सोना खरीदने के सुरक्षित और आधुनिक तरीके – Gold Investment Safe and modern Ways

935

सोना निवेश का एक पुराना और अच्छा माध्यम हमेशा से रहा है । सोने के भाव लगातार बढ़ते रहते हैं । जब शेयर मार्केट मे मंदी होती है या विश्व मे कुछ तनाव पैदा हो जाता है तो सोने के भाव तेजी से बढ़ते हैं । पिछले कुछ दशकों मे सोने मे निवेश करके लोगों ने अच्छा रिटर्न प्राप्त किया है ।

सोने मे निवेश – Gold Investment

हमारे देश मे सोने मे निवेश की परंपरा हमेशा से रही है । पारंपरिक तरीकों में सोने के गहने Gold Jewellery , सोने के सिक्के Gold Coin या बिस्किट और कुछ अन्य सामान खरीदे जाते रहे हैं । सिर्फ महिलायें ही नहीं पुरुष भी सोने के गहने खरीदते और पहनते हैं । इससे शौक भी पूरा होता है और निवेश भी हो जाता है । परंतु यदि सोने मे इन्वेस्ट करके अच्छा लाभ प्राप्त करना Earn good profit from gold ही लक्ष्य हो  , तो पारंपरिक तरीकों में कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है जैसे –

  • मेकिंग या डिजाइन का चार्ज देना पड़ता है जो बहुत महंगा पड़ता है । उस रकम पर कोई लाभ प्राप्त नहीं होता है ।
  • सुरक्षा की व्यवस्था करनी पड़ती है । चोरी होने का डर हमेशा लगा रहता है ।
  • यदि बैंक लॉकर मे रखते हैं तो उसका किराया देना पड़ता है ।
  • कभी बेचना हो तो पूरी कीमत नहीं मिल पाती ।
  • बेचने पर टैक्स का अधिक भार वहन करना पड़ता है ।

इस प्रकार की परेशानियों को कम करने के लिए सोने मे निवेश के अन्य साधन अपनाए जा सकते हैं । जो सुरक्षित भी हैं और सोने के भाव मे बढ़ोतरी होने पर उचित और पूरा लाभ प्रदान करते हैं । इन साधनों मे गोल्ड म्यूचुअल फंड Gold Mutual Fund , गोल्ड ई टी एफ Gold ETF  , सोवरेन गोल्ड बॉन्ड Sovereign Gold Bond तथा डिजिटल गोल्ड Digital Gold आदि विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं । आइए जाने इन साधनों के माध्यम से सोने मे इनवेस्टमेंट कैसे करें ।

गोल्ड म्यूचुअल फंड कैसे खरीदें

जिस प्रकार शेयर बाजार मे म्यूचुअल फंड के माध्यम से निवेश किया जाता है उसी प्रकार से सोने मे भी म्यूचुअल फंड के माध्यम से निवेश किया जा सकता है ।

सोने के म्यूचुअल फंड मे एसआईपी ( sip ) की सुविधा भी ली जा सकती है । इसमें एक निश्चित अंतराल पर एक फिक्स अमाउन्ट लगातार निवेश होता रहता है । सोने की एसआईपी करने से रोजाना घटने बढ़ने वाले भाव की चिंता नहीं रहती ।

गोल्ड म्यूचुअल फंड खरीदने के लिए डीमेट खाते की जरूरत नहीं होती है । लेकिन आपके पास पैन नंबर का होना जरूरी होता है । आप बैंक की शाखा से गोल्ड म्यूचुअल फंड खरीद सकते हैं । ऑनलाइन भी गोल्ड म्यूचुअल फंड खरीदे जा सकते हैं ।

कुछ मुख्य गोल्ड म्यूचुअल फंड इस प्रकार हैं – एचडीएफसी गोल्ड फंड , एसबीआई गोल्ड फंड , आईसीआईसीआई प्रू गोल्ड सेविंग फंड, एक्सिस गोल्ड फंड आदि । बैंक की शाखा मे संपर्क करके यह निवेश किया जा सकता है । अपने निवेश सलाहकार की सलाह से भी निवेश कर सकते हैं ।

गोल्ड म्यूचुअल फंड एक छोटी रकम हर साल चार्ज करते हैं । यह रकम एक्सपेन्स रेशों कहलाती है । Expense Ratio हर कंपनी का अलग हो सकता है । आपको निवेश करने से पहले इसके बारे में जानकारी ले लेनी चाहिए ।

जब चाहें म्यूचुअल फंड बेचकर अपना पैसा वापस प्राप्त कर सकते हैं । यह बैंक से पैसा निकालने जितना ही सुविधा जनक होता है । यदि आप और अधिक निवेश करना चाहें तो उसी फोलीओ मे निवेश बढ़ा भी सकते हैं ।

आप अपने इनवेस्टमेंट पर लगातार नजर रख सकते हैं । उसकी आज की कीमत पता कर सकते हैं ।  कंपनी के कस्टमर केयर सर्विस द्वारा अपने निवेश की जानकारी ले सकते हैं । इसके अलावा कंपनी की वेबसाइट पर या ई मेल के माध्यम से भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है ।

