Vrat Poojan Vidhi -

व्रत और पूजन करने का एक विशेष तरीका होता है। भगवान की पूजा करते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे गणेश जी को तुलसी नही चढ़ती , शिव जी को सिन्दूर हल्दी नहीं चढ़ाये जाते ।  दीवाली पर लक्ष्मी पूजन कैसे करते है। करवा चौथ का व्रत कैसे किया जाता है। इस प्रकार कई व्रत और पूजन की विधियां यहाँ देखिये और निश्चिन्त होकर व्रत पूजन कीजिये।

somvati amavsya vrat puja

सोमवती अमावस्या व्रत , पूजन तथा उद्यापन विधि – Somvati Amavsya 2022 Vrat

सोमवती अमावस्या Somvati Amavsya सोमवार को आने वाली अमावस्या को कहते हैं । इस दिन व्रत और पूजन करना वैवाहिक जीवन पर बड़ा गहरा...
श्री यंत्र का पूजन ऐसे करें

श्री यंत्र का पूजन , उसे सिद्ध करना और लाभ – Shri Yantra puja...

श्रीयंत्र Shri Yantra का उल्लेख पौराणिक ग्रंथों में मिलता है। यह त्रिपुर सुंदरी महालक्ष्मी का सिद्ध यंत्र है। इसे अत्यधिक शक्तिशाली और महत्वपूर्ण यंत्र माना जाता...
Dasha-mata-sanpda-dora-vrat

दशा माता साँपदा का डोरा व्रत 2022 कब और कैसे – Dasha mata sanpda...

दशा माता का व्रत Dasha mata ka vrat  दशा या परिस्थिति अनुकूल बनी रहे ऐसी कामना के साथ किया जाता है। दशा माता यानि माँ भगवती...
शीतला माता की पूजा व बासोड़ा

शीतला माता की पूजा सप्तमी / अष्टमी पर और बासोड़ा – Sheetla Ashtami and...

शीतला सप्तमी और शीतला अष्टमी के दिन शीतला माता की पूजा shitla mata ki pooja की जाती है। होली के सात आठ दिन बाद चैत्र...
रुद्राक्ष कब क्यों कैसे

रुद्राक्ष से लाभ , असली की पहचान और कितने मुखी – Rudraksh kya kyo...

रुद्राक्ष Rudraksh का धार्मिक रूप से बहुत महत्त्व है। इसे भगवान शिव का अंश माना जाता है। रूद्राक्ष  की माला Rudraksh ki mala को...
नेग नियम बयें

मकर संक्रांति पर सासू माँ को सीढ़ी चढ़ाना – Sasu ji ko siddhi

मकर सक्रांति पर सासू माँ को सीढ़ी चढाने का रिवाज है। सकरात पर कुछ जगह विशेष प्रकार के नेग ,बयें महिलाओं द्वारा किये जाते हैं।...
देव उठनी एकादशी पूजन, कथा

देव उठनी एकादशी पूजन विधि व कथा – Dev Uthani gyaras puja

देव उठनी एकादशी Dev uthni ekadashi कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की एकादशी होती है। इसे प्रबोधिनी एकादशी prabodhini ekadashi , देवोत्थान एकदशी Devotthan ekadashi या...
सातुड़ी कजरी तीज का उद्यापन

सातुड़ी तीज का उद्यापन विधि – Satudi Teej Ka Udhyapan Vidhi

सातुड़ी तीज का उद्यापन  Satudi Teej ka Udhyapan शादी का बाद किया जाता है। महिलाओं द्वारा इस व्रत का उद्यापन पीहर ( मायके ) में...
फुलेरा दूज कब क्यों कैसे

फुलेरा दोज कब कैसे और क्यों – Phulera doj

फुलेरा दोज Fulera doj भगवान श्री कृष्ण की भक्ति तथा होली के आगमन की तैयारी से सम्बंधित त्यौहार है। इसके अलावा Phulera dooj को...
सातुड़ी तीज की पूजा विधि

सातुड़ी तीज की पूजा विधि 2022 – Satudi Kajli Teej Ki Pooja vidhi

सातुड़ी तीज की पूजा Satudi Teej Ki Pooja भाद्रपद महीने की कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को की जाती है जिसे कजली तीज Kajli teej , भादवा...
धनतेरस कुबेर पूजन

धन तेरस कुबेर पूजन विधि व दीपदान – Dhan Teras Kuber Poojan Deepdan Vidhi

धन तेरस Dhan Teras से दीपावली का पावन त्यौहार शुरू होता है। कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी या तेरस के दिन धन तेरस मनाई जाती...
बछ बारस गोवत्स द्वादशी व्रत

बछ बारस गोवत्स द्वादशी व्रत पूजा विधि – Bachh Baras Govats dwadashi vrat

बछ बारस Bachh Baras को गौवत्स द्वादशी Govats dwadashi , बच्छ दुआ bach dua , बछवास , ओक दुआस , बलि द्वादशी आदि नामों से भी...
ऋषि पंचमी व्रत और पूजा कहानी

ऋषि पंचमी की पूजा और व्रत – Rishi Panchami ki pooja Vrat 

ऋषि पंचमी Rishi Panchami भाद्रपद शुक्ल पक्ष की पंचमी को आती है । ऋषि पंचमी को भाई पंचमी Bhai Panchami के नाम से भी जाना जाता है।...
कन्या पूजन नवरात्री में

