सोलह सोमवार व्रत कथा

सोलह सोमवार व्रत की कथा – Solah somvar vrat ki kahani

सोलह सोमवार व्रत की कथा  Solah Somvaar Vrat Ki Katha सोमवार के व्रत के समय कही सुनी जाती है। जो इस प्रकार है - सोलह...
गुरु जी की आरती

गुरु जी की आरती गुरु पूर्णिमा पर – Guruji Ki Arti

गुरुजी की आरती GURU JI KI AARTI <<<>>> <<<>>> गुरु जी की आरती आरती  गुरुदेव  की  कीजै , अपनों  जन्म सफल कर लीजै । कंचन थाल कपूर की बाती , जगमग जोति...
रविवार व्रत विधि व कहानी

रविवार का व्रत विधि और कहानी -Sunday Fast And Story

रविवार का व्रत Sunday Fast सभी मनोकामना पूरी करने वाला श्रेष्ठ व्रत माना जाता है। इस दिन सुबह जल्दी स्नान करके शुद्ध और साफ़ कपड़े...
सत्यनारायण भगवान की आरती

सत्यनारायण भगवान का व्रत , पूजा विधि तथा सामग्री – Satynarayan puja

सत्यनारायण भगवान की पूजा और व्रत , भगवान विष्णु के सत्य स्वरुप की पूजा है। विष्णु भगवान ही सत्यनारायण हैं।सत्यनारायण भगवान का व्रत परम...
कन्या पूजन नवरात्री में

कन्या पूजन नवरात्री में अष्टमी या नवमी के दिन – Kanya Poojan

कन्या पूजन Kanya Poojan का नवरात्रि में बहुत महत्त्व है। दुर्गा अष्टमी या नवमी के दिन कन्याओं - छोटी लड़कियाँ का माँ दुर्गा के रूप में...
शरद पूर्णिमा की कहानी

शरद पूर्णिमा की कहानी – Sharad Poornima Ki Kahani

शरद पूर्णिमा की कहानी शरद पूर्णिमा का व्रत करने पर सुनी जाती है। इससे व्रत का सम्पूर्ण फल प्राप्त होता है। शरद पूर्णिमा के बारे...
सातुड़ी कजरी तीज का उद्यापन

सातुड़ी तीज का उद्यापन विधि – Satudi Teej Ka Udhyapan Vidhi

सातुड़ी तीज का उद्यापन  Satudi Teej ka Udhyapan शादी का बाद किया जाता है। महिलाओं द्वारा इस व्रत का उद्यापन पीहर ( मायके ) में...
वार के अनुसार व्रत

वार के अनुसार व्रत करने का तरीका – Vaar Ke Anusar Vrat

वार के अनुसार व्रत करने पर उस दिन के हिसाब से ही भगवान की पूजा की जाती है और कुछ अलग नियम या कायदों का...
आंवला नवमी की कहानी

आंवला नवमी की कहानी – Aavla Navami Ki Kahani

आंवला नवमी की कहानी aavla navmi ki kahani व्रत के समय कही और सुनी जाती है। यहाँ पढ़ें , सुने और सुनाये आंवला नवमी...
स्वस्तिक का महत्त्व और लाभ

स्वस्तिक कब क्यों कहाँ बनाते हैं व इसका लाभ महत्त्व क्या है – Swastika

स्वस्तिक Swastika एक महत्वपूर्ण मांगलिक प्रतीक चिन्ह है। किसी भी शुभ कार्य में सबसे पहले स्वस्तिक बनाया जाता है। क्या आप जानते है स्वस्तिक क्या...
अनंत चतुर्दशी व्रत विधि

एकादशी व्रत का महत्त्व और उत्पन्न होने की कहानी – Ekadashi vrat utpanna

एकादशी का व्रत Ekadashi vrat अत्यधिक प्रचलित व्रतों में से एक है। मनोकामना पूर्ती के लिए या पितरों की शांति के लिए ग्यारह , सत्रह...
सोमवार के व्रत की कहानी

सोमवार का व्रत विधि और कहानी – Monday Fast and Story

सोमवार का व्रत साधारणतया दिन के तीसरे पहर तक होता है। व्रत में फलाहार या पारायण का कोई खास नियम नहीं होता है परन्तु...
रक्षा बंधन कैसे मनायें

रक्षा बंधन 2022 कब और कैसे मनाएं – Raksha Bandhan 2022

रक्षा बंधन का त्यौहार Raksha Bandhan भाई बहन के सम्बन्ध को और मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। राखी बंधवाते समय भाई को एक...
Dasha-mata-ki-aarti

दशामाता की आरती पूजा के समय की – Dasha mata ki aarti

दशा माता की आरती Dasha Mata ki aarti  दशा माता के पूजन के समय गाई जाती है। माना जाता है कि भक्तिभाव से आरती गाने से...
सत्य नारायण कथा चौथा अध्याय

सत्य नारायण व्रत कथा चौथा अध्याय Satya Narayan vrat katha – 4

सत्य नारायण के व्रत की कथा में पांच अध्याय हैं। चौथे अध्याय की कथा यहाँ बताई गई है। सत्य नारायण कथा के चौथे अध्याय की कथा...
शरद पूर्णिमा व्रत और पूजा

