खाना खाने के तुरंत बाद भूलकर भी ना करें ये काम – After meal avoid these

238

खाना खाने के बाद कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए ताकि भोजन अच्छी तरह डाईजेस्ट हो सके । अधिकतर लोग भोजन मे पौष्टिक तत्वों का तो पूरा ध्यान रख लेते हैं । लेकिन ऐसे भोजन का पाचन यदि सही तरीके से ना हो तो उन पौष्टिक तत्वों का लाभ शरीर को नहीं मिल पाता है । इसके अलावा कई प्रकार की समस्या जैसे पेट फूलना , गैस बनना या कब्ज आदि समस्या पैदा होने लगती हैं ।

जब भोजन आमाशय मे पहुंचता है तो पेट मे विभिन्न पाचक रसों का स्राव होता है । हमे ऐसे काम नहीं करने चाहिए जिसके कारण पाचक रसों के स्राव अथवा उनके कार्य मे बाधा उत्पन्न हो ।

( इसे भी पढ़ें : आमाशय कैसे और क्या काम करता है समझें आसान भाषा में )

बहुत से लोग इन बातों का ध्यान नहीं रखते और इसके कारण कई प्रकार की समस्या उत्पन्न होने लगती है । आइए जाने कि ऐसा क्या है जो खाना खाने के तुरंत बाद नहीं करना चाहिए ।

भोजन के बाद फल ना खाएं ।

फल यूं तो बहुत पौष्टिक होते हैं लेकिन भोजन के तुरंत बाद फलों का उपयोग उचित नहीं होता है । फल तुरंत पचने वाले आहार हैं लेकिन भोजन के तुरंत बाद खाने से जल्दी नहीं पच पाते और फ़र्मेंट होकर गैस पैदा करते हैं ।

( इसे भी पढ़ें : केला कैसे देता है इतनी शक्ति )

इसके अलावा फलों मे अधिक शक्कर मौजूद होने के कारण ये पाचन की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं । फलों का उपयोग खाने के दो घंटे पहले या दो घंटे बाद करना चाहिए । फलों को स्नेक्स की तरह दो भोजन के बीच खाना सही रहता है ।

भोजन के बाद चाय ना पियें

भोजन के तुरंत बाद चाय पीने से भोजन का पाचन मुश्किल हो जाता है । हम जो दूध के साथ उबाल कर चाय बनाकर पीते हैं उसमे एसिड होता है ।

यह एसिड भोजन मे मौजूद प्रोटीन को सख्त बना देता है , जिसके कारण खाना पचने मे बहुत मुश्किल आती है। तथा पाचन मे समय अधिक लगता है जो एसिडिटी का कारण बन सकता है । चाय भोजन के दो घंटे पहले या बाद मे लेने से डाइजेशन मे समस्या उत्पन्न नहीं होती है ।

( इसे भी पढ़ें : चाय के विभिन्न प्रकार और उन्हे बनाने के तरीके क्या आप जानते हैं )

भोजन के बाद अधिक पानी ना पियें ।

कई लोग भोजन के बाद गिलास भरकर पानी पीते हैं जो बिल्कुल गलत है । भोजन के तुरंत बाद पानी अधिक पानी नहीं पीना चाहिए । अन्यथा पेट मे पाचन के लिए निकलने वाले पाचक रस पानी के साथ मिलने से कमजोर पड़ जाते हैं । इसके कारण पाचन सही तरीके से नहीं हो पाता है । अतः पानी खाना खाने के एक-डेढ़ घंटे बाद ही पीना चाहिए ।

( इसे भी पढ़ें : पानी कब , कैसे और कितना पियें )

यदि पानी पीना अधिक जरूरी हो तो एक दो घूंट गुनगुना पानी पीना चाहिए । दवा लेनी हो तो वो भी गुनगुने पानी के साथ लेनी चाहिए । ठंडा पानी बिल्कुल ना लें ।

भोजन के बाद नहाना नहीं चाहिए

खाना खाने के तुरंत बाद नहाना नहीं चाहिए । भोजन करने के पश्चात पाचन के लिए रक्त का बहाव आमाशय की तरफ होने लगता है । ऐसे मे यदि ठंडे पानी से नहाते हैं तो रक्त का बहाव पेट की तरफ होने के बजाय त्वचा की ओर होने लगता है । इस वजह से पाचन प्रक्रिया धीमी हो जाती है ।

इसके अलावा नहाने से शरीर का तापमान कम हो जाता है । यह भी पाचन कमजोर पड़ने का कारण बन सकता है । अतः या तो भोजन करने से पहले नहा लें अथवा भोजन के एक घंटे बाद नहाना चाहिए ।

भोजन के बाद सोना नहीं चाहिए

भोजन के तुरंत बाद सो जाना या बैठे रहना सही नहीं होता है । क्योंकि यह पेट फूलने , गैस बनने और पेट मे भारीपन लगने का कारण बन सकता है ।

रात को तो भोजन करने के बाद कुछ देर टहलना चाहिए । खाना खाने के दो घंटे बाद सोना ठीक रहता है ।

( इसे भी पढ़ें : कहीं आप भी इस गलत तरीके से तो नहीं सोते हैं )

दिन मे लंच के बाद भी तुरंत नहीं सोना चाहिए । थोड़ी चहलकदमी कर लेनी चाहिए । दिन मे भोजन के दो घंटे बाद एक 10 -15 मिनट की झपकी ली जा सकती है लेकिन अधिक नींद लेना उचित नहीं होता है ।

दिन मे झपकी लेते समय यदि लेटना हो तो बाईं करवट लेटना चाहिए । इससे भोजन का पाचन सुगमता से होता है ।

इन सभी बातों का ध्यान रखेंगे तो पाचन क्रिया मे सुधार जरूर महसूस करेंगे । अवश्य अपनाकर देखें ।

इन्हे भी पढ़ें और लाभ उठायें – 

पीपली घर मे क्यों जरूर रखें 

हारसिंगार के पौधे का पौराणिक और औषधीय महत्व

खांड मिश्री बताशा बूरा कैसे बनते है और इनमे क्या फर्क है

सदाबहार के फूल पत्तियां और जड़ का उपयोग

गिलोय की बेल घर मे लगाकर कैसे काम मे लें

ताजा और अच्छी सब्जी छाँट के खरीदने के टिप्स

श्री यंत्र का पूजन करके लक्ष्मी की कृपा कैसे प्राप्त करें

बुरे सपने या अच्छे सपने का क्या अर्थ समझें

सुंदर कांड का पाठ तरीका , नियम और लाभ

कीटो डाइट क्या होती है इससे वजन कम कैसे होता है