परफ्यूम , यूडी कोलोन , डिओडरेंट में क्या फर्क है और इन्हे कब लगाएँ – Perfume Dio Use

90

परफ्यूम , यूडी कोलोन , डिओडरेंट आदि का उपयोग अधिकतर लोग करते हैं । यह आपके व्यक्तित्व का एक हिस्सा बन जाते हैं । जब आपसे सुगंध आती है तो आपका आत्मविश्वास बढ़ता है और लोग आपकी तरफ आकर्षित होते हैं ।

क्या आप जानते हैं कि बाजार में यू डी कोलोन Eau De Cologne , यू डी टोईलेट ( EDT ) , यू डी परफ्यूम ( EDP ) या डिओडरेंट के नाम से मिलने वाले सेंट में क्या अंतर होता है । इसके अलावा डीओ या परफ्यूम कब और कैसे लगाएँ । आइये जाने इन सबके बारे मे ।

परफ्यूम और डीओ कई प्रकार की खुशबू मे उपलब्ध होते हैं जैसे फ्लोरल , ओरिएंटल , वूडी , सिट्रस , मस्क , ग्रीन आदि इनमें से कुछ खुशबु अलग समय और अलग जगह के अनुसार भी लगाई जाती हैं । इनमें से जो खुशबु पसंद आती है उसे खरीदा जाता है । सभी की पसंद अलग अलग होती है।

परफ्यूम केटेगरी – Perfume Categories

परफ्यूम चार प्रकार की कैटेगरी में मिलता है। सेंट की बॉटल पर इनमें से कुछ लिखा होता है –

  • परफ्यूम – Perfume
  • यू डी परफ्यूम – EDP
  • यू डी टोईलेट – EDT
  • यू डी कोलोन – Eau De Cologne

ये सब उत्पाद एल्कोहोल , पानी और खुशबूदार एसेंशल ऑइल के मिश्रण से तैयार किए जाते हैं । एसेंशल ऑइल की मात्रा जितनी ज्यादा होती है खुशबू उतनी ही ज्यादा देर तक टिकती है । साथ ही कीमत भी उतनी ही अधिक होती है । इनमे फर्क इस प्रकार होता है –

परफ्यूम – Perfume

इसमे 20-30 % तक एसेंशल ऑइल या प्योर सेंट होता है । परफ्यूम की कीमत सामान्यतया सबसे अधिक होती है । इसकी खुशबू 24 घंटे तक रह सकती है । सेंसिटिव स्किन वाले लोगों के लिए यह अच्छा रहता है क्योकि इसमे एल्कोहोल की मात्रा कम होती है । एल्कोहोल स्किन को ड्राइ कर देता है । जितना एल्कोहोल कम होगा उतना ही स्किन के लिए अच्छा होगा ।

यू डी परफ्यूम – Eau De Perfume

कुछ लोग परफ्यूम और यू डी परफ्यूम दोनों को एक ही समझते हैं लेकिन इनमे भी अंतर होता है । यू डी परफ्यूम मे 15-20% तक इसमे सेंट ऑइल होता है । यह यूनीसेक्स होता है यानि इसे महिला या पुरुष दोनों लगा सकते हैं । इसमे इसकी खुशबू 5-8 घंटे त्तक रहती है ।

यू डी टॉइलेट Eau De Toilette

इसमे 5-15 % तक ऑइल होता है । इसकी खुशबू लगभग तीन घंटे तक रहती है ।

यू डी कोलोन Eau De Cologne

इसमे 2-4 % सेंट ऑइल होता है बाकी पानी और एल्कोहोल का मिश्रण होता है । यह लगभग 2 घंटे तक खुशबू देता है । इसके बाद फिर से लगाना पड़ता है । इसकी कीमत कम होती है ।

कुछ देशों मे यू डी कोलोन को पुरुषों का सेंट तथा यू डी परफ्यूम को महिलाओं का सेंट कहते हैं । लेकिन असल मे जो खुशबू अच्छी लगे और दूसरे लोगों को भी भाए वैसी खुशबू का उपयोग किसी के द्वारा भी किया जा सकता है ।