शरद पूर्णिमा का महत्त्व और पूजा विधि – Sharad Poornima

शरद पूर्णिमा Sharad Poornima आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा होती है । इस दिन चन्द्रमा की किरणों में शरीर और आत्मा दोनों को शुद्ध करने...
Khatu-shyam-Barbarik-story

खाटू श्याम बर्बरीक महाभारत कथा – Khatu shyam Barbarik story

खाटू श्याम बाबा Khatu Shyam के दर्शन के लिए दूर दूर से लोग आते हैं। इसका सम्बन्ध महान योद्धा और दानी  बर्बरीक Barbarik से है। श्री श्याम...
अहोई अष्टमी पूजन व्रत

अहोई अष्टमी की कथा कहानी – Ahoee ashtami ki Kahani

अहोई अष्टमी की कहानी Ahoi ashtami ki kahani व्रत के समय कही और सुनी जाती है। इससे व्रत का सम्पूर्ण फल प्राप्त होता है। अहोई...
Ramdev ji ka mela

रामदेवरा मेला – Ramdevra mela

रामदेवरा मेला Ramdevra ka mela हर वर्ष भाद्रपद शुक्ल पक्ष की दूज से एकादशी तक भरता है। दूर दूर से लोग रामदेवजी के विशाल...
सत्यनारायण कथा पांचवां अध्याय

सत्य नारायण व्रत कथा पांचवां अध्याय Satya Narayan vrat katha – 5

सत्य नारायण व्रत कथा में पांच अध्याय हैं। पांचवें और अंतिम अध्याय की कथा यहाँ बताई गई है। सत्य नारायण के व्रत की कथा के पांचवें...
नेग नियम बयें

मकर संक्राति पर सूती सेज या ससुरजी को जगाना – Suti sej jagana

मकर सक्रांति पर सूती सेज जगाने अर्थात ससुरजी को जगाने का रिवाज है। सकरात पर कुछ जगह विशेष प्रकार के नेग , नियम ( बयें )...
Le-ke-gaura-ji-ko-sath

ले के गौरा जी को साथ शिव भजन – Le ke gaura ji ko...

ले के गौरा जी को साथ... शिवजी का एक लोकप्रिय भजन है। शिवजी को भोले भंडारी कहा जाता है क्योंकि महादेव  तुरंत प्रसन्न होने वाले देव...
मंगला गौरी व्रत का उद्यापन

मंगला गौरी व्रत का उद्यापन सम्पूर्ण विधि – Mangla Gauri Vrat Udyapan

मंगला गौरी व्रत का उद्यापन Mangla Gauri Vrat ujman सावन महीने के शुक्ल पक्ष में किया जाता है। 16 मंगलवार के बाद 17 वें मंगलवार को...
शंख बजाने ओर पूजा के लाभ

शंख बजाने के फायदे , पूजा वाला असली शंख और उसके प्रभाव – Shankh...

शंख conch से वैसे तो सभी परिचित हैं लेकिन शंख के फायदे , गुण , महत्त्व और वास्तु प्रभाव आदि के बारे में बहुत...
रूप चतुर्दशी कैसे मनाते हैं

रूप चौदस , नरक चतुर्दशी , काली चौदस क्यों और कैसे मनाते हैं

रूप चौदस Roop Chodas को नरक चतुर्दशी Narak Chaturdashi या काली चौदस Kali Chodas भी कहते है। यह कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की चतुदर्शी...
धनतेरस कुबेर पूजन

धन तेरस कुबेर पूजन विधि व दीपदान – Dhan Teras Kuber Poojan Deepdan Vidhi

धन तेरस Dhan Teras से दीपावली का पावन त्यौहार शुरू होता है। कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी या तेरस के दिन धन तेरस मनाई जाती...
कर सोलह श्रृंगार

कर सोलह श्रृंगार भोलेनाथ का भजन – Shivji ka bhajan kar solah

कर सोलह श्रृंगार भोलेबाबा का लोकप्रिय भजन है। शिवजी को भोले भंडारी कहा जाता है क्योंकि महादेव तुरंत प्रसन्न होने वाले देव बताये जाते हैं।...
सत्यनारायण कथा दूसरा अध्याय

सत्य नारायण व्रत कथा दूसरा अध्याय Satya Narayan vrat katha -2

सत्य नारायण व्रत कथा में पांच अध्याय हैं। दुसरे अध्याय की कथा यहाँ बताई गई है। सत्य नारायण कथा के दुसरे अध्याय की कथा...
होली पूजने की सम्पूर्ण विधि

होली पूजन करने की विधि – Holika Dahan Pooja Vidhi

होली Holi का त्यौहार हमारे प्रमुख त्योहारों में से एक है। इस दिन होली का पूजन Holi Poojan तथा होलिका दहन Holika dahan ( होली जलाना )...
आँवला नवमी का व्रत और पूजा

आंवला नवमी व्रत और पूजन – Akshay Navmi Vrat Poojan

आंवला नवमी Aavla Navmi या अक्षय नवमी कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की नवमी होती है। आंवला नवमी के दिन आंवले के पेड़ की पूजा होती है। माना...

Latest Blogs

Most Popular