सीसम के पत्ते , तेल और लकड़ी के फायदे – Rosewood Leaf , Oil Benefits

40

सीसम का पेड़ आसानी से दिखाई दे जाता है । इसे सिसु , ताहली या ताली , बिरदी , सीसाऊ आदि के नाम से भी जाना जाता है । यह पंजाब का राज्य वृक्ष है । इस सदाबहार पेड़ की चीकू जितने साइज़ की छोटी और चिकनी पत्तियाँ होती हैं । इसके छोटे पीले रंग के फूल होते हैं । इसमे ढाई से तीन इंच की फलियाँ लगती है ।

सीसम के पेड़ से लाभ

sisam tree ke fayde

सीसम की लकड़ी का फ़र्निचर बनता है जो बहुत मजबूत और भारी होता है । इंगलिश मे सीसम की लकड़ी को रोज़ वुड Rosewood कहते हैं । सीसम की लकड़ी से तेल प्राप्त होता है जो दवा के रूप मे काम आता है । इसके अलावा सीसम की छाल , जड़ और पत्तियों का उपयोग भी दवा के रूप मे हो सकता है ।

सीसम की मदद से कई प्रकार की शारीरिक परेशानी जैसे पाचन की समस्या , जोड़ों मे दर्द , आँखों मे जलन , आँखें लाल होना , नकसीर आना , दांत या त्वचा संबंधी परेशानी मे लाभ मिल सकता है ।

आइए जानें सीसम पेड़ का उपयोग अनेक शारीरिक समस्या मे कैसे फायदा करता है ।

दर्द के लिए सीसम का तेल

sisam oil benefit for pain

दाँत मे , सिर मे या जोड़ों मे दर्द हो तो सीसम के तेल से आराम मिल सकता है । सिर दर्द हो तो इसके तेल की मालिश करनी चाहिए । दाँत मे दर्द हो तो सीसम के तेल मे रुई का फाया भिगोकर दाँत पर रखना चाहिए । जोड़ों मे दर्द हो तो सीसम का तेल गरम करके जोड़ों पर मालिश करने से लाभ होता है ।

इसे भी पढ़ें : दाँत मे दर्द के आसान घरेलू उपाय 

आँख लाल हो या आँख मे जलन हो

sisam leaves benefit for eyes

सीसम के कोमल पत्ते अच्छे से धोकर पीस लें । इसकी लुगदी को रात को सोते समय आँखों के ऊपर रखकर हल्के से बांध लें । इससे आँखों के दर्द , जलन और लालिमा से मुक्ति मिलती है ।

इसे भी पढ़ें : आँखों को स्वस्थ बनाए रखने के घरेलू उपाय और नुस्खे 

शरीर मे जलन

sisam oil benefit for burning sensation

कुछ लोगों को शरीर मे जलन महसूस होती है । इसके लिए शीशम का तेल जलन वाले हिस्से मे कुछ दिन लगाने से जलन ठीक होती है ।

पेट की जलन

sisam leaves benefit for stomach

पेट मे जलन होने पर शीशम के कुछ पत्ते पीस कर एक गिलास पानी मे मिला लें । इसे छान लें फिर उसमे मिश्री मिलाकर पीने से पेट की जलन मे आराम मिलता है ।

इसे भी पढ़ें :  एसिडिटी बिना दवा मिटाने के घरेलू उपाय 

पेशाब की परेशानी

sisam leaf benefit for urin problems

पेशाब रुक रुक कर आना , पेशाब करते समय जलन होना या दर्द होना । इन सब परेशानियों में सीसम के पत्ते का काढ़ा बना कर सेवन करने से लाभ मिलता है ।

इसे भी पढ़ें : पेशाब मे परेशानी हो तो ये घरेलू उपाय आजमाएं  

स्तन की सूजन

sisam leaves benefit for breast swelling

महिलाओं को अक्सर स्तन मे सूजन की समस्या हो जाती है । ऐसे मे सीसम के पत्तों को गरम करके स्तनों पर बांधने से सूजन ठीक हो जाती है । सीसम के पत्तों के काढ़े से स्तनों को धोने से भी सूजन मे आराम मिलता है । सीसम के पत्तों की भाप भी लाभप्रद होती है ।

मासिक धर्म की परेशानी

sisam leaf benefit for periods

सीसम के पत्तों का काढ़ा दिन मे दो बार आधा कप पीने से मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द मे आराम मिलता है । सीसम के 8-10 पत्ते मिश्री के साथ पीस कर लेने से मासिक के समय अनियमित रक्त स्राव सामान्य होता है ।

ल्यूकोरिया

sisam leaf benefit for lucoria

सीसम के पत्तों का काढ़ा बना कर इससे योनि को धोने से ल्यूकोरिया मे लाभ होता है । साथ ही सीसम के पत्ते मिश्री के साथ पीस कर सुबह इसका सेवन करना चाहिए ।

त्वचा रोग

sisam oil benefit for skin problem

सीसम का तेल त्वचा पर लगाने से चरम रोग ठीक होते हैं । यह खुजली भी ठीक करता है । साथ ही आधा कप सीसम के पतों का काढ़ा भी पीना चाहिए ।

रक्त संचार

sisam leaf benefit for blood circulation

आधा कप दही मे एक चम्मच शक्कर और एक चम्मच सीसम के पत्तों का रस मिलाकर लेने से रक्त संचार मे लाभ होता है ।

रक्त विकार

sisam wood benefit for blood purification

सीसम की लकड़ी का बुरादा पानी मे भिगोकर उबालकर बुरा मिलाकर पीने से रक्त विकार दूर होते हैं । इस उपाय से बवासीर का रक्त स्राव और मासिक का अधिक स्राव भी ठीक होता है ।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें

लौंग नुकसान भी कर सकती है सावधान रहें 

शहद के गुण , फायदे और घरेलू नुस्खों मे उपयोग 

हल्दी से कैसे प्राप्त करें सुंदरता और स्वास्थ्य 

सौंफ के ऐसे फायदे जो सोचें भी ना होंगे

काली मिर्च का उपयोग आज से ही शुरू कर दें क्योंकि

हींग का उपयोग कीसे नहीं करना चाहिए 

सब्जी खरीदते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें 

सफेद मूसली ताकत के लिए क्या सिर्फ पुरुष खा सकते हैं