बर्फ को क्या कभी ऐसे काम में लिया है – Amazing Use of ice

98

बर्फ Ice हर घर में उपलब्ध होता है। हम सब फ्रिज से बर्फ के क्यूब ice cube निकाल कर काम में लेते रहते हैं। अधिकतर शर्बत या अन्य ड्रिंक को ठंडा करने में ही इसका उपयोग किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बर्फ का उपयोग इसके अलावा भी कई प्रकार से किया जा सकता है। आइये जाने बर्फ के फायदे Barf ke fayde और उपयोग कुछ अलग प्रकार के –

कड़वी दवा आसानी से लेने के लिए बर्फ

कई बार हमें कड़वी दवा लेनी पड़ जाती है पर कड़वे स्वाद के कारण दवा लेना मुश्किल हो जाता है। इसका समाधान बर्फ द्वारा हो सकता है। जब भी दवा लेनी हो उसके तुरंत पहले एक आइस क्यूब मुंह में रखकर जीभ पर फिराएं।  इससे जीभ पर कुछ समय के लिए स्वाद आना बंद हो जाता है। अब आप कड़वी दवा भी आसानी से ले सकते हैं।

बाल , कपड़े या कारपेट से च्युंगम हटाने के लिए बर्फ

च्युंगम चबाने में बहुत मजा आता है लेकिन यदि यह गलती से कपड़े , बाल या कारपेट पर चिपक जाये तो उसे निकालना मुश्किल हो जाता है। यह मुश्किल बर्फ के उपयोग से आसान हो सकती है। इसके लिए थोड़ी देर बर्फ को च्युंगम पर रखकर उसे ठंडा होने दें। इससे चुन्गम कड़क हो जाती है फिर उसे आसानी से निकाला जा सकता है।

क्रीम फेंटने के लिए बर्फ

क्रीम Cream फेंटते समय क्रीम वाले बर्तन के नीचे एक दुसरे बड़े बर्तन में बर्फ या आइस क्यूब्स डालकर रखने से जिस बर्तन में क्रीम है वह ठंडी chilled रहेगी। इससे फेंटने पर क्रीम पतली नहीं होगी और बहुत अच्छी बनेगी।

बाल हटाने के लिए बर्फ

स्किन से बाल हटाने की अक्सर जरुरत पड़ती है खासकर महिलाओं को। जैसे आईब्रो या अपरलिप्स के लिए थ्रेडिंग या वैक्सिंग आदि करके । इस प्रक्रिया में दर्द होता है। इसके लिए बाल निकालने से पहले वहां बर्फ लगा लें फिर कपड़े से पोंछ कर बाल निकालें।

बर्फ से स्किन कुछ समय के लिए सुन्न हो जाती है जिससे बाल निकालने पर दर्द कम होता हैं। थ्रेडिंग या वैक्सिंग के बाद भी यदि बर्फ लगा ली जाये तो आराम मिलता है।

( इसे भी पढ़ें : हॉट वैक्सिंग और कोल्ड वैक्सिंग मे क्या फर्क होता है और इनके फायदे नुकसान क्या हैं )

सूजन व दर्द मिटाने के लिए बर्फ

शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन या दर्द होने पर बर्फ लगाने से आराम मिलता है। बर्फ के कारण रक्त शिराएँ सिकुड़ जाती हैं इससे सूजन ठीक होने में मदद मिलती है।

इसके लिए कपड़े में कुछ आइस क्यूब लपेट लें। इससे दर्द वाली जगह 10-15 मिनट तक हर दो घंटे में सिकाई करें। बर्फ को सीधे ही त्वचा पर ना रखें इससे फ्रोस्ट बाईट होने का खतरा होता है। सूजन पर बर्फ की सिकाई डॉक्टर से पूछ कर ही करनी चाहिए।

कांटा या फ़ांस चुभने पर बर्फ

फ़ांस या कांटा चुभ जाये तो बहुत परेशानी होती है। विशेषकर यदि नाख़ून के अंदर जैसी कोमल जगह। इसके लिए उस जगह पहले बर्फ लगा लें फिर फ़ांस निकालने की कोशिश करें। ऐसा करने से दर्द कम होगा और कांटा आसानी से निकाल सकेंगे।

