सरसों के पत्ते पोषक तत्व फायदे और नुकसान – Sarson leaf benefits

627

सरसों के पत्ते sarson ke patte की सब्जी यानि सरसों का साग और मक्के की रोटी पंजाब में तो चाव से खाई ही जाती है। सरसों का साग सिर्फ स्वादिष्ट ही नहीं होता बहुत पौष्टिक भी होता है। आइये जानें सरसों के पत्ते से फायदे।

सरसों के पत्तों में बहुत से पोषक तत्व होते हैं।  नवंबर से मार्च तक ये आसानी से मिल जाते हैं और तभी इनका स्वाद लाजवाब होता है । फूल आने से पहले सरसों के कच्चे पत्ते तोड़कर इसकी सब्जी बनाई जाती है।

सरसों के पत्ते

सरसों के पत्ते में पोषक तत्व – Mustard Leaf Nutrients

कृपया ध्यान दे : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लीक करके उसके बारे में विस्तार से जान सकते हैं। 

सरसों के पत्ते विटामिन और खनिज का भंडार होते है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन A , C और K होते हैं। यह  प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट , आयरन , मेग्नेशियम , कैल्शियम , ज़िंक , कॉपर , पोटेशियम , सेलेनियम , मेगनीज , फोलेट तथा फाइबर का यह अच्छा स्रोत है।

कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट जैसे फ्लेवोनोइड्स , सल्फोराफेन , केरोटीन , ल्यूटिन आदि इसमें पाए जाते हैं । इसके अतिरिक्त विटामिन B समूह के कई विटाइन जैसे फोलिक एसिड , पाइरोडोक्सिन , नियासिन , राइबो फ्लेविन , थायमिन आदि होते हैं।

इसमें कैलोरी और फैट नगण्य मात्रा में होते हैं। अतः सरसों के पत्ते का साग या सब्जी बहुत फायदेमंद है।

सरसों के पत्ते के फायदे – Mustard leaf benefits

—  पालक की तरह सरसों के पत्ते में भी कई प्रकार के फीटो न्यूट्रिएंट्स होते हैं  जो बहुत सी बीमारियों से बचाते हैं।

—  फाइबर की प्रचुर मात्रा के यह कोलेस्ट्रॉल कम करता है। इसके अलावा फाइबर कब्ज और बवासीर जैसी बीमारियों को दूर करते है।

—  इसमें विटामिन K प्रचुर मात्रा में होता है। यह हड्डियों की मजबूती , खून बहना बंद होना , तथा अल्जाइमर जैसी समस्याओं में लाभदायक होता है।

—  सरसों के पत्ते में प्रचुर मात्रा में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कई प्रकार के कैंसर को रोकने में सहायक होते हैं।

—  सरसों की ताजा पत्तियां विटामिन B कॉम्लेक्स समूह के कई विटामिन पाए जाते हैं जो शरीर के लिए बहुत जरुरी हैं।

—  यह विटामिन C का अच्छा स्रोत है। इसके कारण यह प्रतिरोधक क्षमता बढाकर सर्दी जुकाम तथा फ्लू जैसी परेशानी से बचाता है।

— सरसों के पत्तों से मिलने वाला विटामिन A आँखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। इसके अलावा यह त्वचा को स्वस्थ बनाये रखने में सहायक होता है।

—  इसमें पाए जाने वाले विभिन्न खनिज शरीर के लिए लाभदायक होते हैं।

—  सरसों का साग बनाने के लिए पत्तों को अच्छे से धो लेना चाहिए ताकि मिट्टी या कचरा आदि साफ हो जाए। मोटे डंठल काट कर हटा देने चाहिए।

सरसों के पत्ते के नुकसान – Be careful of mustard leaf

—  सरसों का साग सुबह का शाम और शाम का सुबह दुबारा गर्म करके नहीं खाना चाहिए। इसमें मौजूद नाइट्रेट बैक्टीरिया के कारण विषैले तत्व नाइट्रोसेमाइन में परिवर्तित हो सकता है। जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है।

—  यदि खून को पतला करने वाली दवा ले रहे हों तो सरसों के पत्ते का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योकि विटामिन K की मात्रा दवा के असर को कम कर सकती है।

—  इसमें ऑग्जेलिक एसिड होता है जो कुछ लोगों के लिए गुर्दे में पथरी का कारण बन सकता है। अतः यदि पथरी की समस्या हो तो सरसों के पत्ते का उपयोग सावधानी से या डाक्टर की सलाह लेने के बाद ही करना चाहिए।

— यदि थायराइड की समस्या हो तो सरसों के पत्ते का उपयोग नहीं करना चाहिए । इसमें पाए जाने वाले तत्व थायराइड हार्मोन का निर्माण में रूकावट बन सकते हैं। थायरॉइड के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

इन्हे भी जानें और लाभ उठायें  :

पालक / मशरूम / खीरा ककड़ी  /  फूल गोभी / करेला  /  प्याज  / अदरक  /  लहसुन / मिर्च / भिंडी तुरई /  मटर  / चुकन्दर  / गाजर / मूली  / लौकी  / आलू  नींबू  / टमाटर / पपीता / संतरा और किन्नू  / अमरुद /

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here