गोल्ड ई टी एफ कैसे खरीदें

गोल्ड ई टी एफ सोने मे निवेश का एक अन्य आधुनिक तरीका है  । इसके लिए आपके पास एक डीमेट अकाउंट Dmat Account और एक ट्रेडिंग अकाउंट Trading Account होना चाहिए । जो एक ब्रोकर के साथ या बैंक मे खुलवाया जाता है । इस Dmat Account के माध्यम से शेयर की खरीद बेच भी की जा सकती है ।

गोल्ड ई टी एफ Gold ETF को भी शेयर की तरह खरीदा बेचा जाता है । यानि जिस दिन चाहें खरीद सकते है और जिस दिन चाहें बेच सकते हैं । इनकी ट्रेडिंग स्टॉक एक्सचेंज पर होती है । गोल्ड ETF खरीदने या बेचने पर थोड़ा ब्रोकिंग चार्ज लगता है ।

इसमे आपको सोना यूनिट के रूप मे मिलता हैं । यूनिट का भाव सोने के भाव से जुड़ा होता है । सोने के भाव बढ़ने पर यूनिट के भाव भी बढ़ जाते हैं इसी तरह घटने पर घट भी जाते हैं । यूनिट बेचने पर उस दिन के यूनिट के भाव के अनुसार राशि आप प्राप्त कर सकते हैं ।  कुछ मुख्य गोल्ड ई टी एफ इस प्रकार हैं –

एचडीएफसी गोल्ड ई टी एफ , बिरला सन लाइफ गोल्ड ई टी एफ , एस बी आई गोल्ड ई टी एफ , रिलायंस गोल्ड ई टी एफ , एक्सिस गोल्ड ई टी एफ आदि ।

सोवरेन गोल्ड बॉन्ड

ये बॉन्ड रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा जारी किए जाते हैं । बॉन्ड जारी करने की अवधि और बॉन्ड का भाव निश्चित होता है। ये कब जारी होते है ये विभिन्न सूत्रों से पता किया जा सकता है । बैंक अथवा ब्रोकर से भी इसकी सूचना मिल सकती है । सोवरेन गोल्ड बॉन्ड Dmat के रूप मे भी खरीद जा सकते हैं ।

एक निवेशक 1 ग्राम से लेकर 4 किलो तक मात्रा मे सोना इस माध्यम से खरीद कर सकता है । सोने की कीमत बढ़ने पर बॉन्ड की कीमत भी बढ़ जाती है ।

बॉन्ड कागजी रूप मे होते हैं । इन बॉन्ड को खरीदने पर 2.5 प्रतिशत का ब्याज अलग से मिलता है । ब्याज का भुगतान साल मे दो बार प्राप्त होता है । ये  बॉन्ड बैंक से लोन प्राप्त करने के लिए गिरवी रखे जा सकते हैं ।44

इस बॉन्ड की अवधि 8 वर्ष की होती है । 8 साल पूरे होने पर प्राप्त राशि पर किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लगता । इस बॉन्ड की राशि 5 साल बाद भी प्राप्त की जा सकती है । राशि का भुगतान टुकड़ों मे लिया जा सकता है ।

यदि आपके पास डीमेट अकाउंट है तो उसमे यह बॉन्ड डीमेट के रूप मे रखे जा सकते है ।

डिजिटल गोल्ड

यदि आप डिजिटल गोल्ड खरीदते हैं तो आपके लिए गोल्ड खरीद कर सुरक्षित रूप से रख दिया जाता है । सोना आपका होता है जिसकी सुरक्षा की चिंता आपकी नहीं होती । इस पर कोई मेकिंग चार्ज भी नहीं लगता ।

सोने की कीमत पर जीएसटी जोड़ कर आपसे पैसा लिया जाता है । इसके अलावा सोने की सुरक्षित रखने की कुछ कीमत भी ली जा सकती है ।

यदि आप चाहें तो इस सोने की डिलीवरी भी ले सकते हैं । उस केस मे आपसे मेकिंग चार्ज लिया जा सकता है । आप चाहें तो एक या दस रुपये का डिजिटल सोना भी खरीद सकते हैं । एम एम टी सी  , सेफ गोल्ड और अगमॉन्ट कंपनी से ये डिजिटल सोना खरीद सकते हैं ।

अस्वीकरण : इस लेख का उद्देश्य जानकारी देना मात्र है। किसी भी निवेश से पहले सलाहकार से परामर्श जरूर करें ।

इन्हे भी देखें –

म्युचुअल फंड क्या होते हैं जानें सरल हिंदी में 

एसआईपी SIP क्या होती है और कैसे शुरू करते है

हेल्थ इंश्योरेंस कराने से पहले ये जरूर जान लें 

शेयर बाजार मे निवेश करें या नहीं 

वारंटी मे सामान खराब होने पर ये जरूर करें 

सुंदरकांड का पाठ कराने के आश्चर्यजनक फायदे तथा नियम 

पतला होने के लिए डायटिंग करने से पहले सावधान

फ्रिज कितने तरह के कौनसा लें