इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या करें , क्या ना करें – Immunity Booster

1178

इम्युनिटी यानि प्रतिरोधक क्षमता की चर्चा इन दिनों जोरों पर है। विशेषज्ञों के अनुसार यदि Immune System यानी  प्रतिरोधक क्षमता मजबूत हो तो कोरोना वायरस जैसे संक्रमण से बचाव हो सकता है। क्या आप जानते हैं इम्युनिटी क्या होती है और इस कैसे बढ़ाया जा सकता है। आइये जाने।

सामान्य तौर पर देखा जाता है कि कुछ लोग जल्दी बीमार हो जाते हैं। उन्हें मौसम के बदलाव का असर हो या संक्रमण के कारण सर्दी जुकाम या अन्य परेशानी दूसरे लोगों की अपेक्षा जल्दी होता है। इसका कारण कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता अर्थात Weak Immunity हो सकता हैं।

इम्युनिटी क्या है

रोग प्रतिरोधक क्षमता या Immunity शरीर में मौजूद वह कार्यप्रणाली है जो किसी भी संक्रमण या बीमारी से हमारा बचाव करती है। यह एक जटिल प्रणाली है जिसमे त्वचा की कोशिकाएं , रक्त , बोनमेरो तथा अन्य चीजे शामिल होती हैं। इनके सुचारू रूप से काम करने पर ये हानिकारक पेथोजन ( बेक्टीरिया और वायरस ) तथा बीमारी आदि से बचाव करते हैं।

( इसे भी पढ़ें : हमारे शरीर में खून कहाँ बनता है से कौन कौनसे काम करता है )

हमारे शरीर का Immune system शरीर को नुकसान पहुँचाने वाली चीजों को पहचान कर उन्हें नष्ट कर देता है । हम वापस स्वस्थ हो जाते हैं या अधिक बीमार नहीं होते हैं।

उम्र बढ़ने के साथ प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। कुछ वैज्ञानिक इसका कारण T Cells की कमी मानते हैं जो Infection से लड़ते हैं। कुछ लोग बोनमेरो द्वारा कम Stem Cells का  उत्पादन और परिणाम स्वरुप Immune Cells की कमी को इसका कारण मानते हैं।

कुछ लोग जो अपनी सेहत का शुरू से पूरा ध्यान रखते हैं उनमे उम्र अधिक होने पर भी इम्युनिटी अच्छी देखी गई है।

इम्युनिटी को मजबूत बनाने के लिए स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहकर दिनचर्या यानि Lifestyle अनुशासित रखनी चाहिए।

यदि आप लापरवाही से जी रहे हैं तो संभल जाना चाहिए। इसके लिए आपको शारीरिक गतिविधि बढ़ाने और खान पान में कुछ बदलाव करने पड़ सकते हैं। इसका लाभ अवश्य मिलता है और जल्दी बीमार होने की सम्भावना कम हो जाती हैं।

इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय

अनुशासित रहकर इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय ये हैं –

— सबसे पहले शरीर की मूल आवश्यकता जैसे भूख , प्यास , नींद , साफ सफाई आदि के प्रति सचेत रहकर इनका पालन करना चाहिये।

  • समय पर भोजन करें। रात के समय हल्का भोजन लें।
  • पानी पर्याप्त मात्रा में पियें , पानी शरीर से विषैले तत्व बाहर निकलता है। साथ ही शरीर के तापमान को संतुलित बनाये रखता है। फ्रिज का पानी ना पियें। सर्दी में प्यास कम लगती है अतः विशेष ध्यान रखें।
  • नींद पूरी लें , बहुत अधिक भी ना सोयें। सोते समय शरीर में मरम्मत का कार्य होता है।
  • साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें जिसमे नहाने , धुले हुए वस्त्र पहनने , नाख़ून आदि कटे होने कुछ सामान्य सी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

( इसे भी पढ़ें : पानी कब कैसे और कितना पियें )

