के हिसाब से दूरी कम या ज्यादा कर लें।

—  दोनों हाथ सीधे करके हथेलियाँ दिवार पर टिका दें।

—  अब एड़ियाँ ऊपर करके पंजे पर और हथेलियों पर वजन टिका दें।

—  अब कोहनी मोड़ते हुए दीवार की तरफ झुकें। शरीर सीधा रहना चाहिए।

—  अब वापस पहली स्थिति में आ जाएँ। इस तरह शुरू में कम फिर बढ़ाते हुए 35 -40 पुश अप रोज लगाएं।

स्तन वृध्दि

3 . चेस्ट डिप्स – Chest Dips

—  दोनों हाथो को पीछे ले जाकर किसी कुर्सी या बेंच पर टिका दें। बैठने वाली स्थिति में घुटने मुड़े हो कूल्हे बेंच से थोड़े आगे हवा में हों।

—  अब कोहनी मोड़ते हुए कूल्हों को थोड़ा नीचे ले जाएँ।

—  फिर वापस पहली स्थिति में आएं। इस प्रकार 15-20 बार करें।

स्तन वृध्दि

4 . चेस्ट स्क्वीज – Chest Squeez

—  बेंच पर या कुर्सी पर बैठ जाएँ। कमर सीधी रखें। दोनों हथेलियों के बीच एक गुब्बारा या बॉल पकड़ें।


—  दोनों कोहनी और बॉल कंधे की ऊंचाई तक ले जाएँ।

—  अब बाल को दबाएँ। इसे दबाते हुए सामने की तरफ अपने से दूर ले जाएँ। इस स्थिति में कोहनी सीधी हो जाएँगी।

—  अब बॉल को दबाते हुए ही वापस कोहनी मोड़ें।

—  इस  प्रकार 15 -20 बार करें।स्तन बढ़ाएं

5 . चेस्ट फ्लाई – Chest Fly

—  किसी बेंच पर लेट जाएँ , पैरों को नीचे जमीन पर टिका लें।

—  दोनों हाथों में थोड़ा वजन पकड़ लें।

—  दोनों हाथों को सीधा करें।

—  अब दोनों हाथों को फैलते हुए कंधे की सीध में लाएं।

—  फिर वापस पहली स्थिति में दोनों हाथ समानांतर सीधे करें।

—  इस प्रकार 15 -20 बार दोहराएँ।

—  बेंच की जगह एक्सरसाइज बॉल पर भी ये कर सकते है।

स्तन वृद्धि

स्तन को सुडौल बनाने के लिए मालिश करने का तरीका

stan , vaksha , boobs ki malish karne ka tareeka

तिल के तेल से स्तनों पर रोजाना दस – पंद्रह मिनट मालिश करने से स्तनों के रक्त संचार में वृद्धि होती है। ध्यान रहे स्तन की टिशु बहुत नाजुक होते है। अतः बहुत हलके हाथ से और सही तरीके से मालिश करनी चाहिए। अन्यथा फायदे की जगह नुकसान हो सकता है।

तिल के तेल के अलावा किसी क्रीम या अन्य तेल जैसे नारियल या जैतून आदि का भी उपयोग किया जा सकता है। महंगे स्तन बढ़ाने वाले तेल या क्रीम आदि बहुत असरकारक नहीं होते है। इनके विज्ञापन से भ्रमित होने की अपेक्षा खुराक और एक्सरसाइज पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

मालिश करने का तरीका : How to massage boobs

—   एक हाथ की हथेली स्तन के नीचे रखें। स्तन को हथेली पर टिकने दें ,दूसरे हाथ की हथेली को स्तन के ऊपर रखें।

—  अब दोनों हाथों को हलके हाथ से थोड़ा गोलाकार में घुमाते हुए मालिश करें।

—  अब नीचे की हथेली ऊपर और ऊपर की हथेली नीचे करके उसी तरह दूसरी दिशा में मालिश करें।

—  अब इसी तरह दूसरे स्तन की हलके हाथ से मालिश करें।

—  एक हाथ से वक्ष को सहारा देकर दूसरे हाथ से वक्ष पर बाहर की तरफ से अंदर निपल की तरफ सब तरफ से लाइन बना कर दो अंगुली से हल्का दबाव देते हुए मालिश करें।

—  अँगुलियों से बाहर से अंदर की तरफ निपल की ओर मालिश करें।

स्तन या वक्ष का साइज़ बढ़ाने के घरेलु नुस्खे

stan , boobs ka size badhane ke gharelu nuskhe

—  तिल का तेल 200 ग्राम लें। इसमें इतना ही अनार के पत्तों का रस मिलाकर उबालें। जब सिर्फ तेल बचे तब छान कर बॉटल में भर लें। इस तेल की रात को सोते समय रोजाना मालिश करें। इससे स्तन का साइज बढ़ता है। स्तन ढीले होकर लटक गए हो तो उनमे भी कसावट आती है।

—  सुबह शाम एक चम्मच अश्वगन्धा का चूर्ण ( आयुर्वेदिक शॉप से लें ) दूध के साथ लेने से कुछ दिनों में वक्ष stan का साइज बढ़ जाता है।

—  दाना मेथी स्तन Vaksh का साइज बढ़ाती है और उसे पुष्ट बनाती है। दाना मेथी की सब्जी बना कर खाएं। दाना मेथी अंकुरित करके खाएं। दाना मेथी को पानी के साथ बारीक पीस कर स्तनों पर लगाएं। इन सभी उपायों से स्तन बड़े होते है।

स्तन में दर्द होता हो या सूजन हो तो मेथी की पत्तियाँ पीस कर स्तन पर दो तीन घंटे लगा कर रखें फिर धो लें। बहुत आराम मिलेगा। कई बार न चाहते हुए भी स्तन से दूध आता रहता है। मेथी की पत्तियां लगाने से स्तन से दूध आना भी बंद होता है।

—  कमल गट्टे रात को पानी में भिगो दें। सुबह छिलका निकाल दें। पत्तियां हों तो उन्हें भी निकाल दें। अब कमल गट्टे की गिरी को अच्छे से सुखाकर बारीक पीस लें। इसे मैदा छलनी से छान लें। यह चूर्ण सुबह शाम एक चम्मच दूध में मिलाकर पिएँ।

कुछ दिन लेने से stan  का साइज भी बढ़ेगा और वक्ष सुन्दर पुष्ट और सुडौल हो जायेंगे। इसे दोपहर में दही के साथ भी खा सकते है।

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

अपनी ब्रा का सही साइज़ कैसे जानें हॉट वैक्सिंग कोल्ड वैक्सिंग में फर्क / हेयर कलर कौनसा लगायें / मैनीक्योर घर पर कैसे करें / मस्कारा लगाकर दिखें अल्ट्रा मॉडर्न / नेल पोलिश के अन्य उपयोग / मुख मैथुन Oral के नुकसानगर्भ निरोधक साधन के फायदे नुकसान / प्रेग्नेंट होने के लिए क्या जरुरीनेल पोलिश के अन्य उपयोग प्रेगनेंसी में क्या खायें और क्या नहीं खाएं 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here