कुछ मशहूर परफ्यूम मे कूल वॉटर , जैगुआर ब्लैक , सीके वन , सीके एटर्नीटी , फेरारी ब्लैक , अजारो क्रोम , 212 केरोलिना हेरेरा , द वन आदि शामिल हैं । अब भारतीय कंपनियाँ भी कई प्रकार के शानदार परफ्यूम बनाने लगी है जो देश विदेश मे लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं ।

परफ्यूम नोट्स – Perfume Notes

कंपनियाँ खुशबू बनाते समय कई प्रकार के ऑइल के मिश्रण से सेंट बनाती हैं । ये एसेंशल ऑइल अपनी खुशबू बिखेरने मे अलग अलग समय लगा सकते हैं । परफ्यूम को स्प्रे करने पर जो खुशबू सबसे पहले आती है उसे टॉप नोट , इसके बाद आने वाली खुशबू को हार्ट नोट और अंत मे आने वाली खुशबू को बेस नोट कहा जाता है ।

टॉप नोट – Top Note

टोप नोट वाली खुशबू सिर्फ 5 -10 मिनट तक रहती है । जब स्प्रे करते हैं तो तुरंत जो खुशबू आती है वो टॉप नोट की होती है । लेकिन यह सबसे जल्दी खत्म भी हो जाती है । इसलिए टॉप नोट की खुशबू को पसंद करके परफ्यूम नहीं खरीदना चाहिए । कॉमन टॉप नोट्स मे सिट्रस ( ऑरेंज , लेमन , बर्गमोट ) , हर्ब्स ( लेवेंडर , क्लारी सागे ) और लाइट फ्रूट ( बेरी , अंगूर ) आदि शामिल किए जाते हैं ।

हार्ट नोट या मिडल नोट – Heart Note

यह खुशबू परफ्यूम स्प्रे करने के लगभग 15 मिनट बाद महसूस होती है । जो एक घंटा या कुछ अधिक समय तक रहती है । टॉप नोट की खुशबू बंद होने के बाद मिडल नोट की खुशबू का अहसास होता है । इसे हार्ट नोट भी कहा जाता है । यह खुशबू टॉप नोट की अपेक्षा अधिक समय तक रहती है और बेस नोट वाली खुशबू पर भी असर करती है । यह अत्यधिक सुकून वाली खुशबू होती है । सामान्य तौर पर यह खुशबू फ्रूटी या फ्लोरल होती है ।

इस नोट के लिए जरेनियम , जायफल , इलायची , दालचीनी , लेवेंडर , गुलाब , लेमन ग्रास , जैस्मिन आदि की खुशबू को शामिल किया जाता है ।

बेस नोट – Base Note

यह खुशबू सबसे ज्यादा देर तक रहती है और हार्ट नोट के साथ घुल मिल जाती है । इसमे सामान्य तौर पर वनीला , अंबर , पचोली , चन्दन , सीडार , ओक मस्क आदि की खुशबू शामिल की जाती हैं ।

परफ्यूम खरीदते समय कौनसे नोट्स के लिए कौनसी खुशबू का उपयोग किया गया है यह जरूर देख लेना चाहिए । उस खुशबू से ही परफ्यूम खरीदने का निर्णय करना चाहिए अन्यथा हो सकता है कि जो खुशबू आप लेना चाहते थे वो आपको ना मिले ।

परफ्यूम लगाने का सही तरीका

How to use perfume

परफ्यूम को स्प्रे किया जाता है। इससे खुशबु के कण ज्यादा जगह में फ़ैल कर वातावरण को महका देते हैं।

कुछ लोग परफ्यूम को स्प्रे करने के बाद उसे रगड़ देते हैं । ऐसा नहीं करना चाहिए अन्यथा परफ्यूम की गंध मे बदलाव हो सकता है । इसके अलावा परफ्यूम के नोट्स भी बिगड़ सकते हैं ।