कन्या पूजन नवरात्री में अष्टमी या नवमी के दिन – Kanya Poojan

कन्या पूजन Kanya Poojan का नवरात्रि में बहुत महत्त्व है। दुर्गा अष्टमी या नवमी के दिन कन्याओं - छोटी लड़कियाँ का माँ दुर्गा के रूप में...
वार के अनुसार व्रत

वार के अनुसार व्रत करने का तरीका – Vaar Ke Anusar Vrat

वार के अनुसार व्रत करने पर उस दिन के हिसाब से ही भगवान की पूजा की जाती है और कुछ अलग नियम या कायदों का...
खाटू श्याम फाल्गुन मेला

खाटू श्याम फाल्गुन मेला 2022 – Khatu Shyam Falgun Mela 2022

खाटू श्याम बाबा का मेला Khatu shyam falgun mela फाल्गुन शुक्ल पक्ष अष्टमी से शुरू होकर द्वादशी तिथि तक यानि पांच दिन के लिए आयोजित किया...
घट स्थापना व नवरात्री पूजा

घट स्थापना नवरात्री पूजा विधि – Navratra and Ghat Sthapna Vidhi

घट स्थापना Ghat sthapna और नवरात्री पूजा Navratri pooja माँ दुर्गा की भक्ति और साधना के सरल माध्यम हैं।  नवरात्री वर्ष में दो बार आती है। कलश...
अक्षय तृतीया की पूजा व कहानी

अक्षय तृतीया की पूजा महत्त्व और कहानी – Akshay Tritiya

अक्षय तृतीया Akshay Tritiya वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि के दिन मनाई जाती है। इस दिन देवी लक्ष्मी और विष्णु भगवान की पूजा की...
गोवर्धन पूजा विधि

गोवर्धन पूजा अन्नकूट पूजा कैसे की जाती है – Gordhan Pooja Annkut Pooja

गोवर्धन पूजा Govardhan puja व अन्नकूट पूजा Annakoot puja कार्तिक शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के दिन की जाती है। धन तेरस, रूप चौदस...
रूप चतुर्दशी कैसे मनाते हैं

रूप चौदस , नरक चतुर्दशी , काली चौदस क्यों और कैसे मनाते हैं

रूप चौदस Roop Chodas को नरक चतुर्दशी Narak Chaturdashi या काली चौदस Kali Chodas भी कहते है। यह कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की चतुदर्शी...
संकष्टी चतुर्थी व्रत के लाभ

संकष्टी चतुर्थी व्रत का महत्त्व , विधि और कथा – Sankashti Chaturthy Vrat

संकष्टी चतुर्थी व्रत sankashti chaturthi vrat गणेश जी की कृपा प्राप्ति के लिए किया जाता है। संकष्टी का अर्थ है - कठिन समय से मुक्ति...

हरतालिका तीज का व्रत पूजन और कहानी – Hartalika Teej

हरतालिका तीज का व्रत Hartalika teej vrat भाद्रपद महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि के दिन किया जाता है। इस दिन ही पार्वतीजी ने महान...
तीज के त्यौहार

तीज व्रत पूजा और त्यौहार 2022 – Teej Fast pooja 2022

तीज का त्यौहार Teej ka tyohar मनाने का अवसर सावन और भाद्रपद के महीनो में तीन बार मिलता है। ये है - हरियाली Hariyali...
मकर सक्रांति

मकर संक्रांति मनाने का तरीका , कारण और महत्त्व – Makar Sankranti

मकर संक्रांति makar sankrati एक त्यौहार भी है और एक खगोलीय घटना भी। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है...
राधा अष्टमी महालक्ष्मी व्रत

राधाअष्टमी और महालक्ष्मी व्रत सोलह दिन का – Radha ashtmi Mahalakshmi Vrat

राधाअष्टमी - Radha ashtami भादों सुदी अष्टमी के दिन मनाई जाती है। इस दिन शक्ति श्री राधेरानी का एक कन्या के रुप में कमल के...
अनंत चतुर्दशी व्रत की कहानी

निर्जला एकादशी व्रत पारण पूजा विधि और इसका महत्त्व -Nirjala Ekadashi

निर्जला एकादशी या निर्जला ग्यारस  Nirjala Ekadashi का महत्त्व साल भर में आने वाली 24 एकादशी में सबसे अधिक होता है। निर्जला का मतलब है...
Ganga Dashhara kab kyo kaise

गंगा दशहरा कब क्यों और कैसे मनाते हैं – Ganga Dashhara 2022

गंगा दशहरा Ganga Dashhara ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि के दिन मनाया जाता है । माना जाता है कि इस दिन...
भाई दूज यम द्वितीया कैसे मनायें

भाई दूज ,यम द्वितीया का महत्त्व – Bhai Dooj Yam Dwitiya

भाई दूज Bhai Dooj दीपावली के पाँच दिन चलने वाले त्यौहार का अंतिम दिन होता है। कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि का दिन...
तुलसी विवाह

तुलसी विवाह विधि 2022 विस्तारपूर्वक – Tulsi Vivah Vidhi

तुलसी विवाह Tulsi Vivah जीवन में एक बार अवश्य करना चाहिए , ऐसा शास्त्रों में कहा गया है। इस दिन व्रत रखने का भी...
कैलादेवी मंदिर करौली मेला

कैलादेवी मंदिर का चैत्र मेला – Kaila Devi Mela

कैलादेवी का मेला Kailadevi ka mela चैत्र और शारदीय नवरात्रा के अवसर पर आयोजित किया जाता है। चैत्र मेला मुख्य मेला होता है जो...

Latest Blogs

Most Popular