सब्जी के शानदार 24 टिप्स – 24 Very Useful Sabji Tips

8580

सब्जी टिप्स Sabzi Tips वो टिप्स है जिनके उपयोग से सब्जी में एक नया रुचिकर बदलाव आ सकता है। चपाती बनाते समय इतना ध्यान नहीं रखना पड़ता जितना सब्जी बनाते समय रखना पड़ता है।

सब्जी का स्वाद , रंग , पौष्टिकता आदि सबका ध्यान  रखना पड़ता है। सब्जी ताजा हो , कीड़े ना हो , ज्यादा बीज वाली ना हो ये सब भी देखना पड़ता है । कभी कभी सब्जी कड़वी निकलती है जैसे तुरई या लौकी उसे चखकर बनानी पड़ती है वरना पूरी संब्जी का स्वाद कड़वा हो जाता है।

सब्जी सूखी बनानी है या रस वाली ये भी डिसाइड करना पड़ता है । कभी कभी सब्जी पकने के बाद बहुत गल जाती है या कभी बहुत कच्ची रह जाती है । कुछ सब्जियों की तैयारी एक दिन पहले ही करनी पड़ती है जैसे चना राजमा आदि।

इतनी मेहनत करने के बाद भी कुछ ना कुछ कमी रह जाती है। किचन में गलतियां सभी से होती है लेकिन स्मार्ट वही होता है जो ऐसा कुछ रास्ता निकालें की सब वाह वाह करें। ऐसे ही कुछ तरीके नीचे बताये गए है। उन्हें काम में लें।

सब्जी टिप्स sabji Tips आपकी परेशानी कम करने में जरूर आपकी मदद कर सकते है। इन्हे काम में लेकर देखे  खुशी मिलेगी और आपका समय भी बचेगा । आप भी यदि कुछ ऐसे सब्जी टिप्स Sabzi tasty banane ke tips जानते हो और शेयर करना चाहते हो तो अवश्य शेयर करें।

सब्जी टिप्स – Sabji Tips

कृपया ध्यान दें : किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उस शब्द के बारे में विस्तार से जान सकते है। 

1 –  यदि दाल , ग्रेवी या रसे वाली सब्जी में नमक ज्यादा sabzi me namak jyada हो गया है तो उसमे आटे की छोटी छोटी गोलियां बना कर सब्जी में डाल दें। एक उबाल आने के बाद आटे की गोलियां निकाल दें। अब चखें नमक कम हो गया होगा।

अभी भी नमक ज्यादा लग रहा हो तो एक सादा ब्रेड डाल कर एक उबाल के बाद थोड़ा ठंडा होने पर ब्रेड निकाल दें।

2 –  रसेदार सब्जी में मिर्च अधिक Sabzi me mirch jyada हो गई है या मसालों के कारण सब्जी तीखी  Sabji tikhi  हो गई है तो देसी घी या बटर मिला दें। मलाई , दही या फ्रेश क्रीम भी मिला सकते है। इससे मिर्च कम हो जाएगी।

ग्रेवी वाली सब्जी में लाल मिर्च अधिक हो गई हो और घी या बटर मिलाना नहीं चाहें तो एक उबला आलू पीस कर सब्जी में मिला दें। मिर्च का तीखापन कम हो जायेगा। यदि सूखी सब्जी में मिर्च ज्यादा हो गई है तो बेसन को थोड़ा सेककर सब्जी में मिला दें। स्वाद भी बढ़ जायेगा और तीखापन भी कम हो जायेगा।

वैसे मिर्च फायदेमंद भी होती है। मिर्च के फायदे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

3 –  यदि ग्रेवी बनाते समय खट्टापन अधिक हो जाये khatai kam karni ho तो इसमें एक चम्मच चीनी मिला लें। इससे खट्टापन या खटाई कम हो जाती है।

4 –  यदि चने रात को भिगोना भूल गए हो और सब्जी बनानी हो। तो कुकर में चने के साथ कच्चे पपीता के टुकड़े डाल दें। चने आसानी से गल जायेंगे। बाद में पपीते को चम्मच से मसल कर चनो के साथ मिक्स कर दें। चने बहुत स्वादिष्ट बनेंगे।

kabuli chane

5 –  आलू , बैंगन आदि सब्जियाँ काटने से भूरे  ( brown ) रंग की हो जाती है। इन सब्जियों को काटकर तुरंत नमक के पानी में डाल देने से रंग भूरा नहीं होगा। सेब (apple ) को काटने पर भूरा होने से बचाने के लिए उस पर नींबू का रस लगा दें।

6 –  दही वाली सब्जियों में नमक उबाल आने के बाद डाले , दही फटेगा नहीं साथ ही मध्यम आँच पर हिलाते हुए पकाए।