— वजन संतुलित रखें। ना ज्यादा ना कम। देखा गया है की संतुलित वजन वाले लोग बीमार कम पड़ते हैं। वजन बढ़ा हुआ नहीं होना चाहिए लेकिन बहुत कम भी नहीं होना चाहिए।

— मानसिक तनाव से बचें। तनाव यदि लम्बे समय तक बना रहे तो इससे इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। तनाव से बचने के उपाय अपनाने चाहिए , जिसमे प्राणायाम तथा योग आदि को दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।

( इसे भी पढ़ें : मानसिक तनाव से बचने के आसान घरेलु उपाय )

— खुश रहने और हँसने के तरीके तलाश करें। दोस्त और पड़ोसियों से कुछ हंसी मजाक की बातें रोज करें।

— नशे वाली चीजें जैसे गुटका , सिगरेट , शराब आदि व्यसन से दूर रहना चाहिए। तम्बाकू और शराब का सेवन करने वाले लोगों की इम्युनिटी कमजोर हो जाती है।

( इसे भी पढ़ें : नशे की लत से मुक्ति पाने के आसान उपाय )

— बाहर का खाना जैसे जंक फ़ूड आदि शरीर के लिए अत्यंत हानिकारक होते हैं , इनसे बचें।

— प्रदूषित वातावरण से खुद को दूर रखें।

— भोजन में सभी प्रकार के पौष्टिक तत्व तथा फाइबर शामिल करें। अच्छे इम्यून सिस्टम के लिए भोजन में जिंक , फोलेट , आयरन , सेलेनियम , कॉपर , विटामिन A , C , E , B6 और B12 आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में शामिल होने चाहिए। इसके अलावा प्रोटीन भी बहुत जरुरी होता है। प्रोटीन में मौजूद एमिनो एसिड इम्युनिटी की कार्यविधि में मददगार होते हैं।

इसे भी पढ़ें : प्रोटीन के कारण होती हैं ये समस्या और पता भी नहीं चलता

— हो सके तो कुछ देर धूप में रहें।

— चीनी या मीठे का अधिक सेवन ना करें। कोल्ड ड्रिक आदि ना लें।

— सर्दी के मौसम में खट्टे फल , सब्जियों के सूप , लहसुन आदि लें।

— खुद अपनी मर्जी से कोई दवा ना खाएं विशेषकर सर्दी जुकाम खांसी के लिए।

— आंवला और नीबू किसी भी रूप में अवश्य लें।

( इसे भी पढ़ें : आँवला क्यों है एक आश्चर्यजनक वस्तु )

अदरक, हल्दी, तुलसी, काली मिर्च, लौंग आदि का सेवन पानी में उबाल कर अन्य तरीके से करें।

— योग विशेषज्ञ से परामर्श लेकर योगासन और प्राणायाम को दिनचर्या का हिस्सा बनायें। इससे हार्मोन संतुलित रहते हैं और अंतःस्रावी ग्रंथिया सुचारू रूप से काम करती हैं। इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

— लम्बे समय से किसी बीमारी जैसे ह्रदयरोग , अस्थमा या डायबिटीज आदि से ग्रस्त होने पर इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है और संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में अधिक सावधान रहकर बचाव पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

इन्हें भी जानें और लाभ उठायें :

घर पर कौनसी सब्जी आसानी से लग जाती है 

एक्सरसाइज के बारे में ये कन्फ्यूजन जरूर दूर कर लें  

सब्जी खरीदते समय ध्यान रखें ये 17 जरुरी बातें 

कभी कभी शराब पीने से भी क्या लत पड़ जाती है 

वास्तु के अनुसार दिशा के बारे में ये ध्यान क्यों जरुर रखें 

बिना AC घर ठंडा कैसे रखें 

बिना पैसे खर्च किये पत्नी को खुश रखने के आसान उपाय 

चूहे भगाने , बिना दावा मारने या रोकने के उपाय 

रद्दी पुराने अखबार के शानदार उपयोग 

बिजली कब बिल कम करने के आसान उपाय 

मीठा सोडा के अनगिनत शानदार उपयोग