नमक के दूसरे लाभदायक उपयोग

नमक सिर्फ स्वाद के लिए नहीं – SALT not only for taste

नमक Salt सिर्फ स्वाद के लिए नहीं है। इससे आप वो कर सकते है जो शायद आप सोच भी नहीं सकते। यह खाने में...
कपड़ों के दाग कैसे छुड़ायें

कपड़े पर दाग कैसे मिटायें – Remove Stains From Cloth

कपड़े पर दाग  Kapde par daag लग जाये तो बड़ा दिल दुखता है और जब हमारे किसी फेवरेट कपड़े पर दाग लग जाये तो गुस्सा भी बहुत...
विटामिन के लिए क्या खायें

विटामिन कौनसे होते है और किसमे मिलते है – Vitamins why and How

विटामिन Vitamin शरीर के लिए आवश्यक होते हैं , ये तो पता है पर विटामिन कितने प्रकार के होते हैं , कौनसा विटामिन क्या खाने...
एक्सरसाइज

एक्सरसाइज शुरू करने से पहले ध्यान रखें – Exercise Can Be Dangerous-

एक्सरसाइज करना बहुत फायदेमंद है , लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी है वर्ना फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। बिना जानकारी...
दूध कब कितना कैसे पियें

दूध कैसे कब कितना पिएँ – Milk How and When

दूध milk का उपयोग हम लोग बचपन से करते आये है। ये भी सुनते आये है कि दूध सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है।...
पानी कब कैसे पियें

पानी कितना कैसे और कब पीना चाहिए – Pani Kaise Kab Kitna Piye

पानी pani हमारे शरीर के वजन का दो तिहाई भाग होता है। पानी की कमी अत्यधिक नुकसान देह हो सकती है। पानी की कमी से...
वजन कब और कैसे नापें

वजन कब और कितने दिन में नापना चाहिए – When to weight

वजन कब नापना चाहिये When To Weight यह जानना बहुत जरुरी हो जाता है यदि आप वजन कम करने या बढ़ाने की कोशिश कर...
रसोई के मसाले गुण व फायदे

रसोई के मसाले का महत्त्व और फायदे – Rasoi Ke Masalo Ke Fayde

रसोई के मसाले ( Masale ) हमारी रसोई का अभिन्न अंग है। हल्दी , धनिया , जीरा , मेथी , अजवाइन , हींग आदि रोजाना के खाने में...
दुबार तिबार चावल

दुबार तिबार किनकी चावल क्या है – Dubar Tibar Kinki Rice

दुबार Dubar तिबार Tibar चावल , किनकी आदि शब्द अक्सर चावल खरीदते समय सुनने को मिलते है। समझ नहीं आता कौनसा चावल लें कौनसा नहीं। आइये...
चावल कैसे बनायें

चावल सफ़ेद और खिले खिले कैसे बनायें – Rice Cooking Tips

चावल लगभग हर घर में पकाए जाते है । चावल बनाते समय कुछ बातों का ध्यान ना रखा जाये तो चावल कच्चे रह सकते हैं,...
ऋतुचर्या मौसम के अनुसार बदलाव

ऋतुचर्या के अनुसार खाना व लाइफ स्टाइल में बदलाव – Weather Change Effects

ऋतुचर्या Ritucharya अर्थात ऋतु के अनुसार खाने पीने और रहन सहन में बदलाव लाना। बसंत , ग्रीष्म , वर्षा , शरद , हेमंत आदि...

Latest Blogs

Most Popular