मुहाँसों में आराम के लिए बर्फ

मुहाँसे गंदे तो दिखते ही हैं , सूजन और दर्द के कारण परेशानी भी बहुत होती है। बर्फ इस सूजन और दर्द को कम कर सकता है साथ ही मुहांसे मिटाने में सहायक भी हो सकता है । ओइली स्किन वाले लोगों को मुहांसों की समस्या अधिक होती है।

इसके लिए कपडे में बर्फ के क्यूब रखकर दो तीन मिनट स्किन पर लगायें। आइस क्यूब लगाने से सिबेशस ग्रंथि की कार्यविधि धीमी हो जाती हैं। इस वजह से सीबम का बनना भी कम हो जाता है। सीबम ही मुहाँसों का कारण होता है।

इसके अलावा थोड़ी देर बर्फ लगाने से स्किन से ऑइल भी कम हो जाता है और स्किन सॉफ्ट और ग्लोइंग हो जाती है।मुहासों की सूजन भी इससे कम हो जाती है।

( इसे भी पढ़ें : मुँहासे होने के कारण तथा आसान घरेलु उपाय )

मेकअप टिकाऊ बनाने के लिए बर्फ

महिलाओं का अच्छे से किया गया मेकअप भी पसीने के कारण जल्दी ख़राब हो सकता है। इससे बचने के लिए मेकअप करने से पहले यदि बर्फ लगा ली जाये तो इससे खुले हुए पोर सिकुड़ जाते हैं। इससे मेकअप अच्छा लुक देता है तथा लम्बे समय तक मेकअप ख़राब नहीं होता।

ऐंठन व मोच के लिए बर्फ

मांसपेशी में ऐंठन या मोच आ गई हो तो बर्फ मलने से आराम मिल सकता है। इंजेक्शन लगने के बाद होने वाले दर्द में भी बर्फ मलने से आराम मिलता है। इसे डॉक्टर से पूछकर दिन दो तीन बार किया जा सकता है।

( इसे भी पढ़ें : मोच से बचने के तरीके और घरेलु उपचार  )

डार्क सर्किल के लिए बर्फ

आँखों के काले घेरे तथा आँखों के आसपास सूजन को कम करने में बर्फ से मदद मिल सकती है। यह रक्त शिराओं को सिकोड़ देता है। इससे स्किन की डलनेस भी कम होती है।

इसके लिए ककड़ी का रस और गुलाब जल मिलाकर इसके आइस क्यूब बना लें। इन्हे आँखों के आसपास फिरायें। कुछ दिन नियमित ऐसा करने से बहुत लाभ होता है।

आँखों के पास डार्क सर्किल मिटाने सम्बन्धी बातें विस्तार से जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

उल्टी , जी घबराना

उल्टी हो रही हो या जी मिचला रहा हो तो बर्फ के टुकड़ा मुंह में रखकर चूसने से आराम मिलता है।

अंदर की चोट के लिए बर्फ

कभी कभी दरवाजे में अंगुली आ जाने से या चोट लगने से खून बाहर नहीं निकलता लेकिन स्किन के अन्दर जमा हो जाता है तथा बहुत दर्द करता है। इसके लिए ऐसी चोट लगने पर तुरंत बर्फ लगा लेने से अन्दर खून जमा नही होता तथा दर्द में भी आराम मिलता है।

नकसीर के लिए बर्फ

गर्मी के मौसम में कुछ लोगों को अक्सर नकसीर ( नाक से खून ) की समस्या का सामना करना पड़ जाता है। ऐसा होने पर बर्फ को कपड़े में लपेट कर नाक के आसपास लगाने से नकसीर बंद हो जाती है। नकसीर आने पर क्या करना चाहिए विस्तार से जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

बर्फ को सीधे त्वचा पर नहीं लगाना चाहिए , एक मुलायम कपड़े में बर्फ लपेट कर लगाना चाहिए . अन्यथा त्वचा फ्रॉस्ट बाईट के कारण लाल हो सकती है।

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

सपने कब क्यों और कैसे आते हैं

रुद्राक्ष से लाभ और असली की पहचान

कीटजनिक डाइट से वजन से कम कैसे होता है

सोने के जेवर और हॉलमार्किग

रेशम के कपड़ों की खासियत और गुण

सिंथेटिक कपडे क्यों नहीं पहनने चाहिए 

डॉक्टर की डिग्री का क्या मतलब होता है 

अंगुली चटकाने पर आवाज क्यों आती है 

मच्छर किसे और क्यों ज्यादा काटते हैं 

एल्युमिनियम के बर्तन और फॉइल से क्या नुकसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here