दाद खाज मिटाने के आसान घरेलु नुस्खे – Ringworm ke Gharelu nuskhe

दाद Ringworm त्वचा पर होने वाली एक आम बीमारी है। इसे रिंगवर्म कहते है लेकिन यह किसी वर्म worm  यानि कीड़े के कारण नहीं

होता है। चिकित्सा की भाषा में इसे टिनिया Tinea कहा जाता है। यह एक फंगल इन्फेक्शन है जो नमी वाले और गर्म वातावरण के कारण

होता है। इसमें त्वचा पर गोल आकार में लाल दानेदार फुंसी या पपड़ी युक्त घेरा सा बन जाता है , जिसमे खुजली चलती है।

 

 

दाद शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है। दाद यदि सिर पर हो तो गोलाकार में बाल उड़े हुए दिखाई पड़ते हैं। यह चेहरे पर , गले में ,

बगल Armpit में , जांघों के बीच वाली त्वचा , पीछे कूल्हे पर या पैरों पर कहीं भी हो सकता है। यह शरीर में एक से ज्यादा जगह पर भी हो

सकता है।

 

दाद छूने से फैलने वाली Contagious  बीमारी है। अर्थात यह एक व्यक्ति से दूसरे को लग सकती है। इसे फंगस या एक प्रकार की फफूंद

समझ सकते हैं। इसका असर सामान्यतया सिर्फ बाहरी त्वचा तक ही सीमित रहता है। इसका असर त्वचा के अंदर रक्त आदि में नहीं जाता

और ना ही भीतरी अंगों को कोई नुकसान पहुंचाता है। उचित इलाज से ये ठीक हो जाते हैं।

 

दाद किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकते है। लेकिन बच्चों को यह समस्या ज्यादा होती है। ये गर्मी और नमी वाले मौसम में अधिक होते हैं।

किसी को दाद हो रहा हो तो उसे छूने वाले को या उसके द्वारा उपयोग में लाई गई किसी वस्तु का उपयोग करने से यह दूसरे को लग सकता है।

जैसे किसी को सिर में दाद है तो उसका कंघा काम में लेने वाले को यह हो सकता है। इसी प्रकार से रिंगवर्म से ग्रस्त व्यक्ति के कपड़े उपयोग

करने से हो सकता है।

 

यह इन्फेक्शन पालतू जानवर जैसे कुत्ते बिल्ली को भी होता है और इनसे इंसान को लग सकता है। इसलिए किसी जानवर के शरीर पर धब्बे

दिखाई दें जहाँ त्वचा अजीब सी हो रही हो और वहाँ बाल ना हो तो उसे छूना नहीं चाहिए। यह दाद हो सकता है और छूने पर उस जानवर से

आपको लग सकता है।

 

दाद होने के कारण –  Ringworm Reasons

 

यह प्राकृतिक रूप से नमी और गर्मी से पैदा होने वाली फंगस है। सही तरीके से शरीर की साफ सफाई नहीं होना , त्वचा में नमी बने रहना ,

ज्यादा पसीना आना , प्रतिरोधक क्षमता कम होना , मोटापा आदि कारणों से त्वचा में दाद हो सकते हैं। मोटापे के कारण पसीना ज्यादा आता है

जो रिंगवर्म का कारण बन सकता है।

 

किसी को रिंगवर्म हो रहे हों तो ऐसे व्यक्ति के पर्सनल सामान के उपयोग से यह आपको भी हो सकता है। त्वचा पर होने वाली यह फंगस या

कवक सिर्फ बाहरी त्वचा पर जिन्दा रहती है। ये अंदर वाली स्किन तक नहीं जाती और म्यूकस मेम्ब्रेन वाली त्वचा जैसे मुंह या योनि आदि में

जीवित नहीं रह पाती।

 

प्राकृतिक रूप से धरती पर जैसे फंगस या फफूंद बहुत सी चीजों में हो जाती है , उसी प्रकार उचित वातावरण मिलने पर त्वचा पर भी हो

सकती है। यह अच्छी बात है की त्वचा पर होने वाली फंगस कम प्रकार की ही होती है और कुछ सावधानियाँ रखने से इनसे बचा जा सकता है।

 

दाद से बचने के उपाय – Ringworm  Prevention

 

त्वचा की साफ सफाई का ध्यान रखें। नहाते समय शरीर के प्रत्येक हिस्से की त्वचा की सफाई अच्छे से करनी चाहिए। नहाने के बाद सूखे

तौलिये से त्वचा को पोंछकर अच्छे से सुखा लेना चाहिए।  विशेषकर जांघों के आस पास Groin Area  , बगल Armpit , गला आदि स्थान की

त्वचा में नमी होने की सम्भावना अधिक होती है।  टेलकम पाउडर आदि का उपयोग स्किन को सूखा रखने के लिए किया जा सकता है।

 