परफ्यूम स्प्रे करने के लिए बॉटल को अपनी स्किन से 6 से 12 इंच की दूरी पर रखकर स्प्रे करना चाहिए । इससे ज्यादा हिस्से मे खुशबू लग पाती है । परफ्यूम स्किन या कपड़े दोनों पर स्प्रे किए जा सकते हैं । स्किन पर स्प्रे करने के लिए कलाई पर पल्स वाली जगह पर , चेस्ट पर , सामने गले के निचले हिस्से पर और गर्दन के पीछे एक या दो दो बार स्प्रे करना चाहिए । इतनी खुशबू पर्याप्त होती है ।

कपड़ों पर परफ्यूम स्प्रे करने से पहले देख लेना चाहिए कि उससे कपड़े पर दाग तो नहीं पड़ता है । यदि ऐसा हो तो कपड़े पर स्प्रे ना करें । कपड़े पर दूर से स्प्रे करने पर दाग लगने कि संभावना कम हो जाती है ।

परफ्यूम और डीओडरेंट मे अंतर

Diffrence between Perfume and dio

मार्केट मे परफ्यूम और डीओ हर जगह उपलब्ध हैं । ये दोनों बिल्कुल अलग चीजें हैं और इन्हे लगाने का उद्देश्य भी अलग होता है। कुछ लोग कन्फ्यूज होते हैं कि परफ्यूम कब यूज़ करें और डीओ कब यूज़ करें ।

डीओ और परफ्यूम मे सबसे बड़ा फर्क इन्हे लगाने का उद्देश्य है । डीओ पसीने की बदबू को दबाने के लिए होता है । डीओ मे ऐसे केमिकल होते हैं जो पसीने मे बदबू पैदा करने वाले बेक्टीरिया को रोकते हैं । एक प्रकार से डीओ एक जरूरत है । जबकि परफ्यूम लक्ज़री कोस्मेटिक उत्पाद है । यह आकर्षक महसूस कराते हैं तथा माहौल महका देते हैं । ये एक विशेष खुशबू फैलाने तथा दूसरे लोगों को प्रभावित करने के उद्देश्य से लगाए जाते हैं ।

डीओ सिर्फ स्किन पर लगाने के लिए होते हैं ताकि पसीने की बदबू दब जाए । परफ्यूम को शरीर और कपड़े दोनों पर लगाया जा सकता है ।

परफ्यूम की खुशबू अधिक देर तक रहती है और ये महंगे होते हैं । डीओ सस्ते होते हैं क्योकि इनमे अधिकतर केमिकल होता है । डीओ की खुशबू बहुत जल्दी उड़ जाती है ।

डीओ स्प्रे , रोल ऑन तथा स्टिक के रूप मे मिलते हैं । परफ्यूम बोटल , स्प्रे मिस्ट के रूप मे मिलते हैं ।

आशा है यह लेख पढ़कर आपको नया कुछ जानने को जरूर मिला होगा और आपके संशय दूर हुए होंगे। तो फिर महकिये और महकाइये …

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें 

डिशवाशर की पूरी जानकारी आसान हिंदी में 

माइक्रोवेव ओवन खरीदते समय क्या ध्यान रखें

क्या एयर फ्रायर घर के लिए लेना चाहिए 

टॉप लोडिंग और फ्रंट लोडिंग वाशिंग मशीन में कौनसी चुने

फ्रिज कितने तरह के कौनसा लें

आर ओ फ़िल्टर का वेस्ट पानी फिर से काम में लेने के तरीके 

ये आसान से उपाय कर लें मच्छर नजर नहीं आयेंगे 

बिना AC घर को ठंडा रखने के आसान उपाय 

इसे पढ़ने के बाद नींबू के छिलके कोई नहीं फेंकेगा 

दीमक आसपास भी नहीं फटकेगी अगर ये उपाय कर लिए 

पत्नी हमेशा रहेगी खुश यदि ये छोटे आसान से प्रयास किये