7 –  बेसन की कढ़ी Besan ki kadhi बनाते समय बहुत धीमी आँच पर लगातार हिलाते हुए पकाएं।कढ़ी फटेगी नहीं , स्मूथ और एकसार रहेगी।

8 –  पनीर की सब्जी बनाने के लिए पनीर तलने के बाद उसे थोड़ी देर गरम पानी डालकर रखे फिर पानी से निकाल कर ग्रेवी में थोड़ी देर पकाए पनीर नरम रहेगा

9 – तुरई और लौकी को काटते समय चख लेना चाहिए । कभी कभी ये कड़वे स्वाद वाली होती है। जो कड़वी हो उसे काम में ना लें।

10 –  भिन्डी की सब्जी में लारें छूट जाती और सब्जी चिकनी हो जाती  है। इससे बचने के लिए नमक भिन्डी पकने के बाद डालें , साथ ही नींबू  का रस भी डाल दें। सब्जी चिकनी नहीं होगी लारें नहीं रहेंगी।

11 –  भरवाँ सब्जियां बनाते समय मसाले में थोड़ा सा भूनी मूँगफली का चूरा मिलाने से सब्जी स्वादिष्ट बनेगी।

12 –  बरसात के मौसम में अक्सर सब्जी में कीड़े होने की सम्भावना होती है। सब्जी को नमक मिलाये हुए गुनगुने पानी में कुछ देर रखने के बाद उपयोग में लें।

13 –  सब्जी को अच्छे से धोने के लिए और उन पर मौजूद हानिकारक तत्व हटाने के लिए सब्जी को थोड़ी देर सिरका मिले पानी में डुबोकर रखें।

14 –  सब्जी बनाने के लिए कटहल को काटने से उसका रस  kathal ka ras हाथों और चाकू पर चिपक जाता है जिसे निकालने में बहुत परेशानी होती है। इसके लिए पहले हाथों में और चाकू पर सरसों का तेल लगा लें फिर कटहल काटें , कटहल काटने में आसानी हो  जायेगी ।

15 –  ठण्डाई छानने  के बाद बचे हुए पेस्ट को सुखाकर भून लें। इसे किसी भी सब्जी में डालने पर सब्जी स्वादिष्ट  sabji tasty और पौष्टिक हो  जाएगी।

16 –  हरे रंग की सब्जी बनाते समय थोड़ी सी चीनी डाल देने से सब्जी का रंग निखर जाता है।

17 –  नीम्बू ज्यादा दिनों तक फ्रिज में ताजा रखने हो। तो नीम्बू को अच्छे से धोकर थोड़ा पोंछ लें। अब उन पर नारियल का तेल लगाकर पॉलीथिन में डालकर फ्रिज में रखे। लम्बे समय तक नींबू  ख़राब नहीं होंगे

18 –  बची हुई या सूखी हुई ब्रेड को मिक्सी में पीस लें। इसे थोड़े से घी में भून लें। इसे रसे वाली सब्जी में डालने पर सब्जी स्वादिष्ट लगेगी और रस गाढ़ा हो जायेगा।

19 –  सब्जी काटने से हाथों पर निशान हो गए हो तो नीम्बू का रस या दूध को हाथो पर रगड़ कर धो  लें , निशान मिट जायेंगे।

20 –  रायता बाद में खाना हो तो रायते में नमक सर्व करते समय ही डाले , पहले से नमक मिलाकर ना रखें।  इससे रायता खट्टा नहीं होगा।

21 –   करेले की कड़वाहट कम करने के लिए करेले छीलकर उन पर हल्दी व नमक लगा कर एक घंटे रखें फिर धो लें व पोंछ लें फिर सब्जी बनाएं । करेले में चीरा लगाकर चावल के धोवन में आधा घंटे भिगोने से भी करेले की कड़वाहट कम हो जाती है।

22 – बेसन के गट्टे की सब्जी बनाने के लिए मोटा बेसन लें। इससे गट्टे मुलायम बनते हैं।

23 – बैंगन की रसेदार सब्जी में पिसा हुआ धनिया ना डालें। सब्जी अधिक स्वादिष्ट लगेगी।

24 – लहसुन जल्दी छीलने के लिए लहसुन की कलियाँ अलग करके थोड़ी देर पानी में डाल दें। छिलके उड़ कर फैलेंगे भी नहीं।

इन्हें भी पढ़ें और लाभ उठायें  :

पत्नी को खुश रखने के आसान तरीके 

रद्दी पुराने अख़बार के शानदार 28 उपयोग

बिजली का बिल कम करने के आसान उपाय 

खटमल से बचने के आसान घरेलु उपाय 

डस्ट माइट ( घर में रहने वाले सूक्ष्म जीव ) और उनसे एलर्जी 

चश्मा बनवाने से पहले लेंस के बारे में अवश्य जान लें 

मशरूम खाने के फायदे और नुकसान 

म्युचुअल फंड SIP क्या होती है और कैसे शुरू करते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here