टाइट सिंथेटिक कपड़े ना पहने। कॉटन के ढ़ीले वस्त्र में हवा लगती रहती है जिससे त्वचा सूखी रहती है।

 

पर्सनल वस्तु शेयर नहीं करनी चाहिए। किसी अन्य व्यक्ति का तौलिया , रुमाल ,अंडर गारमेंट्स , खेल के सामान  , कंघा , हेयर ब्रश आदि

का उपयोग नहीं करना चाहिए।

 

पालतू जानवर जिनकी त्वचा पर धब्बे हों और वहां बाल ना हो तो उनको ना छुएं। ये फंगस के कारण हो सकता है जिसे छूने पर आप भी इसके

शिकार हो सकते हैं। किसी ऐसे जानवर को छुआ हो तो साबुन से अपने हाथ अच्छी तरह धो लेने चाहिए। बच्चों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

उन्हें साफ सफाई का महत्त्व बताना चाहिए। घर में पालतू जानवर को इस प्रकार की समस्या हो तो तुरंत इलाज करवा लेना चाहिए। तब तक

सुरक्षा के लिए हाथों में दस्ताने Gloves पहने जा सकते हैं।

 

यदि  Dad होने की सम्भावना लगे तो कपड़े गर्म पानी और एंटी फंगस साबुन से धो देने चाहिए।

 

दाद का उपचार – Ringworm Treatment

 

दाद होने पर खुजली चलती है। Dad ka upchar नहीं करने से यह फ़ैल जाता है जिसे ठीक होने में अधिक समय लग सकता है। अतः शुरू

में ही इसका उपचार कर लेना चाहिए।

 

दाद के लिए घरेलु उपचार , Gharelu upay करने से या एंटीफंगल क्रीम लगाने से आराम मिल जाता है। इन उपायों से दो सप्ताह बाद भी

आराम ना मिले या ज्यादा बढ़ जाये तो यह Dad नहीं कुछ और बीमारी हो सकती है। ऐसे में चिकित्सक को जरूर दिखा देना चाहिए। दाद का

उपाय Dad ka upay घरेलु नुस्खों से आसानी से हो सकता है जो इस प्रकार है –

 

दाद खाज के घरेलु उपचार – Home Remedies of Ringworm

 

—  गंधक , सुहागा , कपूर और मिश्री बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ पीस लें। कपड़े से छान लें। इसमें गुलाब का अर्क मिलाकर गोलियाँ बना

कर रख लें। गोली को पानी में चन्दन की तरह घिस कर लगायें। इस प्रयोग से दाद बिल्कुल ठीक हो जाता है।

 

—  गेंदे  ( Merry gold ) के पत्ते पीस कर दाद पर लगाने से Dad ठीक हो जाता है।

 

—  तुलसी के पत्ते पीस कर लगाने से दाद ठीक होते हैं।

 

—  कपूर और गंधक समान मात्रा में लेकर पीस ले। उसमे थोड़ा मिट्टी का तेल मिलाकर मलहम बना लें। यह मलहम लगाने से दाद मिट जाता

है।

 

—  अनार के पत्ते पीस कर लगाने से दाद में आराम मिलता है।

 

—  सुहागा भूनकर लोहे के बर्तन में बारीक़ पीस लें। इसमें थोड़ा सा घी मिलाकर मलहम बना लें। इसे दाद पर लगाने से दाद ठीक होता है।

 

—  पके केले को मसल लें इसमें नींबू का रस मिला कर दाद पर लगाने से दाद मिटता है।

 

—  नीम की पत्ती को दही के साथ पीस कर लगाने से दाद खाज में आराम आता है।

 

—  100 ग्राम नारियल के तेल में 20 ग्राम देसी कपूर मिला लें। इसे कुछ दिन रोजान दो तीन बार लगाने से skin पर होने वाले दाद खाज आदि

मिट जाते हैं।

 

—  सरसों का तेल 250 ग्राम में बकरी की मींगनी 50 ग्राम डालकर उबालें। अच्छे से उबलने के बाद ठंडा हो जाये तब मसलकर बारीक़ कपड़े

से छान लें। शीशी में भर लें। इस तेल की मालिश त्वचा पर करें। आधा घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें। इससे सभी प्रकार के दाद खाज खुजली

आदि ठीक होते हैं।

 

क्लिक करके इन्हे भी जानें और लाभ उठायें :

 

मलेरिया के लक्षण कारण और बचाव 

नाक बंद होने से परेशान हों तो क्या करें 

डायबिटीज के घरेलु नुस्खे 

सोयाबीन के फायदे और नुकसान

स्लिप डिस्क क्या होती है इससे कैसे बचें 

टाइफाइड के लक्षण इलाज और परहेज 

नीम के फायदे उपयोग और गुण 

काबुली चने से मिलने वाली ताकत को जानें 

स्किन को झुर्रियों से बचाने के लिए क्या खायें 

टॉन्सिल की परेशानी दूर करने के उपाय 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *